Home health and beauty tips अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आपके फेफड़ों मे...

अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आपके फेफड़ों मे हो गई है समस्या 

0
SHARE
फेफड़ों
फेफड़ों के द्वारा हमारे रक्त कोशिकाओं तक ऑक्सीजन भेजा जाता है। अतः इसको लेकर किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करनी चाहिए। हमारे फेफड़ों में कोई समस्या या किसी प्रकार की चूक  होने की अवस्था में श्वसन तंत्र को हानि हो सकती हैं तथा अस्थमा या ट्यूबरकुलोसिस की बीमारी होने का खतरा हो सकता है।
  लिवर किडनी तथा हार्ट से जुड़ी बीमारियों के कारणों के बारे में तो आदमी को संकेत मिल ही जाता है। परंतु क्या आपको भी इन संकेतों के बारे में पता है। यदि आप इन के लक्षणों के बारे में नहीं जानते तो आज हम आपको इन्हीं के बारे में बताने जा रहे हैं। यदि आप अपने शरीर के गतिविधियों पर बारीकी से ध्यान देने लगे तो आपके लिए इस लक्षणों को पहचान पाना कोई कठिन कार्य नहीं है। तो चलिए शुरू करते हैं।
  जब अधिक मात्रा में कफ बनता है——-
  यदि आपको खांसी की शिकायत है तथा इस दौरान आपको बहुत अधिक मात्रा में कफ बनता है तो इसे नजरअंदाज करने की भूल ना करें। ऐसा करने पर आप फेफड़ों की गंभीर समस्या को नजर अंदाज कर रहे हैं। अगर लगातार तीन महीनों से आपको कफ बन रहा है तो यह  इस बात की ओर इशारा करता है कि आपको क्रोनिक ब्रोंकाइटिस हो गई है। यदि ऐसा होने के कारण  सलाइवा का रंग बदल गया है तथा सांसे भी छोटी हो गई है तो आप को फौरन डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए ।
अजीब सी आवाज का सुनाई देना——-
  यदि आपको अपनी फेफड़ों में अजीब सी आवाज सुनाई देती है तो समझ ले कि आपको फेफड़ों का इंफेक्शन हो गया है। इससे इस बात का पता चलता है कि आपके फेफड़ों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो पा रही है तथा गंदगी व बैक्टीरिया की वजह से आर्टियल ब्लॉक हो रहा है।
  लगातार खांसी आना ——–
 फेफड़ों की समस्या का सबसे महत्वपूर्ण संकेत खांसी का पुराना होना है । हालांकि खांसी गले में खराश ठंड या बुखार होने पर अक्सर आती है, परंतु यदि खासी आपको लगातार 8 सप्ताह से अधिक समय तक आती है तो समस्या है। इसका परिणाम अस्थमा, निमोनिया, ब्रोंकाइटिस या ट्यूबरकुलोसिस भी हो सकता है । अतः डॉक्टर से संपर्क कर बेहतर इलाज करें।
  सांस लेने में तकलीफ———
  अगर आप रोजमर्रा का कार्य करने में, बाहर घूमने में, सीढ़ियों पर चढ़ने में तथा शारीरिक परिश्रम करने में तकलीफ महसूस करते हैं तो यह आपके फेफड़ों में परेशानी होने की ओर इशारा करता है। यदि बिस्तर पर लेटे रहने के दौरान भी आपको सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो यह संकेत आपके फेफड़ों में गंभीर समस्या की ओर इशारा करता है। ऐसे गंभीर मामलों में ब्रोंकाइटिस, अस्थमा या हृदय रोग के जैसे सांसो से संबंधित बीमारी होने की आशंका होती है।
  सीने में दर्द का होना ——–
हालांकि अधिकतर मामलों में सीने में होने वाला दर्द हृदय की समस्या का संकेत होता है। परंतु सीने का दर्द कई मर्तबा फेफड़ों की समस्या का भी संकेत होता है। यदि आपको खाने में, सांस लेने में , अथवा छींकने में दर्द महसूस होता है तो आपके फेफड़ों में संक्रमण या वायरस से संक्रमण हो सकता है।यह  रक्त के थक्के की उपस्थिति का भी संकेत देता है जो आपके फेफड़ों में रक्त के संचार को बाधित कर रहा होता है। हालांकि ऐसी स्थिति काफी दुर्लभ मामलों में ही देखने को मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here