इस बात को लेकर इंडिया से डरता है चीन

0
10
इस बात को लेकर इंडिया से डरता है चीन
China is afraid of India on this matter
इस बात को लेकर इंडिया से डरता है चीन :- वर्तमान समय में भारत तथा चीन के रिश्तो में तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में दोनों देश सीमा पर एक दूसरे के आमने सामने खड़े हैं। हालांकि चीन के पास एक बहुत ही बड़ी चिंता है। दरअसल चीन के चिंता का कारण मलक्का जलसंधि है। मलक्का जलसंधि हिंद महासागर में है तथा चीन का अधिकतर व्यापार इसी जलमार्ग से होता है।
  इस बात का डर चीन को हमेशा ही सताता रहता है कि युद्ध की परिस्थिति में कहीं भारत उसके इस जल मार्ग को ही अवरुद्ध न कर दें, क्योंकि भारत यदि ऐसा करेगा तो चीन को बहुत बड़ा नुकसान उठाना पड़ जाएगा। चीन के पूर्व राष्ट्रपति अपने कार्यकाल के दौरान 2003 में इस समुद्री जलमार्ग को लेकर चिंता जता चुके हैं । उस समय उन्होंने इसे मलक्का दुविधा कहा था।
 चीन 80 प्रतिशत तेल की आपूर्ति इसी जलमार्ग के द्वारा करता है । ऐसी परिस्थिति में अगर भारत इस रास्ते को रोक देता है तो अपने समुद्री जहाजों के लिए लंबा रास्ता चुनना पड़ेगा, जिसका आर्थिक बोझ चीन पर बहुत ही ज्यादा पड़ेगा। एक अनुमान के अनुसार यदि भारत चीन का जलमार्ग बंद कर देता है और चीन अपने जहाजों के लिए लंबा रास्ता चुनता है तो उसे 84 अरब डालर से लेकर 200 अरब डालर तक का आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है ।
अपने इस कमजोरी को चीन अच्छी तरह से जानता है तथा इसका विकल्प ढूंढने की भी कोशिश करता रहता है। चीन थाईलैंड के साथ नहर भी बनाना चाहता है जिसको थाई कैनाल के नाम से भी जाना जाता है। यदि यह नहर बन जाता है तो चीनी जहाजों को मलक्का जलसंधि से आने जाने की कोई मजबूरी नहीं रहेगी। परंतु थाईलैंड ने हाल ही के दिनों में इस परियोजना से मना कर दिया है।
Previous articleअगर जंग हुई तो इंडिया से हार जाएगा चीन
Next articleअयोध्या में उद्धव ठाकरे का स्वागत नहीं विश्व हिंदू परिषद
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here