Home Motivation time मत बर्बाद करिए, जिंदगी का अहम हिस्सा गुजरने के बाद पछताना...

time मत बर्बाद करिए, जिंदगी का अहम हिस्सा गुजरने के बाद पछताना पड़ेगा

1
SHARE
time
time अनमोल है, इतना अनमोल है कि खो कर पाया नहीं जा सकता। दुनिया की रंग बिरंगी चाल समय के दायरे में बंधी हुई है। सब  time के हिसाब से चलते हैं। सूरज, चांद, पृथ्वी, तारे , जिंदगी इत्यादि, सब के सब समय के गुलाम है। दोस्तों समय इतना बलवान होता है कि इसके आगे बड़े से बड़ा भी नतमस्तक हो जाता है। जो किसी के सामने नहीं झुका उसे समय के आगे झुकना पड़ता है।
यदि कोई समय के आगे अकड़ दिखाएं तो समय आने पर समय अकड़ ढीला कर देता है । अतः समय के साथ चलिए, समय का सम्मान  करें  तथा समय के आगे झुकिए और सारी दुनिया को अपने आगे झुक आइए। जो समय का साथ देता है समय उसका साथ देता रहता है और समय उसके चाहने वालों के समक्ष उसकी सारी चाहतों को कदमों में लाकर डाल देता है। कहने का तात्पर्य है कि यदि आप time का सदुपयोग करेंगे तो आपकी सारी इच्छाएं समय के साथ पूरा हो जाएगा।
  पढ़ाई में जो विद्यार्थी मन लगाता है, बारहों मास अध्ययन करता है, शिक्षा के लिए अपने समय का सदुपयोग करता है, उसके अंक परीक्षा में अधिक आते हैं तथा वह जीवन में भी बहुत सफल होता है। वही जो विद्यार्थी समय का सदुपयोग नहीं करता, अपने पढ़ाई का ज्यादा समय खेल में खराब कर देता है तथा सोचता है की परीक्षा आने पर पढ़ लेंगे, उसकी तैयारियां अधूरी रह जाती है।
ऐसे विद्यार्थियों को सफलता नहीं मिलती और पछताना पड़ता है। अतः time के साथ चलना उतना ही आवश्यक है जितना आप अपनी ख्वाहिशों के साथ चलते हैं । यदि आप केवल ख्वाहिशों के साथ चलेंगे और समय की अनदेखी करते जाएंगे तो पछतावा के सिवा कुछ हासिल नहीं होगा। यह मेरा दावा है।
  बहुत से लोग जीवन में ख्वाब ही देखते रह जाते हैं। ख्वाब ख्वाब में जिंदगी कैसे गुजर जाती है कुछ पता ही नहीं चलता । फिर बुढ़ापे में दूसरों को देखकर पछताते हैं और सोचते हैं कि ऐसा किया होता तो ऐसा हो जाता, वैसा करता तो ऐसा हो जाता, पर ऐसे time सोचने का क्या तात्पर्य जब आप कुछ कर सने में समर्थ ही नहीं होते? इससे पहले कि आपको अपनी गलती के लिए पछताना बड़े आप सक्षम रहते ही कुछ कर लीजिए। अपनी मंसूबों को हकीकत में बदल दीजिए ।

 आप जब पैसा बर्बाद करते हैं तो आप उसे दोबारा कमा सकते हैं। इसलिए आप पैसा के नुकसान को पूरा कर सकते हैं। अतः  पैसों के नुकसान पर व्यथित नहीं होना चाहिए, पर दुख की बात तो यह है कि लोग पैसों के नुकसान पर बेहद दुखी हो जाते हैं। वही यदि आप समय को बर्बाद कर रहे हैं तो इतना जरूर सोच लीजिए कि time  की बर्बादी की भरपाई दुनिया की कोई भी ताकत नहीं कर सकता। समय एक बार हाथ से निकल जाता है तो दोबारा नहीं आता। अतः time के व्यर्थ निकल जाने के बाद वास्तव में व्यतीत होना सही है। किंतु अजीब बात है कि समय खराब हो जाने पर कोई दुखी नहीं होता और पैसा खराब हो जाने पर सभी दुखी हो जाते हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here