आदमी के लिए कुछ असंभव होता ही नहीं है असंभव तो एक वहम है

0
85

आदमी के लिए कुछ असंभव होता ही नहीं है असंभव तो एक वहम है

आदमी के लिए कुछ असंभव होता ही नहीं है असंभव तो एक वहम है

आदमी के लिए कुछ असंभव होता ही नहीं है असंभव तो एक वहम है

दोस्तों इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है । सच में इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है । हकीकत तो यह है कि जब आदमी किसी कार्य को नहीं कर पाता या फिर उसके पास उस कार्य को करने का सामर्थ नहीं होता तो वह उसे असंभव मान लेता है , किंतु जरा सोचिए क्या किसी भी कार्य को असंभव मान लेने से वह संभव हो जाता है ? मुझे तो नहीं लगता कि ऐसा होता है । सदियों पहले आसमान के रास्ते सफर करना असंभव था परंतु क्या आज असंभव है ? नहीं ना! आज तो इंसान जहाज में सफर कर रहा है इसका अर्थ यह है कि हवा में सफर करना असंभव नहीं था, सदियों पहले बल्कि मानव जाति ही समर्थ नहीं था।

इसलिए मैं कहता हूं कि आदमी असमर्थ होने पर किसी भी कार्य को असंभव मान लेता है किंतु एक्चुअली असंभव नाम की कोई चीज होती ही नहीं है। आज के आधुनिक युग में विज्ञान द्वारा जितना भी हासिल किया गया है कल तक हमारे पूर्वजों के लिए असंभव था । क्या कभी हमारे पूर्वजों ने सोचा होगा कि भविष्य में हम इतने आगे बढ़ जाएंगे ?

अतः किसी भी कार्य को करने से पहले उसे असंभव मत मानिए। यह मत सोचिए कि आप से अमुक कार्य नहीं होगा। आपको बस इतना सोचना है कि उस कार्य को करने के लिए क्या सामर्थ्य चाहिए और उस सामर्थ्य को हासिल कैसे किया जाएगा ? इसके बाद जुट जाइए समर्थवान बनने के लिए । जिस दिन भी आप समर्थवान बन जाएंगे उस दिन असंभव कार्य आपको संभव दिखाई देने लगेगा । तब आपके ही जलवे होंगे ।

भारतीय लोगों के शब्दकोश में तो असंभव जैसा कोई शब्द होना ही नहीं चाहिए । यहां तो हमेशा असंभव संभव में तब्दील होता रहा है । यहां तो डाकू रामायण जैसे धर्म ग्रंथ की रचना करता है तो गांधी जी धोती पहन कर देश को आजादी दिला देते हैं । वही एक चाय बेचने वाला एक अदना सा लड़का मेहनत कर के पहले मुख्यमंत्री बनता है फिर बाद में प्रधानमंत्री बन जाता है । आपने अब्दुल कलाम जी का नाम तो सुना ही होगा कभी उनके जीवन के बारे में पढ़िए जानिए कि कैसे एक साधारण सा बालक जिंदगी की ठोकर उसे भी नहीं जगमगाता और अपने मेहनत और लगन से 1 दिन मिसाइल मैन तथा भारत का राष्ट्रपति बन जाता है । ऐसे लोगों के विषय में जानने समझने से आपको पता चल जाएगा कि वास्तव में असंभव कुछ होता ही नहीं है ।

आप यह जान सकेंगे कि यदि आदमी में साहस और लगन हो तो वह बड़ी से बड़ी मंजिल को हासिल कर सकता है। मित्र हमारे पास ऐसे अनेकों उदाहरण मौजूद हैं जिससे आप सीख लेकर आगे बढ़ सकते हैं और दिन दोगुनी रात चौगुनी आगे बढ़ सकते हैं । परंतु यह आपके सोच पर निर्भर करता है कि आप कितना सकारात्मक सोचते हैं तथा आपके भीतर कितनी आत्मविश्वास है । फिर झांकीए स्वयं के अंदर और कर दिखाइए असंभव को संभव।

भोजपुरी भाषा देश विदेश में सबसे तेजी से समृद्ध हो रही भारतीय भाषा है

भारत में धार्मिक व जातिगत समस्या का समाधान बेहद ही जरूरी है

Hindi me jankari

दिल की आवाज सुनिए सफलता आपको जरूर मिलेगी