biography of Sushma Swaraj in Hindi सुषमा स्वराज की जीवनी

0
5

biography of Sushma Swaraj in Hindi सुषमा स्वराज की जीवनी

biography of Sushma Swaraj in Hindi

सुषमा स्वराज की जीवनी ( biography of Sushma Swaraj in Hindi ) :- दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने वाली सुषमा स्वराज एक भारतीय राज नेत्री और भारतीय जनता पार्टी की सदस्य थी। सुषमा स्वराज 6 बार सांसद भी रह चुकी थी। इनका राजनीति कैरियर काफी उतार चढ़ाव भरा रहा था। यह अपने राजनीति कैरियर में काफी तेज तर्रार वाली महिला थी। यह भारत की विदेश मंत्री भी रह चुकी थी। सुषमा ने अपने जीवन मे कई अनोखे रिकॉर्ड बनाये थे। जैसे की इन्होंने 25 वर्ष की उम्र में कैबिनेट मंत्री का दर्जा सबसे कम उम्र में लिया था। आपातकाल के खिलाफ अभियान में सक्रिय रूप से भूमिका निभाई थी। तो चलिये अब सुषमा स्वराज के बारे में थोड़ा डिटेल में जानने की कोशिश करते है।

सुषमा स्वराज की जीवनी

सुषमा स्वराज ने अपना राजनीति करियर की शुरुआत एक छात्र नेता के रूप में की थी। उन्होंने उस समय की विपक्ष सरकार तब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के खिलाफ उन्होंने कई सारे आंदोलन किए थे। सुषमा स्वराज (biography of Sushma Swaraj in Hindi) एक तेज तर्रार महिला और अच्छी वक्ता थी। आंदोलन करने के बाद उन्हें एक अच्छी पार्टी की जरूरत थी सुषमा स्वराज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई  और यहीं से फिर अपने सफलता के शिखर को छूती चली गई।

यह दो बार भाजपा के टिकट से हरियाणा की महिला विधायक बनी थी। 1998 में पहली बार भारत की राजधानी दिल्ली में महिला मुख्यमंत्री के तौर पर चुनी गई थी। 1996 में जब अटल बिहारी वाजपेई जी की सरकार थी तब इन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का मंत्री नियुक्त किया गया था । यह अपने काम के प्रति हमेशा संजीदा रहती थी। उन्होंने अपने जीवन के अंतिम समय तक पार्टी के प्रवक्ता के रूप में जिम्मेदारी निभाई। इन्होने अपने जीवन काल में देश की राजीनीति में रहते हुए काफी काम किये।

जन्म,पढ़ाई और शादी

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का जन्म फरवरी 1922 के हरियाणा राज्य में अंबाला छावनी में हुआ था। इनके पिता जी का नाम हरदेव शर्मा और माताजी का नाम लक्ष्मी देवी था। उनके (biography of Sushma Swaraj ) पिताजी राष्ट्रीय स्वयंसेवक दल में सदस्य थे । इनकी प्रारंभिक शिक्षा अंबाला छावनी में हुई थी। उन्होंने राजनीति विज्ञान और संस्कृत के साथ बीए ग्रेजुएशन अंबाला छावनी यूनिवर्सिटी में की थी। एलएलबी की पढ़ाई करने के लिए यह चंडीगढ़ में चली गई और उन्होंने वहां से कानून की पढ़ाई की और अपनी
एलएलबी की डिग्री हासिल की। सुषमा स्वराज एनसीसी के कैडेट भी रही थी। शास्त्रीय संगीत कला में और नाटक में भी उनकी विशेष रुचि थी।

सुषमा स्वराज एक वकील थी। इनका विवाह सर्वोच्च न्यायालय के वकील स्वराज कौशल से 13 जुलाई 1975 को हुआ था। स्वराज कौसल 1990 में सबसे युवा राज्यपाल बने थे।

सुषमा स्वराज को मिले पुरस्कार

सुषमा को हरियाणा राज्य विधानसभा द्वारा सर्वश्रेष्ठ स्पीकर का पुरस्कार दिया गया था।

सुषमा को दो बार सर्वश्रेष्ठ सांसद का पुरस्कार भी मिले थे।

इन्हे पद्मभूषण से भी सम्मानित किया जा चुका है

सुषमा स्वराज की मृत्यु 

6 अगस्त 2019 सुषमा स्वराज  की कार्डिएक अरेस्ट नामक बीमारी के चलते मात्र 67 की उम्र में दिल्ली में इनका देहांत हो गया था.

निष्कर्ष

सुषमा स्वराज हमेशा से महिलाओ के लिए प्रेणादायक रही है । उन्होंने सिर्फ महिलाओं के लिए ही नही बल्कि पूरे देश के लिए काफी कार्य किये जिनको हमेशा याद रखा जाएगा।

इसलिए आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सुषमा स्वराज (biography of Sushma Swaraj in Hindi) के बारे जाना। आपको सुषमा स्वराज की जीवनी किस प्रकार प्रेरित हुई हमे कमेंट करके अवश्य बताये। साथ ही इसे शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले।

Biography of Sanjay Ghandhi in Hindi संजय गांधी की जीवनी

सुबह उठने के बाद क्या करना चाहिए आइए जानते हैं

Biography of Sunny Devol in Hindi सनी देओल की जीवनी

व्यक्ति के अच्छे दिन वाले संकेत आइए जानते हैं इस बारे में : – 

Biography of Chandrashekhar Azad चंद्रशेखर आज़ाद की जीवनी

Previous articleBiography of Sanjay Ghandhi in Hindi संजय गांधी की जीवनी
Next articleयह है मोदी जी के अच्छे दिनों के संकेत आप भी जानिए
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here