Home dream thoughts सपनों का फल कब मिलता है sapnon ka fal kab milta hai

सपनों का फल कब मिलता है sapnon ka fal kab milta hai

0
SHARE
सपनों का फल कब मिलता है sapnon ka fal kab milta hai 
सपनों का फल कब मिलता है
सपनों का फल कब मिलता है sapnon ka fal kab milta hai :- हमारे भारतीय संस्कृति में यह तो माना ही जाता है कि सपनों का फल इंसान को प्राप्त होता है । लेकिन बहुत से लोगों के मन में यह सवाल होता है कि सपनों का फल कब मिलता है। अर्थात इंसान कब सपना देखता है तो उसे स्वप्न फल मिलता है और कब देखता है तो उसे स्वप्न फल नहीं मिलता है । तो आपके मन में भी यह प्रश्न है कि कब देखे हुए सपने का फल सच होता है तो इस लेख को पूरा पढ़ लीजिए उत्तर मिल जाएगा ।
सपनों के बारे में रात्रि के समय देखे गए सपनों का फल रात्रि के विभिन्न चरणों तथा पहरो के आधार पर कब बताया गया है जिसका वर्णन इस प्रकार है ।
सपनों का फल कब मिलता है sapnon ka fal kab milta hai 
( 1 ) ऐसा माना जाता है कि रात को 12:00 बजे से पहले देखा जाने वाला सपना मानसिक विकृति के कारण आता है तथा इसका व्यक्ति को कोई भी फल नहीं मिलता है । अतः ऐसे सपनों को इग्नोर कर देना ही बेहतर होता है क्योंकि ऐसे स्वप्न का कोई भी मतलब नहीं होता है ।
( 2 ) जो सपने 12:00 से 1:00 के बीच में देखे जाते हैं उनका फल व्यक्ति को 3 साल में कभी भी फलित हो सकता है।
( 3 ) जो सपने 1:00 से 2:00 के बीच में दिखते हैं उनका स्वप्नफल 1 वर्ष के बीच में सपना देखने वाले जातक को प्राप्त होता है।
( 4 ) जो सपने 3:00 से 4:00 के बीच में आते हैं उनका फल 6 महीने में फलित होता है । अर्थात इस सपने का फल 6 महीने में मिलता है ।
( 5 ) अगर कोई व्यक्ति 4:00 से 5:00 के बीच में कोई सपना देखता है तो उसे इसका स्वप्नफल 3 महीनों में प्राप्त होता है ।
( 6 ) जो सपने 5:00 से 6:00 के बीच में  प्रातः काल में देखे जाते हैं उनका फल आदमी को एक महीना में प्राप्त होता है।
 ( 7 ) सुबह में आंख खुलने से तुरंत पहले देखे गए सपने को दृष्टांत कहा जाता है। इस तरह के सपने भाग्यशाली लोगों को दिखाई देते हैं। जिन लोगों का मन स्थिर तथा स्वस्थ होता है वही लोग ऐसे सपने देखते हैं। सुबह के समय देखे गए सपने भावी दर्शन अथवा भविष्यवाणी के रूप होते हैं ।
नोट :- मित्रों यह लेख पारंपरिक रूप से प्राप्त ज्ञान पर आधारित है । अतः इस लेख से पाठक की सहमति या असहमति उसके खुद के विवेक पर निर्भर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here