लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte 

0
261
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte 
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
बहुत से लोग ऐसे भी हैं इस संसार में  जिनसे आसपास के लोग खुश नहीं रहते हैं। आपने अपने आस-पास ही देखा होगा कि बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें लोग पसंद नहीं करते तथा जलते हैं। दरअसल यह हमारे समाज में होने वाली आम बात है। आप भी कहीं ना कहीं ऐसी परिस्थिति से जरूर गुजरे होंगे। ऐसा हर इंसान के साथ कभी ना कभी या फिर अक्सर हो ही जाता है। आपको दूसरे लोग पसंद नहीं करते आप से खुश नहीं रहते तो इसके बहुत से कारण हो सकते हैं।
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
ऐसा नहीं है कि किसी भी खास कारण की वजह से ही ऐसा होता है। यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो इसके अवश्य ही कई कारण होंगे हो सकता है।  इसमें आपकी भी कुछ कमी हो सकती है  जिससे लोग आपसे खुश नहीं रहते या फिर दूसरे लोगों में भी कमी हो सकती है दूसरे लोगों की कमी भी हो सकती है कि वह आपसे जलते हैं और आपकी तरक्की नफरत करते हो। आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे की वह कौन कौन से कारण होते हैं जिससे लोग आपसे खुश नहीं रहते। इन कारणों में आपकी गलती भी हो सकती है और लोगों की भी। खैर चलिए शुरू करते हैं।
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
 ( 1 ) जब लोग आपसे जलते हैं 
कई बार जब आप सफल होते हैं तो आपसे लोग जलने लगते हैं। इसी जलन की वजह से लोग आपको पसंद नहीं करते और ना खुश रहते हैं। ऐसा वही लोग करते हैं जो आपके करीबी होते हैं या फिर आपके पड़ोसी भी हो सकते हैं। ऐसे लोग आपको ठीक-ठाक देखना तो चाहते हैं, आपके दुख सुख में खड़े तो रहते हैं परंतु कभी भी आपको खुद से आगे निकलते देखना नहीं चाहते। ऐसे में जब ऐसे हालात बनते हैं जब आप दिन दुगुनी रात चौगुनी तरक्की करने लगते हैं तो ऐसे लोगों को जलन होने लगती है और यह लोग आपसे खुश नहीं रहते। आप ऑफिस या कंपनी में काम करते हैं और वहां आपकी इमेज अच्छी है और साथ-साथ तरक्की भी करते हैं तो साथ काम करने वाले आपको देखकर जलने लगते हैं। ऐसे लोगों की चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि ईश्वर द्वारा इनके जिम्में जलने का ही काम सौंपा गया होता है। इसलिए ना यह लोग बदल सकते हैं और ना ही आप उन्हें बदल सकते हैं। बेहतर होगा कि आप अपने काम पर ध्यान दें और ऐसे लोगों को इग्नोर करें।
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते
 ( 2 )आपका व्यवहार ठीक ना हो तभी लोग आपसे खुश नहीं होते
कई बार लोगों की नाराजगी का कारण आपका व्यवहार भी हो सकता है। यदि आपका व्यवहार ठीक नहीं है आप दूसरों को सम्मान नहीं देते आसपास के लोगों से मेलजोल नहीं रखते तो लोग आपको घमंडी समझ बैठते हैं और आपसे खुश नहीं रहते। यदि एक साथ बहुत सारे लोग आपसे खुश नहीं रहते हैं तथा हर जगह आपकी शिकायत होती है तो आपको स्वयं अपने बारे में आत्म निरीक्षण करना चाहिए और उन कारणों को दूर करना चाहिए जिससे लोग आप से नाखुश है।
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
 ( 3 )आपका गुस्सा भी हो सकता है कारण 
यदि आप गुस्सैल किस्म के व्यक्ति हैं तो आप अपने गुस्से पर नियंत्रण कीजिए। आपकी गुस्सैल प्रवृत्ति आपके शरीर के लिए नुकसानदेह तो है ही साथ साथ यह आप के सामाजिक जीवन पर भी बुरा प्रभाव डालता है। यदि आप बात बात पर गुस्सा करते हैं तो कोई भी आपसे दोस्ती नहीं रखेगा। यहां तक कि आपके करीबी भी आपका साथ छोड़ सकते हैं। अतः लोगों को खुश रखने के लिए यह जरूरी है कि आपका स्वभाव सरल और सहज प्रकृति का होना चाहिए न कि गुस्सैल।
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
 ( 4 )यदि आप लोगों को समय नहीं देते 
आजकल की भागदौड़ भरी दुनिया में यह भी सच है कि लोग बड़ी मुश्किल से अपने करीबियों के लिए समय निकाल पाते हैं। यदि आप अपने करीबियों और आस पड़ोस के लोगों को समय नहीं देते और उनका हालचाल नहीं लेते तो लोग आपको मतलबी समझते हैं तथा आपसे खुश नहीं रहते। आजकल के व्यस्त जिंदगी में अक्सर ही ऐसी परिस्थिति देखने को मिल रही है जब आपके करीबी इसलिए नाराज रहते हैं क्योंकि व्यक्ति उन्हें समय नहीं दे पाता।
लोग क्यों आपसे खुश नहीं रहते log kyun aapse khush nahin rahte
 ( 5 ) एक आदमी सबको खुश नहीं रख सकता है
 यह मनुष्य जीवन की सच्चाई है कि एक आदमी सभी लोगों को खुश कभी नहीं रख सकता। जब कई लोग एक साथ आप से एक जैसी उम्मीद रखते हो तो आप उसे पूरा नहीं कर पाते ऐसी अवस्था में लोग नाराज हो जाते हैं। ऐसे लोगों की भी फिक्र करने कि कोई आवश्यकता नहीं है। क्योंकि आप चाहकर भी सबकी उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सकते। यहां पर नाराज लोगों को भी ध्यान देने की आवश्यकता है कि वे भी  आपकी मजबूरी को समझे। वह दूसरों से ऐसी उम्मीद ना रखे जो पूरी नहीं हो सकती। जिंदगी को वास्तविकता के धरातल पर जीने की कोशिश करें।
होमपेज देखें = www.sitehindi.com