इन लक्षणों से पता चलता है कि शरीर में हो गई है प्रोटीन की कमी

0
170
 हो गई है प्रोटीन की कमी
इन लक्षणों से पता चलता है कि शरीर में हो गई है प्रोटीन की कमी
 जब हमारे शरीर में प्रोटीन की मात्रा कम हो जाती है तो इस से पड़ने वाले दुष्प्रभाव के संकेत मिलने लगते हैं । हमारे शरीर में प्रोटीन की मात्रा आवश्यकता से कम पाया जाना कई प्रकार की बीमारियों को आमंत्रित करता है। जब हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है तो एंटीबॉडीज का निर्माण नहीं हो पाता जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है। इसके अलावा पाचन एंजाइम की कमी हो जाने के कारण पाचन क्रिया भी प्रभावित होती है। बार बार भूख लगना बालों का पतला हो जाना तथा नाखूनों का कमजोर हो जाने जैसे कई लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इन लक्षणों को पहचान कर शरीर में प्रोटीन की कमी के बारे में जाना जा सकता है ।दोस्तों आज हम आपको  शरीर में प्रोटीन की कमी के लक्षणों के बारे में ही बताएंगे। तो चलिए जानते हैं वह कौन-कौन से लक्षण है जो प्रोटीन के कमी की वजह से दिखते हैं।
इन लक्षणों से पता चलता है कि शरीर में हो गई है प्रोटीन की कमी
  जल्दी-जल्दी बीमार पड़ जाना———
  जब हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है तो इसके साथ ही सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या में भी कमी हो जाती है। यह सफेद रक्त कोशिकाएं रोगाणुओं की आक्रमण से हमारे शरीर की हिफाजत करती हैं ।वपरंतु जब हमारे शरीर में कोशिकाओं की संख्या में कमी आ जाती है तो हमारा शरीर जल्दी-जल्दी बीमार पड़ने लगता है ।
 नींद ना आना——–
  प्रोटीन के कमी का ही एक लक्षण होता है । रात के समय नींद का टूट जाना भी प्रोटीन की कमी का लक्षण हो सकता है । क्योंकि हमारा शरीर शुगर तथा कार्बोहाइड्रेट की मांग करता है जिसकी वजह से हमारा मस्तिष्क आराम नहीं कर पाता तथा हमारी नींद टूट जाती है।
  जोड़ो तथा मांस पेशियों में दर्द होना ——-
मांस पेशियों का पुनर्निर्माण करने तथा जोड़ों को लचीला बनाने वाले फ्लूइड का निर्माण प्रोटीन से ही होता है। अतः शरीर में प्रोटीन की कमी के कारण इस फ्लूइड का निर्माण होना कम हो जाता है । जिसके परिणाम में जोड़ों तथा मांसपेशियों में दर्द रहने लगता है।
  थकान तथा मूड स्विंग की समस्या ——
 जब हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है तो ऊर्जा का स्तर भी कम हो जाता है तथा ब्लड शुगर में भी कमी आ जाती है। जिसकी वजह से मूड स्विंग होने लगता है। किसी भी कार्य में व्यक्ति का मन नहीं लगता तथा शारीरिक व मानसिक तनाव बना रहता है। ऐसी स्थिति में एकाग्रता को बनाए रखने में कठिनाई उत्पन्न होने लगती है।
 वजन का बढ़ना —–
वैसे तो हमारे शरीर का वजन बढ़ने के बहुत से कारण होते हैं । परंतु इनमें से एक कारण शरीर में प्रोटीन की कमी भी हो सकता है। दरअसल प्रोटीन चयापचय को बढ़ाता है। जिसके कारण वजन में कमी आती है। परंतु यदि वजन बढ़ रहा है तो इसका तात्पर्य यह है कि कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा तथा प्रोटीन की कम मात्रा में सेवन किया जा रहा है।
  जंक फूड का सेवन अधिक करना ——
 यदि आपकी इच्छा चॉकलेट, कोल्ड ड्रिंक्स तथा जंक फूड खाने की बार बार होती है तो इसकी वजह प्रोटीन की कमी हो सकती है। क्योंकि हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाने पर हमारी इच्छा ऐसी अनहेल्दी खानों की तरफ अधिक होती है जो शुगर से भरपूर होती है।
इन लक्षणों से पता चलता है कि शरीर में हो गई है प्रोटीन की कमी
  आशा करते हैं कि आपको यह ज्ञात हो चुका होगा कि हमारे शरीर के लिए प्रोटीन का क्या महत्व होता है। बात पाचन की हो या फिट रहने की, अच्छी नींद की हो या दिमाग की क्षमता की, इन सभी के लिए प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा का सेवन करना आवश्यक है। इसलिए आप अपने आहार में पर्याप्त प्रोटीन की मात्रा को अवश्य सम्मिलित कीजिए।
इन लक्षणों से पता चलता है कि शरीर में हो गई है प्रोटीन की कमी
 यदि आपके शरीर में इस लेख में दिए गए किसी भी लक्षण के संकेत मिलते हैं तो आप तुरंत प्रोटीन की कमी को दूर भगाने में जुट जाइए तथा अपने शरीर को तंदुरुस्त बनाइए।