Home health and beauty tips बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए आइए...

बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए आइए जानते हैं इसके बारे में 

0
SHARE

बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए

बैंगन की सब्जी
बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए
बैंगन की सब्जी बहुत लोगों को पसंद आता है तो बहुत लोगों को पसंद नहीं आता। जो लोग बैगन खाना पसंद करते हैं वह लोग तो बड़े ही चाव से बैंगन की सब्जी खाते हैं, परंतु जो लोग नहीं पसंद करते वह लोग बैगन को देखते ही नाक भौंहें  सिकुड़ाने लगते हैं। बैगन को खाने और ना खाने को लेकर भी लोगों का विचार अलग अलग होता है। हालांकि बैगन की प्रकृति गर्म होती है जिसे खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है तथा इसमें हमारे शरीर के लिए कई लाभदायक विटामिंस और तत्व भी पाए जाते हैं।

बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए

 बैंगन की सब्जी को फायदेमंद बनाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है। अगर इन बातों को ध्यान में रखकर सब्जी बनाया जाए तो बैंगन की सब्जी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ लाभदायक भी बन जाती है। इसके लिए बैंगन की सब्जी बनाएं तो उसके ऊपर का तना यानी कि बैंगन की ढेंप को ना फेंके। इसके अलावा बैंगन की सब्जी में तेल की मात्रा थोड़ी अधिक होनी चाहिए तथा इसके अलावा इसके सब्जी में हींग का प्रयोग अवश्य करें। यदि आप बैंगन की सब्जी बनाते समय इन बातों का ख्याल रखेंगे तो निश्चित ही बैंगन की सब्जी आपके लिए लाभप्रद होगी और स्वादिष्ट भी होगी।
 बैंगन की सब्जी गर्म होती है अतः बैंगन की सब्जी का सेवन ठंड में ही करनी चाहिए। बैगन खाने का समय दीपावली से होली तक का बेहतर होता है। इस समय बैंगन खाने से लाभ मिलता है।

बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए

  अनिद्रा से परेशान लोगों को बैंगन का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा दिमाग  की समस्या अथवा बीमारियों से जूझ रहे लोगों को भी बैगन के सेवन से बचना चाहिए। मानसिक तनाव या उन्माद की समस्या में यह नुकसान करता है।
बैंगन की सब्जी
  जो लोग बुखार से पीड़ित हों उन्हें बैंगन के सेवन से बचना चाहिए। बुखार ठीक होने के बाद भले ही बैंगन का सेवन कर ले।
 इसके साथ-साथ वह भी बैगन का सेवन कभी ना करें जिनको बाबासीर की समस्या हो।
 यदि त्वचा से संबंधित प्रॉब्लम है अथवा एलर्जी की समस्या है तो बैंगन के सेवन से बचना चाहिए। इन परिस्थितियों में बैगन नुकसानदेह होता है।
 गर्भ काल में महिलाओं को बैंगन खाने से बचना चाहिए।
 पेट में गैस की समस्या आने पर बैगन बिल्कुल नहीं खाएं।
  बाजार में बैंगन की बहुत सारी किस्में देखने को मिलती है। जैसे सफेद, नीले, काले, लंबे, गोल इत्यादि। इनमे से काले तथा गोल बैंगन जो बीज रहित होते हैं वह अधिक गुणकारी होते हैं। वही जिस बैगन में बीज अधिक हो उन्हें नहीं खाना चाहिए। इससे पित्त बढ़ता है। वही जो बैगन छोटे-छोटे कोमल तथा बीज रहित होते हैं उनसे कफ और पित्त दूर होता है। बैगन में हमारे शरीर के लिए जरूरी कई तरह के विटामिन और पोषक तत्व पाय जाते हैं।

बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए

इसमें विटामिन A, B, C, आयरन, प्रोटीन, वसा और कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अगर लीवर अथवा तिल्ली बढ़ जाए तो कोमल बैगन को आग में भूनकर पुराने गुड़ को मिलाकर खाना चाहिए। इसे सुबह खाली पेट खाना चाहिए। यह लगातार खाने से इसका फायदा है  आपको दिखाई देगा। बैंगन की सब्जी खाने से पेशाब अधिक आता है। बैंगन की सब्जी खाने से किडनी तथा मूत्राशय में बनने वाली पथरी गलकर पेशाब के रास्ते बाहर आ जाती है। भूख ना लगने की समस्या में बैंगन और टमाटर की सूप बनाकर 3 सप्ताह तक सेवन करें। आपको भूख लगने लगेगी।
बैंगन की सब्जी क्यों खाना चाहिए तथा क्यों नहीं खाना चाहिए
  नींद ना आने की समस्या में बैंगन का छिलका उतार लें तथा गूदे में शहद मिलाकर शाम को सेवन करें। अनवरत 3 सप्ताह तक इसके सेवन से नींद गहरी तथा अच्छी आने लगेगी।
 बैंगन खाने से रक्तचाप सामान्य स्तर पर बना रहता है।
  जो लोग खांसी से बहुत अधिक परेशान रहते हैं उनको बैगन को पानी में उबालकर सूप बनाना चाहिए तथा उसमें हल्दी और मिश्री मिलाकर पीना चाहिए। ऐसा करने से जल्द आराम मिल जाएगा।
  कब्ज की समस्या में बैंगन और पालक की सूप में सेंधा नमक मिलाकर पीना चाहिए इससे लाभ मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here