Home Motivation कामयाबी सब चाहते हैं शायद ही कोई इस संसार में हो जो...

कामयाबी सब चाहते हैं शायद ही कोई इस संसार में हो जो कामयाबी ना चाहता हो

0
SHARE
 कामयाबी
 कामयाबी सब चाहते हैं शायद ही कोई इस संसार में हो जो कामयाबी ना चाहता हो। मेरे नजरिए से देखें तो कोई भी नहीं है ऐसा। यानी कि इस दुनिया में जितने भी मानव हैं वे चाहते हैं कि कामयाबी उनकी कदम चूमे। दौलत, शोहरत, बंगला, गाड़ी, नौकर-चाकर सब कुछ हो उनके पास। सब सोचते हैं कि उनके पास सब कुछ हो जो एक अमीर तरीन व्यक्ति के पास होता है। किंतु क्या आप सबको पता है कि यह सारी भौतिक कामयाबी है? जिसका जीवन में अहम रोल तो होता है पर यह वास्तविक कामयाबी नहीं है।
मैं सच्ची कामयाबी तो उस पड़ाव को मानता हूं जहां पहुंचकर आदमी आनंदित रहता है। फिर भी आजकल के भौतिकवादी लोग इस तरह की भौतिक कामयाबी को ही पसंद करते हैं। मन के आनंद से उन्हें क्या लेना? उन्हें तो शारीरिक सुख के लिए भौतिक औजारों की जरूरत है। तो ऐसे ही लोगों के लिए मैं कुछ बातें बताने जा रहा हूं जो कामयाबी के लिए जरूरी है। यदि आप सकारात्मकता से लेते हैं तो यह भौतिक आनंद के साथ साथ मानसिक आनंद में भी कहीं ना कहीं सहायक होगी। किंतु मूल रूप से यह कामयाबी के लिए ही होगा तो आइए देखते हैं सफलता के लिए क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए हम सभी को ?
(1) उम्मीद का दामन कभी ना छोड़े। हां उम्मीद ही वह चीज है जिसके सहारे आप कठिन से कठिन कार्य को अंजाम तक ले जा सकते हैं। दुनिया में जिस भी व्यक्ति के पास उम्मीद होता है वह लाख बार भी हार कर नहीं हार सकता। इसलिए हौसले का साथ ना छोड़े।
 (2) यदि आप वास्तव में कुछ कर दिखाना चाहते हैं तो हिम्मत रखें और कभी भी इरादे से ना फिरे। तब भी यदि नाकामी हाथ लगती है तो  अपने कार्य की शैली में तब्दीली लाएं। किंतु  किसी भी कारण से संकल्प को ना बदलें। यदि संकल्प नेक और पक्का होगा तो सफलता आज नहीं तो कल अवश्य ही मिलेगा।
 (3) अगर आप चाहते हो कि आपको सफलता और सम्मान से दुनिया में याद किया जाए तो नेक आदमी बनो। आप नेक बनने की वैसे ही कोशिश करो जैसा आप सुंदर दिखने का प्रयास करते हो। निश्चित ही आप कामयाब होंगे।
(4)  एक अच्छा इंसान बनने की कोशिश करो तभी महान बन पाओगे। महान बनना तो हर कोई चाहता है परंतु एक अच्छा इंसान बनना कोई नहीं चाहता।  यही कारण है कि दुनिया में सब महान नहीं बन पाते। किंतु आप महान बनना चाहते हो तो निश्चित रुप से शर्त यह है कि आप एक अच्छे इंसान बनो।
 ( 5 ) यह आवश्यक नहीं है कि आपको अपने उद्देश्य में जीत ही हासिल हो। आप लड़खड़ा भी सकते हैं। ऐसे समय में बेहतर होता है कि अपने हार से कुछ सीखा जाए। क्योंकि हर जीतने वाला मनुष्य अपने हार से सीख कर कामयाब होता है।
 (6)  ऐसा मौका कम ही आता है जब जीवन में बड़ी बड़ी बातें हो। यदि बड़ी-बड़ी बातें होती भी है तो यह बहुत कम ही संख्या में होती हैं। इसलिए आप आनंदित होने के लिए ऐसे मौके की तलाश ना करें और छोटी-छोटी बातों में ही आनंद खोजें। इससे आपको जीवन में आगे की ओर बढ़ने में सहायता मिलेगी।
 ( 7 )  कोई भी अच्छा इंसान दुनिया में मान सम्मान पाता है तो वह सिर्फ अपने कर्मों के बदौलत पाता है ।इसलिए अपने कर्म को निखारने का प्रयास कीजिए। सच्चा और शुद्ध कर्म कीजिए। बातें ना बनाइए बातें तो प्रत्येक बुरा मनुष्य भी बना लेता है। अतः बातों को कम और कर्म को अधिक महत्व दीजिए।
 ( 8 ) हमेशा स्नेह बांटते रहिए। जीवन में  प्रेम  देते रहोगे तो कभी दुखी नहीं रहोगे। ऐसे में अगर दुख है भी तो कम हो जाएगा। स्नेह आदमी को कभी मुरझाने नहीं देती और नफरत कभी भी खिलने नहीं देती है। तो नफरत से दूरी ही बनाए रखें।
 ( 9 ) अपने गुस्से को संभालिए। यदि आप गुस्से में धैर्य रखेंगे तो निश्चित ही आप दुख से बच जाएंगे। दुनिया में दुख के सबसे बड़े कारणों में से एक कारण गुस्सा भी है। गुस्सैल आदमी कभी सुखी नहीं रहता।
 तो दोस्तों यह रहा कामयाबी चाहने वालों के लिए कुछ सहायक बातें। दोस्तों आप भी अपने जीवन में इन बातों पर ध्यान देते हुए कामयाबी का मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं। किसी भी कार्य में कामयाबी पाने के लिए स्वयं के भीतर उर्जा भर कर तैयार करने में यह सूत्र बेहद कारगर है और आप के जीवन में काम आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here