Home news and politics भारत के पांच दुश्मन देश जिन पर भारत को कभी नहीं करना...

भारत के पांच दुश्मन देश जिन पर भारत को कभी नहीं करना चाहिए भरोसा

1
SHARE

भारत के पांच दुश्मन देश जिन पर भारत को कभी नहीं करना चाहिए भरोसा

भारत के पांच दुश्मन देश

भारत के पांच दुश्मन देश जिन पर भारत को कभी नहीं करना चाहिए भरोसा

भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था है । आजादी के बाद से ही भारत ने निरंतर तरक्की की है तथा अब तक वह दुनिया को दिखाने में कामयाब रहा है कि वह किसी से भी कम नहीं है । (भारत के पांच दुश्मन देश)आज हमारा देश भारत दुनिया की सबसे बड़ी मिलिट्री ताकतवर देशो में चौथा स्थान रखता है और अगर आर्थिक दृष्टि से देखा जाए तो भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और लगभग 2030 तक यह अनुमान लगाया जा रहा है कि यह दुनिया का दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। (भारत के पांच दुश्मन देश)हालांकि भारतीय अर्थव्यवस्था आज भी दुनिया की दूसरी या तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होती लेकिन चीन और पाकिस्तान के साथ लड़े गए चार पांच युद्ध की वजह से अर्थव्यवस्था की रफ्तार थोड़ी धीमी पड़ गई जिसके कारण हम विकास की वह ऊंचाई नहीं छू सके जिसकी हमें उम्मीद थी ।

भारत के पांच दुश्मन देश

भारत ने कदम कदम पर यह साबित किया है कि वह किसी से कम नहीं है चाहे व्यापार का कोई क्षेत्र हो या चाहे विज्ञान का क्षेत्र हो अथवा चाहे मिलिट्री ताकत की बात आ जाए। लगभग सभी क्षेत्रों में भारत ने अपनी तरफ से विश्व को आकर्षित किया है । भारतीय संस्कृति ने तो बॉलीवुड के जरिए तथा योग के जरिए पूरे विश्व में धूम मचा रखी है । दोस्तों इस बात में कोई दो राय नहीं है कि आजादी के बाद भारत ने बहुत ही तरक्की की है ।(भारत के पांच दुश्मन देश) लेकिन इन सब के बीच कई ऐसे देश भी हैं जो हमेशा से ही अपने कूटनीतिक चालों से वैश्विक स्तर पर भारत का पैर खींचने का प्रयास करते रहे हैं । दोस्तों भारत के पैर खींचने वाले देशों में अमेरिका और चीन दोनों ही शामिल है पाकिस्तान तो दुश्मन है ही।

आइए जानते हैं भारत के पांच दुश्मन देश

तो आज के इस लेख में हम आपके सामने भारत के पांच दुश्मन देश के बारे में बताएंगे जो हमेशा से ही भारत के पीठ में छुरा भोंकने का कार्य करते रहे हैं । इन देशों ने हमेशा ही भारत के विकास कार्यों में अड़ंगा डालने का प्रयास किया है ।(भारत के पांच दुश्मन देश) यह देश इन प्रयासों में में कई जगह पर सफल भी रहे हैं परंतु भारत जैसे देश पर ईश्वर की कृपा ही रही है जो ऐसे दुश्मनों के होते हुए भी लगातार तरक्की करता रहा है। दुश्मनों की आंखों में लाख खटकने के बाद भी भारत आजादी से लेकर आज तक दिन दोगुनी रात चौगुनी तरक्की करता रहा है और कर भी रहा है।

ये हैं भारत के पांच दुश्मन देश

आइए दोस्तों जान लेते हैं भारत के पांच दुश्मन देश के बारे में जो हमेशा ही भारत की राह में रोड़ा बन कर खड़े होते रहे हैं । ये वह देश है जिन्होंने कभी भी भारत को अपने स्तर तक देखना नहीं चाहा और हमेशा यही कोशिश किया कि भारत विश्व स्तर पर उनके बराबरी की उपस्थिति दर्ज ना करा पाए । यह देश हमेशा ही भारत पर पीछे से वार करते रहे हैं अतः यहां चलिए जानते हैं कि भारत के पांच दुश्मन देश कौन कौन से हैं ।

क्या आप भी जानते हैं भारत के पांच दुश्मन देश कौन कौन से हैं

(1) पाकिस्तान ( Pakistan )

भारत के पांच दुश्मन देश

दोस्तों पाकिस्तान वह देश है जो पैदा ही हुआ भारत की दुश्मनी की वजह से है। भारत की तुलना में पाकिस्तान एक बहुत ही छोटा मुल्क है परंतु यह हमेशा ही भारत को तोड़ने के मंसूबे बनाता रहता है। इस देश से भारत के साथ अब तक चार जंगे हो चुकी है और चारों जंगों में पाकिस्तान ने मुंह की खाई है। परंतु यह देश कुत्ते की पूंछ की तरह है जो कभी सीधा नहीं हो सकता ।

