Home health and beauty tips यदि उम्र बढ़ने के साथ मेटाबॉलिज्म को रखना चाहते है बेहतर तो...

यदि उम्र बढ़ने के साथ मेटाबॉलिज्म को रखना चाहते है बेहतर तो  कभी भी ना छोड़े सुबह का नाश्ता व डाइट में करें इन चीजों को शामिल।

0
SHARE
मेटाबॉलिज्म
  हमारे शरीर के लिए मेटाबॉलिज्म का बेहतर होना बेहद ही जरूरी होता है। ऐसा इसलिए कि हमारी पाचन संबंधित गतिविधियां मेटाबॉलिज्म पर ही निर्भर होता है। परंतु जैसे जैसे उम्र बढ़ता जाता है  तैसे तैसे मेटाबॉलिज्म रेट कम होता जाता है। जिसके कारण पाचन संबंधित दिक्कतें सामने आने लगती है। ऐसे में आज हम आपके लिए कुछ ऐसे उपाय लेकर आए हैं जिससे आप उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाए रख सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में।
 (1)  खानपान में प्रोटीन शामिल करें
हमारे शरीर के मांसपेशियों को प्रोटीन मेंटेन रखता है। इससे नई कोशिकाओं का निर्माण होता है । यह  हमारे शरीर के अतिरिक्त वसा को बर्न करने में भी मददगार है । अतः जो लोग अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन करते हैं उनका मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है।
 (2)  मसालेदार भोजन
 कई अध्ययनों में भी पता चला है कि मसालेदार भोजन का सेवन करने से मेटाबॉलिज्म बेहतर बना रहता है। एक शोध में यह भी दावा किया गया था कि मिर्च व काली मिर्च खाने से भी मेटाबॉलिज्म रेट बेहतर बनता है। इसके साथ ही यह  वजन को  बढ़ने से भी  रोकता है।
 ( 3 )सुबह का नाश्ता कभी नहीं भूलना चाहिए
अपने सुबह के नाश्ते में प्रोटीन को सम्मिलित करना चाहिए । कई अध्ययनों में कहा गया है कि प्रोटीन से भरपूर सुबह में नाश्ता लेने से आदमी दिन भर कुछ ना कुछ खाते रहने की आदत से मुक्त हो जाता है। अतः एक अध्ययन में यह भी बताया गया है कि जो लोग सुबह उठने के 2 घंटे बाद नाश्ता करते हैं उनके भीतर दिनभर अधिक कैलोरी बर्न करने की संभावना रहती है। अतः सुबह का नाश्ता कभी नहीं भूलना चाहिए।
 ( 3 ) खूब पानी पिएं रोजाना
 पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन हमारे शरीर के लिए बेहद ही जरूरी होता है। हमारे शरीर को हर तरह के रोगों से सुरक्षित रखने का सबसे बेहतरीन तरीका यही है कि रोजाना खूब पानी पिया जाए। हर व्यक्ति को प्रतिदिन कम से कम 7 से 8 गिलास पानी पीना बहुत जरूरी होता है। पर्याप्त मात्रा में रोजाना पानी पीने से मेटाबॉलिज्म रेट भी बेहतर बनाए रखने में मदद मिलता है। अधिक पानी पीने से भूख भी कम लगती है जो अभी खाना खाने की संभावना को नियंत्रित करती है। यही कारण है कि मेटाबॉलिज्म का स्तर बेहतर बना रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here