हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  

0
246
हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  
 

हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  

हल्दी का औषधि रूप में हमारे जीवन में अनेकों फायदे हैं। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक और उपयोगी औषधि है। हल्दी के गुण आयुर्वेद और भारतीय संस्कृति के बहुत सी पुस्तकों में हल्दी के गुणों की व्याख्या मिलती है। भारत में तो यह संभवतः सभी घरों में किसी न किसी रूप में प्रयोग में लाया ही जाता है। खासकर इसका खाने में प्रयोग प्रतिदिन होता है। खैर अगर अगर कह कि हल्दी के इतने सारे औषधि गुण हैं कि अगर गिनती की जाए तो हमारी उंगलियां भी नाकाफी होंगी तो अतिशयोक्ति नहीं होगी ।

हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  

इसका कारण यह है कि हल्दी में बहुत सारे गुण पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य से लेकर सौंदर्य तक के लिए बेहद ही जरूरी होते हैं। इसीलिए आज हम लेकर आए हैं हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न फायदों के बारे में जानकारी। तो चलिए हम आपको बताते हैं इसके उपयोग के बारे में कुछ तथ्यों को विस्तार से। ताकि आप भी इसके बारे में विस्तृत रूप से जान सके।

हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  

 
 (1)     हल्दी का प्रयोग हिंदू धर्म में सभी शुभ अवसरों पर किया जाता है। जैसे कि कथा, पूजा पाठ तथा कई अन्य शुभ मुहूर्त में।  haldi लेप का प्रयोग शादी से पहले लड़के और लड़की दोनों को ही लगाने में किया जाता है। हल्दी के गुण ऐसा इसलिए किया जाता है कि इससे त्वचा पर निखार और गोरापन आ जाए। बताते चलें कि haldi का लेप लगाना हिंदू विवाह में रीति रिवाजों और भारतीय संस्कृति से भी संबंधित है। लेकिन मौजूदा वक्त में ही इसके वैज्ञानिक तथ्य भी सामने आए हैं, जो कि औषधीय गुणों से प्रभावित है।

हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  

 (2)  आपके परिवार या पड़ोसी या फिर आप स्वयं कभी ना कभी कफ या खासी से अवश्य ही पीड़ित  रहे होंगे। लेकिन क्या आपको पता है कि haldi कफ और खांसी में आराम के लिए बड़ा ही बेहतर और कारगर औषधि है। इसे haldi और दूध में मिलाकर पीजिए, सूखी खांसी और कफ में बहुत आराम मिलता है। खांसी और कफ ना हो तो भी आप haldi का इस्तेमाल दूध और शक्कर में मिलाकर कर सकते हैं। हल्दी के गुण यह स्वास्थ्य के लिए बेहद ही कारगर माना जाता है। शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द अथवा चोट की समस्या में हल्दी दूध का सेवन करना लाभदायक होता है।
हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  
 ( 3 )  haldi  में कैंसर से भी लड़ने के गुण पाए जाते हैं। आज भारत और अनेक देशों में इसका प्रयोग बहुतायत मात्रा में किया जाने लगा है। हल्दी के लाभ को देखते हुए इसके प्रयोग व उपयोग में भी दुनिया में काफी वृद्धि हो रही है।
 ( 4 )  अगर आग से त्वचा जल जाए तो हल्दी और चंदन का पेस्ट बनाकर लगाने से आराम मिलता है तथा जलन  की समस्या कम होती है।
हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  
 ( 5 )   अगर जिस्म का कोई हिस्सा छिल जाए तो हल्दी का लेप लगाना चाहिए। हल्दी के गुण इससे लाभ मिलता है तथा संक्रमण नहीं फैलता। अंदरूनी चोट लगने पर भी हल्दी का लेप लगाने से खून नहीं जमता और घाव को ठीक करने में सहायक होता है। पहले के जमाने में तो घाव पर हल्दी का प्रयोग ही ज्यादातर किया जाता था। हालांकि आज भी हमारे गांव में घाव पर इसका प्रयोग होता है। हल्दी दूध पीने से भी अंदरूनी घाव ठीक होते हैं तथा शारीरिक दर्द कम होता है।
हल्दी के गुण और उससे होने वाले विभिन्न लाभों के बारे में आइए जानते हैं  
 ( 6 )  हल्दी दूध पीने से खून साफ होता है तथा शरीर में इसका संचालन ठीक से होता रहता है। इसके अलावा यह लीवर को भी साफ करता है तथा संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करता है।
 (7)   यह मोटापा भी दूर करता है। अगर आप हल्दी दूध का सेवन कर रहे हैं  जान ले कि यह शरीर के अनचाहे वसा को समाप्त कर देता है। जिससे मोटापा का स्तर कम होने लगता है।
 ( 8 )   हल्के गुनगुने नारियल तेल में हल्दी मिलाकर लगाएं इससे शरीर के अतिरिक्त बालों  से निजात मिलता है।
(9)  चेहरे के लावण्यता को बरकरार रखने के लिए हल्दी और तेल को बराबर मात्रा में लेकर पेस्ट बना लें तथा रोजाना प्रयोग करें। चेहरे का निखार बरकरार रहेगा।
 ( 10 )   हल्दी, बेसन और शहद को भी पेस्ट बनाकर लगाने से चेहरे पर गोरापन आता है। इससे त्वचा को प्राकृतिक रूप से निखार मिलता है।
 (11) हल्दी के गुण  हल्दी का सेवन आप भोजन के साथ करें अथवा दूध के साथ यह शरीर को लाभ देता है। इससे खून साफ हो जाता है जिससे त्वचा की चमक भी बरकरार रहती है तथा पिंपल की समस्याएं नहीं होती। इसके साथ-साथ इससे तो त्वचा फोड़े फुंसियों जैसी बीमारियों से भी बची रहती है।