Home dream thoughts 6 अशुभ सपने 6 ashubh sapne 

6 अशुभ सपने 6 ashubh sapne 

0
SHARE
6 अशुभ सपने 6 ashubh sapne 
6 अशुभ सपने
6 अशुभ सपने 6 ashubh sapne :- भारतीय संस्कृति में स्वप्न विज्ञान का महत्व बहुत ही अधिक है । क्योंकि यहां पर ज्योतिष शास्त्र का महत्व बहुत ही ज्यादा है और ज्योतिष शास्त्र का ही मानना है कि सपनों के द्वारा व्यक्ति के निकट जीवन में घटने वाली घटनाओं का संकेत मिलता है। ऐसे में भारतीय लोग ज्योतिष विज्ञान के साथ-साथ सपनों के फल पर भी बहुत अधिक भरोसा रखते हैं । तो यहां पर हम आपको 6 अशुभ सपने के बारे में बताने जा रहे हैं। क्या आप भी 6 अशुभ सपने के बारे में जानना चाहते हैं । यदि हां तो लेख पूरा पढ़िए ।
6 अशुभ सपने 6 ashubh sapne 
( 1 )  कनस्तर भरा देखना :- यदि आप नींद की आगोश में कनस्तर भरा देख लेते हैं तो यह  सपना आपके लिए बेहद खराब है । स्वप्न ज्योतिष इस सपने को अशुभ का संकेत मानता है । अतः आपको किसी अशुभ परिस्थिति से सामना करना पड़ सकता है।
 ( 2 )  जलती अंगीठी देखना :- सपने में जलती हुई अंगीठी देखना भी बेहद अशुभ होता है । अगर यह सपना किसी को दिख जाता है तो जातक को अशुभ फलों की प्राप्ति होती है।
 
 ( 3 ) उद्घाटन देखना :- स्वप्न में किसी चीज का उद्घाटन देखना भी व्यक्ति के लिए बड़ा खराब योग लेकर आता है। यह सपना दिख जाए तो समझ लेना चाहिए कि अशुभ का योग बन रहा है।
 ( 4 ) लिखा हुआ कागज देखना :- हम सब वास्तविक जीवन में लिखा हुआ कागज तो अक्सर देखते हैं लेकिन यही लिखा हुआ कागज यदि सपने में दिख जाए तो इसे अशुभ फलों की प्राप्ति का संकेत माना गया है । तो जातक के लिए यह सपना बेहद ही अशुभ होता है।
( 5 ) घंटाघर देखना :-  अशुभ सपनों की श्रेणी में घंटाघर का सपना भी आता है। यदि आप सपने में घंटाघर देख लेते हैं तो समझ जाइए कि यह आपके लिए अशुभ संकेत लेकर आया है । इसलिए आपको सतर्क रहना चाहिए क्योंकि आपको कोई अशुभ समाचार सुनने को मिल सकता है।
( 6 ) सफेद चट्टान :- नींद की अवस्था में सफेद चट्टान का दिखना भी खराब सपना होता है। ज्योतिष शास्त्र इसे अशुभ फल मिलने का संकेत मानता है ।
दोस्तों यहां पर आप सब ने जाना कि 6 अशुभ सपने कौन-कौन से होते हैं जिनके दिख जाने पर अशुभ फल प्राप्त होता है। आशा करता हूं कि यह लेख आप सबको पसंद आया होगा । यह लेख आप सबको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here