भारत के पांच दुश्मन देश ये हैं

जब इसने देखा कि यह भारत के साथ युद्ध कभी नहीं जी सकता तो इसने आतंकवाद का सहारा लेना शुरू किया। यह देश आतंकवादियों को सपोलो की तरह पालता पोसता है जो आए दिन भारत में निर्दोष लोगों की जान लिया करते हैं । मुंबई में जो 1993 में बम ब्लास्ट हुआ था उसका मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहिम को पाकिस्तान ने हीं छुपा रखा है ।(भारत के पांच दुश्मन देश) इसके अलावा लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद  जैसे आतंकी संगठन भी पाकिस्तान से ही संचालित होते हैं । पाकिस्तान आतंकवादियों का नापाक अड्डा है किंतु फिर भी पाकिस्तान खुद को पाक साफ साबित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ता है ।

भारत के अभिन्न अंग कश्मीर को पाकिस्तान हमेशा से ही हथियाने के फिराक में रहा है । इसी मकसद से वह आतंकवादियों को भारत में भेजता रहता है । इसके साथ साथ कंट्रोल लाइन पर हमेशा फायरिंग करता रहता है ।(भारत के पांच दुश्मन देश) वह आतंकवाद जैसे घिनौने कृत्य को अंजाम देता रहता है तथा हमेशा संयुक्त राष्ट्र में यह गुहार भी लगाता रहता है कि वह पाक साफ है और भारत पर इल्जाम लगाता है कि सारी गलती भारत की ही है । जबकि संयुक्त राष्ट्र के साथ-साथ पूरे विश्व के देशों को पाकिस्तान की सच्चाई का पता है ।

( 2 ) चीन ( china )

भारत के पांच दुश्मन देश

  दोस्तों चीन भारत के दुश्मनों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर आता है । भारत के पांच दुश्मन देश में चीन भी शामिल है क्योंकि सबसे पहले तो इस देश ने 1962 में भारत पर हमला किया था वह भी धोखे से । इसके साथ-साथ चीन पाकिस्तान जैसे दहशतगर्द मुल्क का दोस्त भी है तथा पाकिस्तान भारत के साथ जो भी करता है उसमें चीन खुलकर साथ देता है । इसके अलावा आप सभी लोग यह भी जानते हैं कि भारत एनएसजी की सदस्यता प्राप्त करने के लिए कितना पुरजोर कोशिश कर रहा है। यह सिलसिला कई वर्षों से चला आ रहा है परंतु भारत को अभी तक कामयाबी नहीं मिल पाई है । भारत को एनएसजी की सदस्यता ना मिलने का मुख्य कारण चीन है क्योंकि हर बार भारत की कोशिश इसलिए नाकाम हो गई क्योंकि चीन में अड़ंगा लगा दिया । चीन की कंपनियां भारत में बड़े स्तर पर व्यापार करती है जिससे चीन को बहुत ही ज्यादा लाभ होता है । फिर भी चीन ने भारत के साथ धोखा करने में कोई कसर नहीं छोड़ा है।

भारत के पांच दुश्मन देश

चीन हमेशा ही भारत को एनएसजी की सदस्यता देने पर यह  कह कर  अडंगा लगा देता है कि भारत ने परमाणु अप्रसार संधि पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं इसलिए भारत को एनएसजी का सदस्य नहीं बनाया जा सकता है । इसके अलावा चीन चारों तरफ से भारत को  घेरने का कार्य कर रहा है । इसके लिए उसने कई देशों के बंदरगाहों को लीज पर लिया है । यहां तक कि भारत का पड़ोसी देश जो भारत को अपना बड़ा भाई कहता था उसको भी चीन ने अपने कूटनीति का शिकार बना कर भारत से अलग थलग कर दिया । इसके अलावा वह नेपाल में अपने सैनिकों को पाल पोस रहा है ताकि अवसर प्राप्त होते ही वह भारत की सीमा पर आक्रमण कर पाए ।

(3) तुर्की  ( turkey )

भारत के पांच दुश्मन देश

तुर्की एक ऐसा देश है जिससे सीधे तौर पर भारत से किसी प्रकार की दुश्मनी तो नहीं है लेकिन यह भारत के पांच दुश्मन देश की लिस्ट में तीसरा स्थान रखता है। दरअसल यह देश कई मौकों पर दुश्मनों के जैसा व्यवहार किया है और यह देश भारत का साथ तो कभी देता ही नहीं है । तुर्की के साथ भारत का रिश्ता शुरू से ही तीखा रहा है क्योंकि भारत के प्रति इस देश की कूटनीति दुश्मनों वाली है । बहुत सारे अवसरों पर यह भारत का विरोध करता रहा है । जब 1971 में भारत पाकिस्तान की लड़ाई हुई थी तब वह पाकिस्तान के साथ खड़ा था। फिर भारत को एनएसजी की सदस्यता देने के मामले में भी यह देश भारत के विरोध में खड़ा था । तुर्की हमेशा से ही पाकिस्तान के साथ खड़ा रहा है यहां तक कि जब पाकिस्तान गलत होता है तो भी वह पाकिस्तान का ही साथ देता है । अतः भारत के पांच दुश्मन देश में से तुर्की भी एक है ।

