Home health and beauty tips आसान है कानों की समस्या का इलाज,  प्रतिदिन करेंगे तो नहीं होगी...

आसान है कानों की समस्या का इलाज,  प्रतिदिन करेंगे तो नहीं होगी कोई समस्या

0
SHARE
आसान है कानों की समस्या का इलाज,  प्रतिदिन करेंगे तो नहीं होगी कोई समस्या
इस आधुनिक युग में प्रदूषण लगातार इतना बढ़ रहा है कि यह  भस्मासुर की तरह सब बर्बाद करने पर उतारू है। ध्वनि प्रदूषण में भी अन्य प्रदूषणों की तरह का असमान रूप से वृद्धि हुआ है । शोर के कारण हमारे कानों की सेहत बुरी तरह से प्रभावित हो रही है । आए दिन कानों से जुड़ी समस्याओं वाले लोगों की तादाद में वृद्धि हो रही है।  कान में दर्द, कम सुनाई देना इत्यादि ऐसी कई बीमारियां हैं जिनके कारण बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है।  अपने कानों का ठीक तरह से सफाई न करने से , ईयर फोन का साउंड बहुत ऊंचा करके सुनने से, अधिक शोर वाली जगह पर काम धंधा करने से तथा कानों में मैल जम जाने से कानों की सुनने की क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ता है । इससे बहरा बनने  की भी संभावना रहती है। यदि आप भी इन सब चीजों से अपने कानों की हिफाजत करना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है।
आसान है कानों की समस्या का इलाज,  प्रतिदिन करेंगे तो नहीं होगी कोई समस्या
दोस्तों इसका  सही समाधान योगा है। योगा करने से कानों से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।  योग विज्ञान में कई ऐसे विधि मौजूद है जिनसे कानों की सेहत को बेहतरीन बनाया जा सकता है । तो चलिए हम आज आपको कुछ ऐसे योग आसन के बारे में बताते हैं जिनका प्रयोग करके आप  बहरेपन से छुटकारा पा सकते हैं।
आसान है कानों की समस्या का इलाज,  प्रतिदिन करेंगे तो नहीं होगी कोई समस्या
  भुजांगासन——
  इस विधि को अपनाते समय पेट के बल लेट जाएं। दोनों पैरों को सीधा रखते हुए आपस में मिलाएं ।जमीन   के नीचे हथेली को जमा कर गर्दन पेट व नाभि तक पेट ऊपर उठाएं । 10 से 15 बार सांस लें और फिर जमीन के बल आराम करें । इसे कम से कम 3 बार तक दोहराए तो फायदा मिलेगा ।
 शवासन ——
 शवासन योग को करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं । उसके बाद अपने पूरे शरीर को ढीला छोड़ दें और आंखें बंद करके सांस को सामान्य रूप से चलने दें । दरअसल इस आसन में शव की तरह की स्थिति हो जाती है । इसलिए इस योगासन को शवासन कहा जाता है।  आसन करने में सरल तो है ही मगर साथ साथ ही इसके फायदे भी बहुत अधिक है ।
 शशकासन—–
  शशकासन हमारे कानों के लिए बेहद लाभप्रद आसान है । इसे करने के लिए सबसे पहले अपने घुटनों को मोड़कर जमीन पर ठीक वैसे ही बैठ जाएं जिस प्रकार नमाज पढ़ने के लिए बैठा जाता है । फिर सामने की ओर झुके और दाढ़ी को जमीन से टिकाएं , हाथों को सामने खींच कर रखें, उसके बाद 10 से 15 सांस खींचे और पुनः सामान्य स्थिति में लौट आएं ।
 ब्रह्म मुद्रा——-
  इस योगाआसन को करने के लिए कमर को सीधा करके बैठ जाइए।  अपनी गर्दन को कम से कम 10 बार ऊपर नीचे और दाएं-बाएं 10 बार चलाएं। इसके पश्चात धीरे-धीरे अपनी गर्दन को गोल गोल क्लॉक वाइज चलाएं । यह ध्यान रखें कि  इस क्रिया को करते समय आपकी आंखें खुली होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here