Home health and beauty tips  कम सोने की आदत और अधिक टेंशन लेने से होती है बार-बार...

 कम सोने की आदत और अधिक टेंशन लेने से होती है बार-बार भूलने की आदत ऐसे पाएं निजात 

0
SHARE
बार-बार भूलने की आदत
 बहुत से लोगों की याददाश्त कमजोर होती है। ऐसे लोग या तो अधिक समय तक कुछ याद नहीं रख पाते अथवा बार-बार भूल जाते हैं। वैसे बार-बार भूलने की आदत को एक समस्या के रूप में देखा जाता है। बार-बार भूलने की आदत (शॉर्ट टाइम मेमोरी लॉस) की समस्या किसी भी व्यक्ति को किसी भी उम्र में हो सकती है। इस समस्या के कई वजह होते हैं। अधिक उम्र के लोगों यानी कि बुजुर्गों में यह  समस्या डिमेंशिया तथा अल्जाइमर की वजह से होता है और कम उम्र के लोगों में यह समस्या अधिक चिंता व अवसाद के कारण होती है। अतः समय से इस पर ध्यान देकर उचित उपचार करा लेना ही बेहतर होता है। हमारे शरीर में ब्लड ग्लूकोज के स्तर में कमी का होना भी इसका वजह बन सकता है। ऐसे में कुछ छोटी मोटी कोशिशें कर के व  हेल्दी डाइट लेकर इस परेशानी से पूर्णता छुटकारा पाया जा सकता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ उपाय बताएंगे  जिसे अपनाकर आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं। तो चलिए जानते है।
  पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें———–
  दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करना बहुत ही आवश्यक होता है। आपका दिमाग स्वस्थ रहेगा तभी आपकी याददाश्त भी अच्छी रहेगी। अतः इसके लिए रोजाना अपने आहार में हरी सब्जियां व अधिक से अधिक साबुत अनाज को सम्मिलित करें। अगर आप शराब का सेवन करते हैं तो बंद कर दें। क्योंकि यह  मेमोरी लाश के साथ-साथ कन्फ्यूजन भी उत्पन्न करता है।
 नींद पर्याप्त मात्रा में अवश्य लें ———–
 याददाश्त को बेहतरीन बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में सोना बेहद आवश्यक होता है। जब हम सो रहे होते हैं तभी हमारी ज्यादातर याददाश्त को लंबे समय तक सुरक्षित रखे जाने की प्रक्रिया हमारे मस्तिष्क में होती है। इस परिस्थिति में जो लोग टीनएज में है उन्हें आठ से 10 घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए। वहीं जो लोग वयस्क हैं उन्हें कम से कम 7 से 9 घंटे की नींद लेनी चाहिए। बुजुर्गों के लिए 7 से 8 घंटे की नींद जरूरी है।
  व्यायाम करें ———-
 व्यायाम करने तथा अपने शरीर को निरंतर सक्रिय रखने से हमारे शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर बना रहता है। हमारे दिमाग में रक्त का संचार बढ़ता है तो ऑक्सीजन की पूर्ति भी पर्याप्त मात्रा में हो जाती है। जिसके कारण याददाश्त तेज होने की संभावना बढ़ जाती है। सुबह उठकर ताजी हवा में टहलना भी यादाश्त को बढ़ाने के लिए बेहद बेहतर विकल्प होता है । अगर आप अपने दिनचर्या में अधिक सक्रिय नहीं रहते और मेहनत का काम नहीं करते तो आपको रोजाना सुबह शाम आधे घंटे एक्सरसाइज अवश्य करना चाहिए।
  शुरू करें ध्यान करना———
  आपकी याददाश्त को स्वस्थ रखने के लिए ध्यान (मेडिटेशन) बहुत ही बेहतरीन विकल्प हो सकता  शोधों में भी इस बात का प्रमाण मिला है कि ध्यान करने से चिंता तनाव व नींद ना आने की समस्या दूर हो जाती है। वही ध्यान करने से याददाश्त में वृद्धि होती है और एकाग्रता भी बढ़ती है तथा बार-बार भूलने की आदत या परेशानी दूर भागती है। तो देर किस बात की है आज ही से शुरू करें ध्यान करना।
 रोजाना पिस्ता खाएं————
  आदमी के भीतर मेमोरी लाश की समस्या शरीर में थायमिन की कमी के कारण भी हो सकती है। अतः ऐसे में पिस्ता थायमिन की कमी को पूरा करने के लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। इसलिए आपको पिस्ता खाना शुरू कर देना चाहिए।
  मानसिक तौर पर हमेशा सक्रिय रहे ———-
जिस प्रकार से हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए शारीरिक सक्रियता की आवश्यकता पड़ती है। ठीक उसी प्रकार मानसिक तौर पर स्वस्थ रहने के लिए दिमागी सक्रियता की आवश्यकता होती है। अतः दिमागी तौर पर हमेशा एक्टिव रहना सीखिए। इसके लिए खाली समय में किसी म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट को बजाना सीखे अथवा प्ले ब्रिज, पुज्जल और सुडोकू जैसे खेल में समय बिताएं। इससे आपको काफी मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here