(4) अमेरिका ( America )

भारत के पांच दुश्मन देश

दुनिया में कोई और देश किसी और देश का मित्र हो सकता है परंतु सब जानते हैं कि अमेरिका किसी का भी दोस्त नहीं होता है । अमेरिका दुनिया का इकलौता ऐसा देश है जो अपने फायदे के लिए कुछ भी कर सकता है । हालांकि अमेरिका की छवि अब भारत के मित्र देशों के जैसी बन गई है किंतु सच्चाई तो यही है कि अमेरिका शुरू से ही भारत का विरोधी राष्ट्र रहा है। वैसे अमेरिका यह कहता है कि वह भारत का मित्र देश है पर इसमें कुछ दम नहीं है । क्योंकि कई अवसरों पर अमेरिका को भारत से पल्ला झाड़ते हुए देखा गया है। हालांकि समीकरण कुछ बदलने लगा हैं और अमेरिका भारत के बहुत ही करीब आया है। फिर भी इस पर भरोसा नहीं किया जा सकता अतः इस लिहाज से देखा जाए तो भारत के पांच दुश्मन देश में अमेरिका भी शामिल है ।

अमेरिका भारत के पांच दुश्मन देश में इसलिए शामिल है क्योंकि वह हमेशा ही भारत के खिलाफ होते रहे आतंकवादियों को कुचलने में भारत की सहायता करने की बात करता रहा है परंतु उसने कभी भी भारत का साथ नहीं दिया है। यहां तक कि अमेरिका भारत के खिलाफ आतंकवादियों का पनाहगाह बने पाकिस्तान को हथियार सप्लाई करता रहा है । कई बार पाकिस्तान ने भारत पर आक्रमण इसलिए किया क्योंकि उसके पास अमेरिका से मिले हथियार थे जिससे उसे लगता था कि वह भारत को आसानी से हरा देगा। लेकिन वह ऐसा कुछ कर तो नहीं पाया परंतु इन हरकतों से यह साबित हो गया कि अमेरिका भारत के पांच दुश्मन देश की श्रेणी में शामिल है ।

(5) ब्रिटेन ( Britain )

भारत के पांच दुश्मन देश

आप सभी ब्रिटेन का नाम सुनकर आश्चर्यचकित जरूर हो गए होंगे लेकिन यह भी एक सच्चाई है । भारत के पांच दुश्मन देश के लिस्ट में इसका भी नाम है क्योंकि इस देश ने भारत पर 200 सालों तक राज तो किया ही है पर आज भी इस देश का नजरिया भारत के प्रति कुछ खास अच्छा नहीं है । हालांकि भारत जैसे जैसे तरक्की कर रहा है और जैसे-जैसे सुपर पावर बन रहा है वैसे वैसे इस देश का नजरिया बदल रहा है । परंतु अभी तक कुछ खास बदलाव नहीं हुआ है । भारत के पांच दुश्मन देश की लिस्ट में ब्रिटेन को इसलिए शामिल कर रहा हूं क्योंकि अमेरिका और ब्रिटेन दोनों देश एक ही जैसे हैं । यह दोनों ही देश एक तरफ तो भारत के साथ हाथ मिलाते हैं वहीं दूसरी ओर यह देश आतंकवादियों का साथ देने वाले देशों का मदद भी करते हैं । अतः इनपर किसी भी हाल में भरोसा नहीं किया जा सकता।

भारत के पांच दुश्मन देश

  दोस्तों इस लेख में हमने आपको बताया कि भारत के पांच दुश्मन देश कौन कौन से हैं । भारत की कूटनीति को देखते हुए भी ऐसा लगता है कि भारत को पूर्णत: यह पता है कि यह पांचों देश कभी भी हमारे दोस्त नहीं हो सकते हैं । वास्तव में यह पांचों  देश दिखते तो दोस्तों के जैसे ही है परंतु वास्तविकता यही है कि यह भारत के पांच दुश्मन देश हैं जो अवसर पाते ही कभी भी विश्वासघात कर सकते हैं । ऐसे में हम सभी भारतीयों को भी भारत के पांच दुश्मन देश के सच्चाई के बारे में जानकारी अवश्य ही होनी चाहिए।

भारत के मित्र देश यह हैं जो भारत की रक्षा और सहयोग के लिए हमेशा रहते हैं खड़े 

होली का त्यौहार क्यों मनाते हैं और क्या है इसे मनाने के पीछे का कारण?

भारत हमेशा ही प्रेम का मुल्क रहा है bharat hamesha hi prem ka mulk raha hai

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here