हम जिन काले धब्बे वाले केले ( banana)को खराब समझकर फेंक देते हैं, दरअसल वह बहुत ही फायदेमंद होते हैं 

0
119
 ईश्वर ने संसार को असंख्य  स्वादिष्ट और फायदेमंद फलों का उपहार दिया है । इस संसार में बहुत सारे प्रकार के फल पाए जाते हैं। इनमें से कुछ ही ऐसे फल होते हैं जिनका नाम हमें ज्ञात होता है । बहुत सारे फल तो ऐसे भी बाकी रह गए होंगे जिसे  शायद हम सब न देख पाए हो और ना ही खा पाये हों । वैसे जब भी हम फलों का नाम सुनते हैं तो हमारे जुबान पर सेब, संतरा ,केला  ( banana),अंगूर ,अमरूद इत्यादि का नाम ही सबसे पहले सामने आता है। परंतु कुछ फल इतने महंगे होते हैं कि उन्हें खरीद पाना हमारे बस में नहीं होता । किंतु फिर भी हम स्वाद और फायदों को ध्यान में रखकर समय-समय पर मंहगे फलों को भी खरीदते ही रहते हैं । लेकिन कुछ दिनों तक रखे रहने के बाद यह फल खराब होना शुरू हो जाते हैं।  दोस्तों परंतु इस सब फलों में से एक ऐसा भी फल है जो बहुत अधिक दिनों तक रखने पर भी खराब नहीं होता । अक्सर ही हम सब इस फल का सेवन करते ही रहते हैं ।
 दरअसल हम बात कर रहे हैं केले ( banana) की।  जिसका सेवन हम आये दिन करते ही रहते हैं । पर अधिक मात्रा में भी करते हैं । केला  खाने के साथ साथ केले  के पेड़ की हमारे भारतीय संस्कृति में पूजा भी की जाती है । पर आपको यह जानकर हैरानी होगी कि केला एक ऐसा फल है जो बहुत दिनों तक खराब नहीं होता।  तथा यह एक ऐसा फल भी माना गया है जो हमारे शरीर को शीघ्रता से उर्जा प्रदान करता है ।बहुत से लोग ऐसे हैं जो केले के ज्यादा पक जाने पर उसे खराब समझकर फेंक देते हैं ।  परंतु जब ऐसे लोगों को अधिक पके हुए काले धब्बे वाले केले ( banana) के बारे में पता चलेगा कि यह केले जबरदस्त फायदा पहुंचाने वाले होते हैं तो भूलकर भी केले नहीं फेकेंगे । तो आइए जानते हैं ज्यादा पके हुए काले धब्बे वाले केले के बारे में, जिनके फायदों के बारे में जानकर आप भी इसे खराब समझने की भूल नहीं करेंगे।
  बहुत ज्यादा पके हुए केले खाने के फायदे
यह  फल एक ऐसा फल है जो हर मौसम में साल के 365 दिन मिलता है । इसके साथ साथ यह  इतना सस्ता होता है कि इससे हम सभी खरीद सकते हैं।  एक शोध से पता चला है कि केले का रेगुलर सेवन करने से हमारे शरीर में उत्पन्न होने वाली कई बीमारियों से मुक्ति मिल जाती है । केला ( banana) हमारे शरीर के लिए इतना फायदेमंद होता है कि यदि नियमित एक केले का सेवन किया जाए तो हमारा तन और मन दोनों ही पूरी तरह से स्वस्थ रहेगा।
  केले ( banana) में फाइबर और शुगर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है । इसके साथ-साथ केले में विटामिन A और B भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होता है । केले में पानी की मात्रा 65.3 और प्रोटीन की मात्रा 1.3 होती है । जिससे हमारे शरीर को तुरंत ऊर्जा मिलती है ।
 जब हम एक अच्छी बॉडी की ख्वाहिश लेकर जिम जाते हैं तो जिम का ट्रेनर हमें अच्छी बॉडी के लिए सबसे पहले केले का सेवन करने की सलाह देता है । महिलाओं के गर्भवती होने पर भी केले (banana) का सेवन करना आवश्यक बताया गया है। इसका कारण यह है कि गर्व काल में महिलाओं को सबसे अधिक विटामिन और मिनरल की आवश्यकता होती है जिसे केले का सेवन करके प्राप्त किया जा सकता है।  दोस्तों यही कारण है कि गर्भवती महिलाओं को अपने आहार में केले को सम्मिलित करने की सलाह दी जाती है।
  कैंसर से मुक्ति दिलाता है केला
 कुछ वैज्ञानिकों के अनुसार फलों का नियमित रूप से सेवन करने से शरीर की बहुत सारी आवश्यकताएं पूरी हो जाती है। इसमें आश्चर्यचकित करने वाली बात यह है कि जब केला अधिक पक जाता है तो उसके सेवन से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी भी कोसों दूर रहता है ।जो लोग शुगर की समस्या से परेशान हैं उनके लिए भी केला बहुत फायदेमंद है। क्योंकि केला ( banana) के ज्यादे पक जाने के बाद उसके गुणों में 8% तक की वृद्धि हो जाती है । हालांकि दुर्भाग्यवश ऐसे केले को लोग खराब समझकर फेंक देते हैं।
Previous articleअपने बच्चो के (child )के लिए इस प्रकार बनाएं दिनचर्या का समय सारणी
Next articleआप भी जानिए हिंदू धर्म में क्यों किया जाता है अंतिम संस्कार
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here