मोदी का नाम जपने से विपक्ष को नहीं मिलेगी कामयाबी

0
4

Opposition will not get success by chanting Modi's name

  भारतीय राजनीति की हालात कुछ ऐसी हो गई है कि विपक्ष एकदम बिखरा हुआ पड़ा है।  जब से नरेंद्र मोदी दिल्ली की सत्ता पर काबिज हुए हैं तब से विपक्ष लगभग भारत की राजनीति में नहीं है । फिलहाल तो सिर्फ कहने की कांग्रेस भारतीय राजनीति में विपक्ष का कमान संभाले हुए हैं । लेकिन वास्तविकता में विपक्ष भारतीय राजनीति में दूर-दूर तक कहीं भी नजर नहीं आती है ।

हालांकि विपक्ष ने मीडिया में हो-हल्ला खूब मचाया है लेकिन फिर भी तमाम प्रयासों के बाद भी विपक्ष को कुछ भी हासिल नहीं हो पाया है । इसका मुख्य कारण यह है कि पूरा विपक्ष नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर केंद्रित हो गया है। विपक्ष उन मुद्दों को उठाने में लगभग असफल रह जाती है जो बीजेपी के लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं ।

Opposition will not get success by chanting Modi’s name

कुल मिलाकर कहा जाए तो विपक्ष को मोदी का नाम जपने से फुर्सत मिले तब जाकर वह आम जनता के मुद्दों व हितों पर ध्यान दें। मैं यह नहीं कहता कि मोदी की आलोचना मत करो लेकिन आलोचना सार्थक करो। अब शाहीन बाग को ही ले लीजिए जिस कानून से मुसलमानों का कोई लेना देना नहीं है मुसलमान उसी कानून को हटाने के लिए धरने पर बैठा है और विपक्ष के नेता भी वही जाकर फोटो खिंचवा रहे हैं। ऐसे में ध्रुवीकरण तो हर हाल में होगा जिसका लाभ सीधा बीजेपी को ही मिलेगा ।

वहीं आर्थिक मंदी बेरोजगारी महंगाई इत्यादि ऐसे मुद्दे हैं जिस पर बीजेपी को घेरा जा सकता है । लेकिन इन मुद्दों पर विपक्ष मजबूत तरीके से बात नहीं रख पाता तथा बीजेपी का डटकर सामना नहीं कर पाता । मीडिया में विपक्ष को जहां भी मौका मिलता है वे इन मुद्दों पर बात करते हैं और मोदी का नाम अधिक जपते हैं जिसका फायदा मोदी को ही होता है ना कि विपक्ष को ।

इस बीच मोदी और अमित शाह की भी यही चाल है कि विपक्ष को सामाजिक और राष्ट्रीय मुद्दों पर उलझाए रखा जाए ताकि कोई उनके सामने बेरोजगारी महंगाई तथा आर्थिक मंदी पर सवाल ना खड़ा करे। लगभग यह चाल कामयाब भी होता दिख रहा है। पूरा विपक्ष तथा मोदी विरोधी लोग मुख्य मुद्दे बेरोजगारी महंगाई को भूलकर एनआरसी और सीएए कानून की चर्चा में लगे हुए हैं ।

लेकिन कुल मिलाकर देखा जाए तो मोदी का विरोध करने तथा दिन-रात मोदी मोदी का नाम जपने से कुछ हासिल होता नहीं दिख रहा है और भविष्य में भी मोदी का नाम जपने से कुछ हासिल होने वाला नहीं है। अगर वास्तव में विपक्ष को कामयाब होना है तो उसे मुख्य मुद्दों जैसे आर्थिक मंदी बेरोजगारी गरीबी महंगाई इत्यादि पर फोकस करना होगा तथा सामाजिक मुद्दों पर फिलहाल बीजेपी को झुका पाना संभव नहीं दिख रहा है।

पहले से मजबूत हुई है मोदी राज में देश की विदेश नीति

Previous article10 dhan labh ke sanket wale sapne 10 धन लाभ के संकेत वाले सपने
Next articleBiography Of Amitabh Bachchan In Hindi अमिताभ बच्चन की जीवनी
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here