यदि आपके घर के सामने रो रहा है कुत्ता तो आने वाली है विपत्ति, जानिए क्या क्या होता है अपशकुन 

0
284

 

 
कुत्तों के बहुत से लोग बड़े शौकीन होते हैं। आपने अक्सर देखा होगा लोगों के घरों में पालतू कुत्तों को। बहुत से लोग अपने घरों में कुत्ते रखते हैं तो वहीं बहुत से लोगों के घरों के बाहर कुत्ते रहते हैं। कुत्ते वफादार होते हैं तथा जिसके भी घर में होते हैं उनके घर की रखवाली भी करते हैं। परंतु जब हमें कुत्तों के रोने की आवाज सुनाई देती है तो उसे अपशकुन माना जाता है। घर के बड़े बुजुर्गों का कहना होता है कि कुत्तों का रोना अशुभ संकेत होता है। कुत्ते तभी रोते हैं जब कोई अशुभ घटना घटित होने को होती है। प्राचीन काल के मान्यताओं के अनुसार भी कुत्ते के रोने को अशुभ माना गया है। ज्योतिषियों का मत है कि यदि कोई कुत्ता घर की ओर मुंह करके रोता है तो समझ लीजिए कि घर के किसी सदस्य पर विपत्ति आने वाली है या किसी सदस्य की मौत हो सकती है।
  शास्त्रों में बताया गया है कि कुत्ते का भौंकना या रोना अशुभ होता है। कुत्ते के द्वारा भोंकने को इंद्र से संबंधित भय माना गया है। ऐसा माना जाता है कि यदि शुभ कार्य से आप कहीं जा रहे हो और कुत्ता आपका मार्ग रोके तो अनिश्चितता व विषमता प्रकट होता है।
 यदि घर के पालतू कुत्ते की आंखों से आंसू बहे तो उस घर पर संकट आने के संकेत है।
आप यदि घर से किसी काम के लिए जा रहे हैं और तभी आपको कीचड़ में सना हुआ कुत्ता दिखाई दे तथा अपने काम को फड़फड़ाए तो यह  बहुत ही अशुभ संकेत है। ऐसी स्थिति में अपनी यात्रा को स्थगित कर देनी चाहिए।
  परंतु इन कुत्तों को घर में पालने के फायदे भी होते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार यदि कोई व्यक्ति रोज कुत्ते को खाना खिलाता है तो उससे दुश्मनों का भय समाप्त हो जाता है। इसके साथ-साथ व्यक्ति निडर बनता है।
कुत्ता पालने को लेकर ऐसा भी कहा जाता है कि घर में कुत्ता पालने से लक्ष्मी जी आती है तथा यदि घर का कोई सदस्य बीमार रहता है तो कुत्ता उसकी बीमारी अपने ऊपर ले लेता है।