मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 

0
295
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
मां का प्यार
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 

दुनिया का चाहे कोई व्यक्ति हो और चाहे जितना भी सक्षम हो पर मां से बड़ा शुभचिंतक कभी नहीं पा सकता। हर मां हमेशा यह चाहती है कि उसका बेटा सुखी रहे फूले फले और कामयाबी की बुलंदियों पर आसमान के ध्रुव तारे की तरह टिमटिमाए। मां ( मां का प्यार )जब भी पुत्र के बारे में सुख चिंता करती है तो वह निस्वार्थ करती है, निश्छल करती है  और ममता की सागर में वात्सल्य मिलाकर करती है। अन्य किसी शुभचिंतकों में इस प्रकार की शुभचिंतन नहीं होती।

 आपने देखा है दुनिया में ऐसा व्यक्ति जो मां( मां का प्यार ) की तरह भला चाहे? मुझे तो मेरी मां की तरह मेरा भला चाहने वाला दूसरा कोई नहीं दिखा। हमने अपने करीब से कभी रिश्तों को आजमाया पर मां का पलड़ा सदा आभारी ही दिखा। दुनिया में मां से पवित्र रिश्ता और कोई नहीं।
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
 यदि आप मां को खुश रखते हो तो ईश्वर आपसे खुश रहेगा। लेकिन यदि आप मां को नाराज रखते हो तो लाख पूजा पाठ के उपरांत भी ईश्वर को खुश नहीं कर पाओगे। इतना प्रभावी और अनमोल बनाया है ईश्वर ने मां ( मां का प्यार )का किरदार।
मां का प्यार
 मां जिस व्यक्ति के पास है वह गरीब होकर भी दुनिया में अमीर है और जिसके पास नहीं है वह अमीर होकर भी गरीब है। जिसके पास मां( मां का प्यार ) है उसके पास कुबेर का भंडार है मां के बिना अपार धन का स्वामी भी निर्धन होता है। दोस्तों मां के संबंध में बहुत कुछ लिखा जा चुका है और आज मुझे भी कुछ लिखने का मन किया तो लिख रहा हूं। हालांकि मां का किरदार इतना विस्तृत है कि इस पर कयामत तक लिखा जाए तो भी नहीं लिखा जा सकेगा।
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
 मां की महिमा अपरंपार है। इस पर जितनी व्याख्या की जाए कम ही रहेगा। भगवान के सभी सृजनों में मां का सृजन खास है। इससे पवित्र कुछ और भगवान ने सृजित नहीं किया।
 हम सब जानते हैं कि भगवान हर जगह उपलब्ध नहीं होता। हालांकि वह कण कण में है पर दर्शन दुर्लभ है। इसी कमी को पूरा करने के लिए भगवान ने मां को बनाया था कि हर पुत्र मां के गुणों से प्रभावित होकर ईश्वर की महिमा को महसूस कर सके। ऐसी अवस्था में जब कोई पुत्र मां के प्यार का एहसास नहीं कर पाता तो दुर्भाग्य है उसका। भगवान ने तो मां का सृजन कर दिया है हर पुत्र के लिए कि वह शायद मां की सेवा करते करते तथा उसके महत्व को समझते समझते ईश्वर का भी प्यारा बन जाए।
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
  बेटा चाहे कितना भी बड़ा क्यों ना हो जाए किंतु मां के लिए वह हमेशा नादान बच्चा ही रहता है। बड़ा होने पर भी मां बेटे की वैसे ही देखभाल करती है जैसे बचपन में किया करती थी। ( मां का प्यार )मां हर इंसान की जिंदगी में शामिल वह शख्सियत है जिसे हर रोज पूजा जाना चाहिए। कहते हैं मां के कदमों में जन्नत होता है फिर हर बेटे को मां के कदमों में झुक कर अपने आप को जन्नत से रूबरू करवाना चाहिए।
 वैसे हर साल मई के महीने में मदर्स डे मनाया जाता है जो मां के महत्व उसके इतिहास को याद करने का दिन होता है। पर मेरा मानना है कि सिर्फ इसी दिन मां के प्यार और महत्व को याद न किया जाए बल्कि मां को अपने दिल के कोने में साल के 365 दिन जगह दिया जाए।
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
 मां को हर व्यक्ति के जीवन का प्रथम गुरु माना गया है। एक बालक अपने मां के पेट में रहता है तो मां गर्भ में उसका पोषण पालन करती है। उसके बाद जब जन्म लेता है तो हर चीज वह मां से सीखता है। मां प्रथम गुरु होने के नाते संतान को बहुत सारी प्रारंभिक शिक्षा देती है। जो स्कूलों में संभव नहीं होता( मां का प्यार )।
 मां हमेशा अपने बच्चों से बेइंतेहा प्रेम करती है और कई बार वह कठोर भी हो जाती है। पर यह अपने संतान के भले के लिए करती है। जब बच्चा दुसरे बच्चों के संगत में आकर गलत शब्द बोलने लगता है पढ़ता नहीं है तो मां बच्चों को डांटती मारती है और गलत आदतें छुड़वाती है। यह सब मां केवल इसीलिए करती है कि उसका प्यारा बेटा लायक बने।
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
 दोस्तों मां का प्यार अनमोल होता है जिसे असीमित दौलत खर्च करके भी पाया नहीं जा सकता। मां हमेशा आपको खुश देखना पसंद करती है। आपने देखा होगा कि बेटा जब भी गिरता है तो मां दौड़कर आती है और अपने बच्चे को गोद में भर लेती है तथा अपनी ममता को बरसाने लगती है।
मां का प्यार सबसे अनमोल है संसार में maa ka pyaar sabse anmol hai sansar me 
 इस दुनिया में सभी धर्म और संस्कृतियों में मां को सबसे महत्वपूर्ण और ऊंचा स्थान दिया गया है। ( मां का प्यार )मां ममता, स्नेह और दुलार की जीती जागती प्रतिबिंब है। इस दुनिया में बड़े बड़े महान जन्मे जो मां की कोख से ही जन्मे। वह इस दुनिया में आए और धरती में समा गए यहीं दुनिया में। बड़े-बड़े महापुरुषों का आगमन यह धरती पर मां के सिवा संभव ना हो सका। अतः दुनिया की बड़ी से बड़ी हस्ती सब मां के नीचे है। कोई भी मां से अच्छा नहीं, श्रेष्ठ नहीं, बड़ा प्रेमी नहीं, मां से बड़ा शुभचिंतक नहीं, उससे बड़ा दुलार देने वाला नहीं। मां तू शास्वत है, तुझसे सृष्टि है, मां तेरी चरणों में शत शत नमन!
होमपेज पर जाएं- — www.sitehindi.com