Home health and beauty tips सफेद दाग से मुक्ति के लिए अपनाएं ये इस इलाज को, जल्द...

सफेद दाग से मुक्ति के लिए अपनाएं ये इस इलाज को, जल्द ही मिलेगा इस समस्या से छुटकारा

0
SHARE
सफेद दाग
सफेद दाग हो जाने पर त्वचा कुरूप हुआ भद्दी सी  लगने लगती है। कुछ जगहों पर तो समाज में भी इसे ठीक नहीं माना जाता है। जिनको सफेद दाग हो जाता है लोग उन से कतराने लगते हैं। हालांकि सफेद दाग एक तरह की त्वचा रोग है, जिसका यदि इलाज किया जाए तो इस समस्या से मुक्ति पाना बिल्कुल संभव है।यह  छुआछूत की बीमारी नहीं है। जिन लोगों को सफेद दाग वाले व्यक्तियों से घिन आती है तथा वह सोचते हैं कि यह छुआ छूत की बीमारी है उनसे मेरा आग्रह है कि आप अपने गलतफहमी को दिल से निकाल दें तथा सफेद दाग वालों से भी वैसे ही मिलना-जुलना खाना-पीना रखें, जैसे अन्य लोगों के साथ रखते हैं । दोस्तों आज हम सफेद दाग के इलाज के बारे में बताने जा रहे हैं। आशा है कि यह लेख आप सबको पसंद आएगा। तो चलिए शुरुआत करते हैं ।
 बावची  जिसे कई जगहों पर बाकुची के नाम से भी जाना जाता है। यह सफेद दाग व चर्म रोगों के लिए एक रामबाण इलाज है ।
 बावची (बाकुची) सभी प्रकार के चर्म रोगों व गुप्त रोगों की समस्याओं में प्रयोग किया जाने वाला रामबाण इलाज है।  इसके इस गुड़ के वजह से सफेद दाग की अधिकतर अंग्रेजी दवाओं में इसका प्रयोग किया जाता है। इस रोग के लिए बावची बेहद ही कारगर वह बेहतरीन दवा है। इस औषधि का प्रयोग करके सफेद दाग की समस्या को दूर किया जा सकता है।
आइए जानते हैं इसके प्रयोग की क्या विधि है।
 (1)   बावची का बीज 50 ग्राम ले लीजिए तथा इस को पानी में 3 दिनों तक भिगोकर रखिए। यह बात ध्यान रहे कि पानी को प्रतिदिन बदलते रहिए । 3 दिनों के बीतने के बाद बीजों को मसलकर छिलकों को उतार लीजिए और छाया में सुखा लें। उसके बाद इन सूखे हुए बीजों को पीसकर पाउडर बना लीजिए। उसके बाद आप का दवा तैयार है।
 उसके बाद प्रतिदिन 250 ग्राम बकरी  या भारतीय गाय के दूध के साथ इस पाउडर का ढेड  ग्राम मिलाकर पिएं। इसी चूर्ण का पानी के साथ पेस्ट तैयार कर लें तथा इस पेस्ट को दिन में 2 मर्तबा सफेद दाग पर लगाएं । इस इलाज को 2 से 4 महीने तक करें तो बेहतरीन लाभ मिलेगा।
 (2)   बावची के बीज के साथ इमली के बीज को बराबर मात्रा में लेकर 4 दिनों तक पानी में भिगोकर रखिए। 4 दिनों के बाद बीजों को मसलकर छिलका उतार लीजिए और उसे सूखाइए। सूख जाने के बाद पीसकर महीन  पाउडर बना लें । इस पाउडर की थोड़ी मात्रा लेकर पानी के इस्तेमाल से पेस्ट तैयार कीजिए। उसके बाद इस पेस्ट को 1 सप्ताह तक सफेद दाग पर लगाइए।यह  बहुत ही कारगर व लाभप्रद नुस्खा है सफेद दाग की समस्या में।
  सावधानी————
 यदि पेस्ट का प्रयोग करने से सफेद दाग की जगह लाल हो जाए तथा उसमें से तरल द्रव निकलने लगे तो इलाज रोक देना ठीक होगा । उसके बाद सही होने के कुछ दिन बाद इलाज दोबारा शुरू करें ।
 इन दवाओं का प्रयोग करते समय खान पान पर पूरा ध्यान दीजिए । कुछ भी अधिक तला हुआ, अधिक नमक, मिर्च, मसाला, अधिक मीठा ना खाएं। यदि धूम्रपान या शराब का सेवन करते हैं तो तुरंत बंद कर दीजिए। इसके अलावा किसी आयुर्वेदिक टॉनिक जो खून को साफ करता हो बाजार से लाकर पीजिए। ध्यान रहे टॉनिक अच्छी कंपनी की हो तथा उसमें चिरायता, कुटकी और नीम जरूर मिला हो। तभी फायदा अधिक होगा।
2 से 4 महीने में आपको आशातीत लाभ मिलेगा इस दवा के प्रयोग से।
  आपको बाउची पंसारी की दुकान पर मिल जाएगा। ध्यान रहे बावची को कई जगहों पर बाकुची भी कहा जाता है। अतः दुकान पर दोनों ही नाम से पता कर ले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here