अगर फड़कने लगे आपके ये अंग तो जानिए क्या होते हैं इसके मायने ?

1
374
अगर फड़कने लगे आपके ये अंग
अगर फड़कने लगे आपके ये अंग तो जानिए क्या होते हैं इसके मायने ?
 जब हमारे अंग अचानक फड़कने लगते हैं तो हम सोच विचार में पड़ जाते हैं। तत्पश्चात हम इसके फड़कने के पीछे के वजह ढूंढने लगते हैं। अंगों के फड़कने के बारे में हमारे शास्त्रों में बताया गया है। शास्त्रों के माध्यम से ही पता चलता है कि हमारे किन अंगों के फड़कने का क्या अर्थ होता है ?
अगर फड़कने लगे आपके ये अंग
शास्त्रों के अनुसार जब हमारे अंग फड़कते हैं तो वह यह संकेत देते हैं कि निकट भविष्य में हमारे साथ क्या घटना घटने वाली है? ऐसे में शरीर के कुछ अंगों का फड़कना बेहद शुभ होता है तो वहीं कुछ अंगों का फड़कना बेहद अशुभ माना जाता है। तो चलिए आज हम जानते हैं कुछ ऐसे अंगों के फड़कने के बारे में जिसे शायद आप नहीं जानते होंगे ।
अगर फड़कने लगे आपके ये अंग ——-
 गर्दन का फड़कना——-
 अगर आपका गर्दन अचानक फड़कने लगे तो समझ लीजिए कि आपके जीवन में संपन्नता व खुशहाली का आगमन होने वाला है। अगर आपका विवाह अभी नहीं हुआ है तो इसका अर्थ है कि आपके विवाह का योग बन रहा है।
  बाया कंधे का फड़कना———-
  यदि बाया कंधा फड़कने लगे तो इसका अर्थ है कि जल्द ही आपकी कोई मनोकामना पूर्ण होने वाली है।
  दाहिने कंधे का फड़कना———-
  यदि दाहिना कंधा फड़कता है तो इसका मतलब है कि शीघ्र ही अधिकार की प्राप्ति होगी। साथ-साथ यह संकेत साहस मैं भी वृद्धि होने का है।
  दोनों कंधों का फड़कना———
  यदि एक साथ दोनों कंधे फड़क रहे हैं तो इसका मतलब है आपका किसी के साथ झगड़ा होने वाला है।

1 COMMENT

Comments are closed.