Home Motivation मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti...

मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata

0
SHARE
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
मेहनत से मिलती है सफलता
मेहनत से मिलती है सफलता
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 

किसी भी काम की सफलता इस बात से तय नहीं होती कि आप उस काम के विषय में क्या सोचते हैं क्योंकि संसार का प्रत्येक आदमी जो वह जिस काम को करना चाहता है उसके विषय में बहुत सोचता है। सोचना बुरा नहीं है आप जिस भी काम को करना चाहते हैं उसके विषय में सोचना तो आवश्यक है ही परंतु इस हद तक सोचना भी ठीक नहीं है कि आप सोच में ही मशगूल रहो और कार्य को शुरू ही ना करो। मेहनत से मिलती है सफलता इसलिए मैं कह रहा था सोचना उतना अधिक भी नहीं चाहिए जितना अधिक कार्य को शुरू करके उसे करते रहने में ध्यान देना चाहिए।

मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
 यह ध्यान देना भी जरूरी है कि आप सोच रहे हो तो क्या सोच रहे हो? कहीं आप कुछ ऐसा तो नहीं सोच रहे जो आप के सामर्थ्य से बाहर हैं ? क्योंकि दुनिया में अधिकांश लोग इसी कारण असफल हो जाते हैं कि उनकी सोच क्षमता के दायरे के भीतर नहीं होती। मेहनत से मिलती है सफलता सोच असीमित होती है पर सफलता नहीं। जब आप सोचते हो तो कहां तक सोच लोगे इसका लिमिट नहीं है परंतु आप जब किसी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करते हो तो उसकी लिमिट होती है उसे व्यक्त किया जा सकता है।
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
मेहनत से मिलती है सफलता । आप देखते ही होंगे आसपास सभी चाहते हैं कि वह करोड़पति अरबपति बन जाए। सबकी सोच लगभग यही होती है कि उनके पास गाड़ी बंगला नौकर चाकर कंपनी सब कुछ हो। परंतु क्या सभी इस असीमित सोच को पूरा कर पाते हैं? मैंने तो यही देखा है कि लाखों में कोई एक सफल होता है जो प्रतिभावान होता है। बाकी के सोच सोच ही रह जाते हैं।
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
मेहनत से मिलती है सफलता
मेहनत से मिलती है सफलता
  बात तो सच यही है कि सोचना जरूरी है पर सफलता आपकी सोच नहीं तय करेंगे। किंतु यह भी मानना पड़ेगा कि आपके सकारात्मक सोच सफलता को तय करने में थोड़ा सहारा जरूर देंगे जो कि बेहद महत्वपूर्ण है। यदि सफलता को सही दृष्टि से देखा जाए तो जीवन में सच्चा सफल वही है जो एक बार अपने कार्य को ठान लेता है तो लगातार मेहनत करता रहता है ( मेहनत से मिलती है सफलता ) वह भी बिना किसी हार जीत के चिंता किए। दरअसल सफलता के लिए दृढ़ संकल्प के साथ साथ कार्य में तल्लीन रहना बेहद जरूरी है। आप अपने कार्य को अपना कितना समय देते हैं यह बेहद आवश्यक है आपके सफलता को सुनिश्चित करने में ।
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
कई लोग तो ऐसे मिल जाएंगे जो सोचते तो दिन रात है शेखचिल्ली की तरह पर बात काम करने की आती है तो पूरा समय ना देकर आलस में फंसे रहते हैं। फिर कैसे मिले सफलता भला ऐसे आदमी को? आलस में तो सोचा जा सकता है पर काम तो नहीं किया जा सकता ना? अब जब काम ही नहीं होगा तो सफलता कहां से मिलेगी? मेहनत से मिलती है सफलता ऐसे लोगों की सफलता नींद के स्वप्न की तरह होती है जो नींद के समय तो बहुत ही सुहानी लगती है पर नींद खुलने के साथ ही छूमंतर हो जाती है।
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
मेहनत से मिलती है सफलता
मेहनत से मिलती है सफलता
  एक बात और है कि कोई भी सफल मनुष्य का उदाहरण उठाकर देख लीजिए वह बंदा अपने कार्य से प्रेम बहुत करने वाला होता है। प्रेम ही वह सेतु है जिस पर चढ़कर जब मनुष्य अपने कार्य को संपन्न करने के लिए आगे बढ़ता है तो सफल हो जाता है। मेहनत से मिलती है सफलता तो जिस भी व्यक्ति को सफल होना है उसे अपने काम से प्यार बहुत होना चाहिए। जब कोई व्यक्ति अपने काम से प्यार करता है तो उसका उस काम में दिल लगता है। दिल लगने के कारण ही आदमी अपने काम को अंजाम तक पहुंचाता है। अतः सफलता के लिए सोचना ज्यादा नहीं चाहिए थोड़ा सोचिए सार्थक सोचिए परंतु कार्य ज्यादा अवश्य कीजिए व अपने कार्य को प्यार के साथ कीजिए। फिर कौन रोक सकेगा भला आपको सफल होने से?
मेहनत से मिलती है सफलता सिर्फ सोचने से नहीं mehnat se milti hai saflata
 
  यूं ही पढ़ते रहिए हमारी इस ब्लॉग को और सबस्क्राइब करना ना भुलिए ताकि हमारे ब्लॉग  का ताजा अपडेट आपको समय से मिलता रहे। धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here