गर्भावस्था में महिलाये खुद का ख्याल कैसे रखे

0
9

 

How should women take care of themselves during pregnancy

 

 

गर्भावस्था में महिलाये खुद का ख्याल कैसे रखे ? :-  एक औरत के लिए गर्भावस्था का समय बहुत नाजुक होता है, उस वक्त एक औरत को अपनी पूरी देखभाल करने की जरूरत होती है और बहुत चीजों का परहेज भी करना पड़ता है। इस हालत में जितना देखभाल से रहा जाए उतना ही अच्छा होता है इस लिए हम आपको बताने वाले हैं कि एक औरत को गर्भावस्था में अपनी देखभाल कैसे करनी चाहिए और खुद का ध्यान कैसे रखना चाहिए जिससे कोई परेशानी ना आए, गर्भावस्था में कई देखभाल से सी बच्चा और माँ स्वस्थ रहते हैं।

 

खाने का रखें ध्यान

 

गर्भावस्था में औरतों को अपने खान पान का ध्यान रखना आवश्यक होता है, आपको खाने में फ्रूट, पोष्टिक आहार का सेवन आवश्यक करना चाहिए, हेल्थी खाना खाने से ही आप और आपका बच्चा स्वस्थ्य रहेंगे।

 

सप्लीमेंट का इस्तेमाल

 

गर्भाधान के बाद और विशेष रूप से गर्भावस्था के अंतिम दिनों में शरीर में आयरन की अधिक आवश्यकता होती है। इस तरह आयरन की सप्लीमेंट लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करती है। लेकिन अगर आयरन की कमी होती है तो शरीर रोगों से लड़ने के लिए सक्षम नही हो पाता। डिलवरी के समय भी उसे कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आयरन की सप्लीमेंट लेने से इन स्थितियों से निपटा जा सकता है।

 

कॉफी का करें परहेज

 

गर्भावस्था के दौरान बहुत अधिक कॉफी पीना आपके और आपके बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। अगर आप कॉफी पीना चाहते हैं तो हल्की कॉफी पिएं, लेकिन अगर हो सके तो इसका पूरी तरह से परहेज करें।

 

तनाव ना रखें

 

गर्भावस्था के दौरान तनाव भी बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है। गर्भावस्था की शुरुआत में, महिलाएं कई कारणों से तनाव में रहना शुरू कर देती हैं, जिसका शिशु के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है, इस लिए जितना हो सके तनाव से दूर रहकर आप अपने बच्चे को सुरक्षित रख सकते हो।

 

तरल पदार्थों का सेवन करें

 

शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए , इसलिए दिन में 4-5 बार तरल चीजें, जैसे कि छाछ, नींबू-पानी, नारियल पानी, फलों का रस या शेक पीएं शरीर में पानी की कमी नहीं होगी।

 

नींद का रखें ध्यान

 

हर गर्भवती महिला को रात में कम से कम आठ घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए। इसके अलावा, दिन के दौरान एक या दो घंटे के आराम की आवश्यकता होती है।

 

डॉक्टर के सम्पर्क में रहें

 

किसी महिला डॉक्टर के सम्पर्क में रहे और उसके बताए अनुसार ही चले अगर कोई परेशानी होती है तो बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी दवा का सेवन ना करें यह हानिकारक साबित हो सकता है।

 

टिटेनस के इंजेक्शन

 

गर्भावस्था के दौरान, महिला को टेटनस टॉक्सोइड के दो इंजेक्शन चार से छह सप्ताह के अंतराल पर लगाए जाते हैं, जो माँ और नवजात शिशु दोनों में टेटनस को रोकते हैं।

 

नियमित व्यायाम करें

 

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने से गर्भावस्था के दौरान कई जटिलताओं की संभावना कम हो जाती है जैसे उच्च रक्तचाप। इसके अलावा, यह आपके मूड को बेहतर बनाता है, जिससे आप खुश रहती हो।

 

शराब व धूम्रपान का सेवन

 

जब आप गर्भावस्था में होती है तो आपके हर एक चीज़ का किया सेवन आपके बच्चे पर प्रभाव डालता है इसलिए शराब और धूम्रपान का सेवन बिल्कुल ना करें।

 

निष्कर्ष 

 

अगर आप गर्भ से है तो ऊपर दी गयी बाते आपके लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकती है इसलिए  ऊपर दी गयी बातों को आप ध्यान में रखें और समय समय पर डॉक्टर से चेकउप करवाते रहें, जिससे आप बिलकुल सुरक्षित रहोगे। आशा है की आपको इस लेख के जरिये मिली यह जानकारी उपयोगी साबित हुई होगी।

What to do for better sex life बेहतर सेक्स लाइफ के लिए क्या करे

Follow these methods to become pregnant प्रेग्नेंट होने के लिए अपनाये ये तरीके

लड़के लड़कियों में कौन सी बातें पसंद करते है

 

 

 

Previous articleWhat to do for better sex life बेहतर सेक्स लाइफ के लिए क्या करे
Next articleHow should the couple love कपल को प्यार कैसे निभाना चाहिए
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here