Home health and beauty tips Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hindi

Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hindi

0
SHARE

पथरी क्यों होती है और पथरी के लक्षण – Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hindi

Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hindi

पथरी क्यों होती है और पथरी के लक्षण – Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hindi :- अनियमित जीवन शैली और खाने-पीने के गलत तरीकों के कारण आज कल पथरी की समस्या काफी बढ़ती जा रही है। पथरी की शिकायत बहुत दर्द भरी होती है। मतलब इसके कारण होने वाला दर्द बहुत असहनीय होता है। पथरी वैसे तो कही भी हो  सकती है, परन्तु आज कल लोग गुर्दे की पथरी,और पित की पथरी की ज्यादा शिकायत करते है। अक्सर लोग पथरी के इलाज के लिए ऑपरेशन करवाते है या अंग्रेजी दवाई का सहारा लेते है। परन्तु आज हम आपको पथरी के इलाज के कुछ होम्योपैथिक उपचार बताएँगे जिससे आप आसानी से घर पर ही पथरी का इलाज कर सकते है। आइये जानते है कि पथरी क्यों होती है, इसके लक्षण क्या है और कुछ घरेलू उपाय क्या हैं ?

पथरी क्यों होती है और पथरी के लक्षण – Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hind

पथरी में कैल्सियम ऑक्जेलेट या कुछ अन्य क्रीस्टल का एक दूसरे में मिल जाना और कुछ दिनों में समय के बाद धीरेधीरे मूत्रमार्ग में कठोर पदार्थ बनने लगता है जिसे पथरी कहा जाता है। भारत में लगभग हर साल 10 लाख से ज्यादा मरीज पथरी के होते है। कुछ पथरी का आकार छोटा होता जो लगभग कुछ दिनों में ही पेशाब के साथ बाहर निकल जाती है इसके लिए पथरी के मरीज़ को पथरी को निकालने में सहायता के लिए कुछ दवाइयाँ भी लेनी पड़ती है।

पथरी होने के लक्षण – Symptoms of Stone

– बार बार पेशाब आना पथरी का लक्षण होता है।

– शरीर के किसी हिस्से में तीव्र दर्द होना।

– थकान,बेचैनी व उल्टी दस्त आना भी पथरी का मुख्य कारण हो सकता है।

– यूरिन करने पर तेज दर्द का होना।

– पेशाब में गन्दी बदबू आना भी पथरी होने का कारण हो सकता है।

पथरी होने के कारण – Due to stones

ज्यादा देर तक टीवी देखना,कंप्यूटर चलना,वीडियो गेम में उलझे रहना,वासा युक्त आहार का सेवन करना पानी कम पीना ऐसी ही कुछ और आदतों की वजह से पथरी होने की समस्या ज्यादा बढ़ती है। हमारे शरीर में उपशिस्ट पदार्थो का उत्सर्जन अगर किसी कारण वश पेशाब मूत्र के जरिये नहीं हो पता है और वो धीरे धीरे कंकड़ का रूप ले लेते है जो हमारे शरीर की किडनी में जमा होने लगता और ये इकठा होकर पथरी का रूप ले लेती है. मूत्र के वेग को बार-बार रोकना इस रोग का कारण बन सकता है। जिन लोगो को मधुमेह का रोग होता है,उन्हें भी मूत्रपथ संक्रामण रोग हो जाता है। गुर्दो की पुरानी खराबी के कारन भी ये रोग हो सकता है। UTI या मूत्राशय में इन्फेक्शन का होना।प्रोस्टेट का बढ़ना भी इस रोग का कारण होता है।

पथरी से बचने के उपाय – Ways To Avoid Stone

किसी मरीज़ की पथरी खुद निकल जाने पर या उपचार के माध्यम से निकल जाने पर मरीज़ में दोबारा पथरी होने की आशंका रहती है। इसलिए मरीज़ को सजग रहना जरूरी है। इसलिए पुनः पथरी ना हो इसलिए ये सावधानिया वर्तनी जरूरी है।

पथरी के लिए रोकथाम

– पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं ।

– खाने में नमक कम मात्रा में ले और नमकीन,अचार जैसे ज्यादा नमक बाले खाद्या पदार्थ नहीं खाने चाहिए।

– विटामिन C ज्यादा मात्रा में ना लें ।

– साग सब्जी में टमाटर,भिंडी,बैगन,पालक जैसी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

क्या सावधानियां बरतें

लगातार एक स्थान पर ज्यादा देर तक नहीं बैठना चाहिए,और पेशाब को भी ज्यादा देर तक रोकना नहीं चाहिए। रोज़ सेव के सेवन तथा इसके जूस का सेवन करे इससे पथरी नहीं बनती है। क्योंकि सेब पथरी को बनने ही नहीं देता है। दिन में तीन से चार बार गाजर का जूस कुछ दिनों तक पीने से भी पथरी पेशाब के रास्ते से बाहर निकल सकती है।

मैं आशा करता हूँ की आपके लिए हमारी यह लेख पथरी क्यों होती है और पथरी के लक्षण – Why Are Stones And Symptoms Of stones In Hind फ़ायदेमंद साबित हुई होगी। अगर आप इसके बारे में कुछ और जानना चाहते है या पूछना चाहते है तो आप comment करके पूछ सकते है।

Causes Of Stomach Gas And Home Remedies – पेट में गैस बनने के घरेलू इलाज

Home Remedies for Bladder Stones – मूत्राशय की पथरी का घरेलू इलाज

Tips on Getting BP Low in Hindi – BP Low होने पर तुरंत करें ये उपाय

Home Remedy For Gallstones in hindi – पित्त की पथरी का घरेलू इलाज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here