Home Motivation सफलता हर आदमी प्राप्त करना चाहता तो है, मगर क्यों नहीं मिलती...

सफलता हर आदमी प्राप्त करना चाहता तो है, मगर क्यों नहीं मिलती है सबको सफलता  

0
SHARE

 

 

 

 

 

 

 

सफलता हर आदमी प्राप्त करना चाहता तो है, मगर क्यों नहीं मिलती है सबको सफलता 

जीवन है तो कठिनाई है। अगर सोचा जाए कि जीवन में कठिनाई हो ही नहीं तो ऐसा हरगिज संभव नहीं है। कठिनाई जीवन की संगिनी है

 

सफलता(success)हर आदमी प्राप्त करना चाहता है। दुनिया में कोई ऐसा व्यक्ति नहीं है जो सफल होना नहीं चाहता ।दरअसल सफलता(success)की ललक आदमी जनम के बाद जैसे जैसे बड़ा होने लगता है वैसे वैसे बढ़ने लगती है। पर सफल(success)तो सभी होना चाहते हो किंतु मेहनत कोई नहीं करना चाहता । अब बात वहीं पर आकर अटक जाती है कि बिना मेहनत के सफलता मिलेगी तो कैसे मिले । बिना प्रयास के तो जानवर भी अपने मकसद में सफल नहीं होता तो इंसान भला कैसे होगा? क्या भगवान ने इसीलिए मनुष्य को देखने, बोलने ,सुनने व करने की शक्ति दी है । अगर यह सब भगवान ने आपको दी है तो सफलता(success)अवश्य ही आपको अपनी मेहनत से प्राप्त करना होगा। इसलिए अगर आप सफल होने की ख्वाहिश रखते हैं तो मेहनत करने का जज्बा भी रखिए । फिर देखिए दुनिया का कोई भी ताकत नहीं रोक पाएगा आपको सफल होने से । आप दिन दोगुनी रात चौगुनी सफल होते रहेंगे ।

 

सफलता हर आदमी प्राप्त करना चाहता तो है, मगर क्यों नहीं मिलती है सबको सफलता  (success)

 

अब सफलता(success)की इस लड़ाई में हार की बात करें तो यह आदमी की अपनी कमियों के कारण होती है । आप जब भी किसी कार्य को करते हैं तो तन मन से कीजिए तथा अपना शत प्रतिशत योगदान दीजिए ।  अपना शत प्रतिशत योगदान ना देने के कारण ही आदमी सफल नहीं हो पाता और बाद में हार कर बैठ जाता है।  तब आदमी इतना निराश हो जाता है कि वह स्वयं को दोष ना देकर  किस्मत को दोषी ठहराने लगता है ।

 

 

सफलता हर आदमी प्राप्त करना चाहता तो है, मगर क्यों नहीं मिलती है सबको सफलता  (success)

 

भारत में रोजाना बढ़ती ही जा रही है रेप की घटनाएं आए दिन हो रहे हैं बच्चियों से बलात्कार नहीं हो रहा है सरकार के प्रयासों का असर

 

 

किंतु वास्तविकता में उसके हार का कारण उसका किस्मत नहीं बल्कि उसका आलस होता है ।तो आलस को त्याग दीजिए। दृढ़ संकल्प के साथ आप किसी भी क्षेत्र में उतरना चाहते हैं  उतरें। प्रारंभिक क्षणों में कुछ अड़चने आएंगी फिर सब ठीक हो जाएगा । और धीरे-धीरे आप बुलंदियों को छूने लगेंगे ।बाकी आगे का रास्ता आपका हौसला अपने आप ही दिखाता चला जाएगा और आप आगे बढ़ते जाएंगे ।ध्यान रहे किसी भी सफल(success)व महान व्यक्ति के पीछे उसके किस्मत का हाथ नहीं बल्कि उसके मेहनत व उसके दिमाग का जादू होता है।

आसाम के बारे में अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर विजिट करें- https://allaboutassam.in

अधिक बोलना किसी भी परिस्थिति में सही नहीं माना जा सकता । अधिक सोचना चाहिए, अधिक करना चाहिए, पर अधिक कभी नहीं बोलना चाहिए।

 

सोचिए दोस्ती कितना पवित्र शब्द है। दोस्ती और लगाव की पवित्रता कितनी भी गंदगी में क्यों ना हो पर कभी मलीन नहीं होती

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here