Home Blogging tips in hindi शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना ही ठीक रहता है शुरू में ब्लॉगरों...

शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना ही ठीक रहता है शुरू में ब्लॉगरों के लिए 

0
SHARE

 

शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना ही ठीक रहता है शुरू में ब्लॉगरों के लिए 

 

शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग

 किसी भी ब्लॉगर को शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग ही करना चाहिए। जी हां, ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि इसके फायदे बहुत हैं। वैसे भी सभी बड़े ब्लॉगर न्यू ब्लॉगर को यही राय देते हैं कि शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना ही सही रहता है। क्योंकि जो लोग पैसे का ख्याल लेकर ब्लॉगिंग करते हैं उनके लिए थोड़ी कठिनाई आती है। शुरू में इसका मुख्य कारण यह है कि ब्लॉगिंग से एकाएक पैसा आना शुरू नहीं होता। ऐसे में जो लोग पैसे के लिए यह काम करते हैं वह जल्दी तनाव में आ जाते हैं।
  शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना बेहतरीन इसलिए होता है, क्योंकि इस परिस्थिति में ब्लॉगर पर पैसे कमाने के लिए बहुत अधिक दबाव नहीं रहता है, जिससे वह अतिरिक्त तनाव से बचा रहता है। अन्यथा ब्लॉगिंग को ही इनकम का जरिया मानकर जो लोग ब्लॉग लिखते हैं उनके लिए परेशानी तब खड़ी हो जाती है जब कुछ महीनों तक मेहनत करने के बाद भी इनकम शुरू नहीं होता। अतः उम्मीदें नहीं पूरी होती तो निराश होने लगता है आदमी।
  वहीं जो लोग शौक के तौर पर ब्लॉग लिखना शुरु करते हैं उन लोगों को पैसे कमाने की जल्दी नहीं रहती। इसलिए वे लोग लंबे समय तक बिना किसी तनाव के काम करते रहते हैं। आगे ब्लॉग  इन लोगों के लिए ऐसा वक्त भी आता है जब इन का ब्लॉ अच्छा करने लगता है और कमाई का रास्ता खुल जाता है। फिर यही ब्लॉगर शौकिया ब्लॉगर से प्रोफेशनल ब्लॉगर बन जाते हैं। पूरे प्रक्रिया में ब्लॉगर को फायदा यह होता है कि वह कभी भी तनाव में आकर निराश नहीं होता।

शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना ही ठीक रहता है शुरू में ब्लॉगरों के लिए 

  वहीं जो लोग शुरू से ही प्रोफेशनल ब्लॉगर बनना चाहते हैं और जिनको कमाई की जल्दी होती है वह थोड़ा कठिनाइयों से होकर गुजरते हैं। दरअसल ऐसे ब्लॉगरों की  सोच यह होती है कि शुरू के एक दो महीने बाद पैसे आने लगेंगे, पर अमूमन ऐसा हो नहीं पाता। अब आप ही सोचिए जो ब्लॉगर यह उम्मीद लगाए हैं कि उसकी आमदनी एक दो महीने में ही शुरू हो जाएगी और उम्मीद ना पूरी हो तो उसके दिल का क्या हाल होगा ?
 शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग ही करना चाहिए मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मैंने भी ब्लॉगिंग की शुरुआत प्रोफेशनल तौर पर ही किया था। परंतु अधिक पैसे लगाने तथा अधिक मेहनत करने के बाद भी जब मैं शीघ्रता से ब्लॉग से पैसे कमाना शुरू नहीं कर पाया तो बड़ा ही निराश हुआ और दिल को धक्का सा लगा।
  इसलिए मैं खासकर उन लोगों को यह कहना चाहूंगा जो लोग अकेले ब्लॉग या वेबसाइट शुरू करते हैं, फैशन के तौर पर ही ब्लॉग लिखना शुरू करें और जब बाद में 150 से 200 पोस्ट लिख लेंं तब जाकर इसे गंभीरता से लें। हालांकि अगर आपके पास 1 टीम है, अगर कई लोग मिलकर एक  ब्लॉग की शुरुआत कर रहे हैं तो प्रोफेशनली करें कोई प्रॉब्लम नहीं है। तब आप जल्द ही सफल हो जाएंगे।
शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना ही ठीक रहता है शुरू में ब्लॉगरों के लिए 

 परंतु कभी भी अकेले ब्लॉगिंग करते समय बड़े बड़े ख्वाब ना देखें। क्योंकि इसमें थोड़ा टाइम लगता है। जो भी लोग अकेले यह काम करते हैं उनको तो हर हाल में सब्र रखना होगा। अतः इसका सबसे अच्छा विकल्प है कि शुरू में ब्लॉगिंग को अपना सब कुछ ना मान कर सिर्फ शौक भर माना जाए तथा निरंतर पोस्ट किया जाए। बात रही प्रोफेशनल ब्लॉगिंग की तो वह समय अपने आप आपके पास चलकर आएगा जब आप बेहतरीन ब्लॉगर बन चुके होंगे। आपको अधिक सोचना विचारना नहीं चाहिए तथा अपने काम में लगे रहना चाहिए। अतः आप को शुरू में शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना चाहिए। मैं तो यही सलाह दूंगा अन्यथा आपके लिए विकल्प सारे खुले हैं, आपकी मर्जी आप क्या करते हैं?

 

हिंदी में जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here