Home Biography Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi डॉ ए. पी. जे. अब्दुल...

Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम की जीवनी

1
SHARE

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम की जीवनी Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi

Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम की जीवनी (Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi) :- डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम एक प्रख्यात भारत के वैज्ञानिक होने के साथ साथ भारत के 11वें राष्ट्रपति भी थे। डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम एक महान व्यक्ति थे। उन्होंने देश के रक्षा अनुसन्धान और विकास संगठन में एक महत्वपूर्ण योगदान दिया । इसके साथ ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को बनाने में भी उनका एक महत्वपूर्ण योगदान रहा।

देश के पहले परमाणु बम परिक्षण में डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम ने मुख्य रूप से साथ दिया और साथ ही भारत के मिसाइल कार्यक्रम में भी उन्होंने मुख्य भूमिका निभाई। इसीलिए उन्हें “मिसाइल मेन” भी कहा जाता है। इसके बाद डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम सन 2002 में भारत के राष्ट्रपति चुने गये और उन्होंने 5 साल तक इस पद पर रहते हुए देश की सेवा की और इसके बाद वह पुनः अपने शिक्षण और सार्वजानिक सेवा के लिए काम करने लगे। डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम (Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi) को देश का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न भी दिया गया और 27 जुलाई 2015 में मेघालय के शिलोंग में एक शैक्षिक कार्यक्रम के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ गया जहाँ उनकी मृत्यु हो गई।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का प्रारंभिक जीवन

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम के एक गाँव धनुषकोडी में एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम जैनुलब्दीन था जो एक नाविक थे और इनकी माता का नाम अशिअम्मा था। इनके (Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi) पिता मछुआरो को नाव किराये पर भी देते थे जिससे इनके घर का खर्चा चलता था। डॉ ए. पी.जे. अब्दुल कलाम का परिवार काफी बड़ा था । ये 5 भाई और 5 बहन थे। डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम पूरा नाम अवुल पकिर जैनुल अविदीन अब्दुल कलाम आज़ाद था।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम की प्रारंभिक शिक्षा 5 वर्ष की अवस्था में रामेश्वरम के एक प्राथमिक स्कूल में ही हुई। इसके बाद उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए उन्होंने अख़बार बाँटने का काम भी किया और सन 1950 में अब्दुल कलाम ने मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से अंतरिक्ष विज्ञान में स्नातक की डिग्री प्राप्त की और इसके बाद उन्होंने एक परियोजना में काम करने के लिए भारतीय रक्षा अनुसंधान एवम् विकास संस्थान में प्रवेश लिया।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का वैज्ञानिक और राजनैतिक जीवन

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम ने 1972 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में अपने वैज्ञानिक जीवन की शुरुआत की और उन्होंने उपग्रह प्रक्षेपण में अहम् भूमिका निभाई। इस परियोजना के चलते उन्होंने निदेशक के रूप में भारत के पहले स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान जिसका नाम SLV3 था के निर्माण में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और इसी से 1982 में रोहिणी नामक उपग्रह को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया था। जो देश के लिए बहुत गर्व की बात थी। इसके बाद उन्हें इसरो लांच व्हीकल प्रोग्राम का काम दिया गया और इन्होने उसे भी सफलतापूर्वक पूरा किया। डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम (Biography Of APJ Abdul Kalam In Hindi) ने स्वदेशी लक्ष्य भेदी मिसाइल को भी बनाया इसीलिए इनको मिसाइल मेन भी कहा जाता है । डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम को “अग्नि” और “प्रथ्वी” जैसी मिसाइल बनाने का श्रेय दिया जाता है।

इसके बाद डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम को 1992 से 1999 तक रक्षा मंत्री के विज्ञान सलाहकार तथा सुरक्षा शोध और विकास विभाग का कार्यभार सौपा गया । इसके बाद उन्हें 22 जुलाई 2002 में भारत का राष्ट्रपति बनाया गया। इसके बाद उन्होंने IIT हैदराबाद और बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी और अन्ना यूनिवर्सिटी में सुचना प्रोद्धोगिकी को पढाया। सन 2014 में उन्हें ब्रिटेन के एडिनवर्ग विश्वविद्यालय में उन्हें डॉक्टर ऑफ़ साइंस भी दिया गया। 27 जुलाई 2015 में मेघालय के शिलोंग में एक शैक्षिक कार्यक्रम के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ गया जहाँ उनकी मृत्यु हो गई।

Biography Of Bhagat Singh In Hindi भगत सिंह की जीवनी

अपने सभी वादों को पूरा किया है मोदी ने आइए जानते हैं कैसे

Biography Of Laal Bahadur Sashtri In Hindi लाल बहादुर शास्त्री जी की जीवनी

पत्नी पति से छोटी क्यों होनी चाहिए आइए इस धारणा के बारे में जानते हैं
Biography of Rahul gandhi in Hindi राहुल गाँधी की जीवनी

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here