Home Blogging tips in hindi महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग एक अच्छा विकल्प हो सकता है

महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग एक अच्छा विकल्प हो सकता है

2
SHARE

ब्लॉगिंग एक अच्छा विकल्प हो सकता है

महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग

महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग एक अच्छा विकल्प हो सकता है

ब्लॉगिंग करना हर उस इंसान के लिए है जिसके पास धैर्य है और वह क्रिएटिव है। चाहे वह औरत हो या मर्द चाहे स्टूडेंट हो अथवा किसी कंपनी अथवा ऑफिस में काम करने वाले लोग। यह Platform सबके लिए है। अगर इसे करने के लिए पर्याप्त समय है तो घर पर रहने वाली महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग एक अच्छा और सुनहरा विकल्प है। अगर वह चाहे तो इसे करके अपना समय का सदुपयोग कर सकती है।
  घर पर रहने वाली महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग बेहतर इसलिए है कि इन महिलाओं के पास कभी-कभी बहुत अधिक समय खाली होता है। अतः ऐसे समय में यह महिलाएं टाइम पास करने के लिए TV पर मनोरंजन का सहारा लेती हैं। परंतु सोचिए कि अगर यह महिलाएं अगर ब्लॉगिंग करें तो कितना फायदा होगा। मेरा मानना है कि अगर यह महिलाएं ब्लॉगिंग करें तो इनके समय का सदुपयोग भी हो जाएगा और साथ-साथ आमदनी का एक अतिरिक्त जरिया भी बनेगा।
 घर पर रहने वाली महिलाओं के लिए ब्लॉगिंग एक अच्छा विकल्प इसलिए हो सकता है क्योंकि ब्लॉगिंग के लिए महिलाओं के पास पुरुषों की तुलना में अधिक नॉलेज होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पुरुष वही सीखता है जो पढ़ता है, परंतु महिलाएं कम उम्र से ही घर का ख्याल रखते रखते कई सारी चीजे सीख जाती है। अतः महिलाएं अगर अपने इस अनुभव को लेख का रूप देकर ब्लॉग पर प्रकाशित करेंगी तो लोग उसे पढ़ने में अधिक दिलचस्पी दिखाएंगे।
ब्लॉगिंग एक अच्छा विकल्प हो सकता है
 महिलाएं गृहणी होती है। उनके अनुभव बहुत काम के होते हैं। क्योंकि गृहणी महिलाओं का अनुभव अथवा टिप्स रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़ी होती हैं। इसलिए लोग अपने-अपने जरूरत के हिसाब से ब्लॉग पर आकर जानकारियां  लेते रहते हैं। मैं तो कहूंगा कि पुरुषों और पत्रकारों की पढ़ाई और घर पर रहने वाली हाउसवाइफ का अनुभव बराबर होता है। ब्लॉगिंग करने के लिए वहीं अगर महिलाएं अपने पढ़ाई और अपने अनुभव दोनों का ही उपयोग करती है तो  कहना ही क्या ? सोने पर सुहागा हो जाएगा । ऐसी परिस्थिति में महिलाएं खेल, समाचार, तकनीकी, स्वास्थ्य और घरेलू टिप्स सब पर ब्लॉग लिख सकती हैं। यही कारण है कि मैं समझता हूं घर पर रहने वाली महिलाओं के लिए ब्लागिंग एक अच्छा विकल्प हो सकता है।
जब बात महिला सशक्तिकरण की आती है तो  ब्लॉगिंग इस में भी भूमिका निभा सकता है। अपने ब्लॉग पर वह महिलाओं से जुड़ी समस्याओं को उठा सकती हैं तथा अपनी आवाज को देश दुनिया के कोने कोने तक पहुंचा सकती है। वही ब्लॉग  से जो कमाई होगी उससे महिलाओं की आर्थिक प्रगति होगी जो महिला सशक्तिकरण के लिए बेहद अहम है।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here