hindi shayari Collection हिंदी शायरी कलेक्शन 

1
65
नमस्कार ! दोस्तों कहते हैं कि जिंदगी एक शायरी है। इंसान अपनी हर बात को एक शायरी की तरह जी सकता है । हालांकि यह बात अलग है कि सभी लोग अपनी हर बात में शायरी नहीं ढूंढ पाते हैं । और जो आदमी अपनी हर बात में शायरी तलाश लेता है वही एक शायर कहलाता है। खैर यहां पर आप शायर हो या नहीं हो इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि यहां पर हम आपके लिए लाए हैं हिंदी शायरी hindi shayari Collection का कलेक्शन, जिसे पढ़कर आप भी अपने अंदाज को शायराना बना सकते हैं । तो हिंदी शायरी के अगर आप भी मुरीद है तो यह पोस्ट आप ही के लिए है । यहां पर हम आपके लिए बड़ी संख्या में हिंदी शायरी hindi shayari Collection प्रस्तुत करने जा रहे हैं । तो आइए शुरू करते हैं हिंदी शायरी hindi shayari Collection का सिलसिला।
 
 
 
 
 
 
 
 
 
हिंदी शायरी कलेक्शन hindi shayari Collection
hindi shayari Collection
 

( 1 ) 

हम रात भर खोए रहे उनकी खयालों में,

उसके बाद ढूंढा उनको सुबह के उजालों में,
मगर वह कहीं भी मुझको नजर आए नहीं ,
जिनका हुस्न है अलग सभी हुस्न वालों में।
  ( 2 )
हम खोए रहते हैं सिर्फ उनकी खयालों में,
उठते हैं तो ढूंढते हैं सुबह के उजालों में,
मगर वह अब कभी नजर आने वाले नहीं है,
जो बड़े लाजवाब थे सभी हुस्न वालों में।
 ( 3 ) 
अब हो गया मेरे सनम इख्तियर तेरा,
पतझड़ मेरा हो गया और बाहर तेरा,
मुद्दतों से मेरे दिल को था इंतजार तेरा,
बना दिया है दीवाना मुझे प्यार तेरा ।
( 4 )
यह मेरा दिल है जख्मों का संसार है इसमें,
सारी दुनिया के गम दर्द  आबाद है  इसमें ,
एक दिन जिसके पर को काट दिया था तूने,
उसी बेजुबान पंछी के फरियाद है इसमें ।
( 5 ) 
लड़कों के दिल में है फैली रोशनी हसीनों से,
यहां मांगता है चांदनी चांद भी हसीनो से ,
मगर गम वालों की फितरत तुम्हें पता नहीं है,
टूटने वालों को होती है दुश्मनी हसीनों से ।
( 6 ) 
दुनिया की नजरों में मैं अनजान हूं तो क्या ,
दोस्तों के बीच मेरी पहचान अलग है
लड़कियों से ना जाने मुझे कैसी है नफरत
मेरी फितरत अलग है मेरी जहान अलग है ।
( 7 )
सुनकर यह खबर देखो हवा चलने लगी है
घर से कोई निकला है हाथों में चिराग लेकर
मुझे जिंदा जलाने की ख्वाहिश है तुम्हारी तो
मैं शौक से जल जाऊंगा तुम आओ आग लेकर।
 ( 8 ) 
कागज की नाव पानी में कब तक चलाओगे
मुझ दिलजले का दिल और कब तक जलाओगे
बड़ी चैन से सोया हूं चली जाओ यहां से तुम
अब कब्र के पास बैठकर यूं कब तक रुलाओगे
( 9 )
मेरी लाश पर आकर तुम मातम नहीं करना
अगर मैं चला गया तो गम नहीं करना
बस याद करना उन कसमो को उन वादों को
अपनी आंखों को आंसुओं से नम नहीं करना ।
( 10 ) 
जिंदगी जीना इतना आसान नहीं रहा
मिट गया सब कुछ मेरा जहान नहीं रहा
यह फूल यह बहार सब बेकार है मेरे लिए
मैं जिंदा लाश हो गया जब से मेरा जान नहीं रहा
( 11 ) 
मैं हाथ की लकीरों में तकदीर ढूंढता रहा
जैसे कोई रांझा अपनी हीर ढूंढता रहा
सामने तुम जब आए तो देखा नहीं जी भर
अब तक तो मैं तुम्हारी तस्वीर ढूंढता रहा ।
( 12 )
हथेली में मैं अपनी तकदीर ढूंढता रहा
जाने कहां-कहां मैं अपनी हीर ढूंढता रहा
कहां किस दुनिया में चली गई मुझे छोड़कर
दरबदर आंखों में लिए तेरी तस्वीर ढूंढता रहा
( 13 ) 
एक नाजुक सा बदन लिए हसीन सा पैगाम दिल में है
बड़े अरसे से एक प्यारा सा नाम दिल में है
उन्हें सोच सोच कर मैं मचल मचल जाता हूं
एक उनके लिए पूरे जहां का एहतराम दिल में है
( 14 )
मेरे दिल में अभी भी थोड़ी कसक रह गई है
उनके आंचल के सुहानी हवाओं की महक रह गई है
अब आ भी जाओ की याद के चिराग ना बुझने पाए
मेरे जिगर के शोलों में अभी थोड़ी दहक रह गई है
हिंदी शायरी hindi shayari Collection
( 15 ) 
राह फूलों से भरा हो या कांटो से भरा
जीवन एक सफर है ,
बस चलते ही रह जाना है मंजिल तक पहुंचने के लिए ।
( 16 )
मैं हूं एक दीवाना मुझसे मिलने को लोग ढूंढते हैं बहाना,
जब भी चाहे आ जाना यार अपनों से क्या शर्माना।
 ( 17 )
सनम दिल लगाकर एक दिन छोड़ ना जाना,
शीशा से भी नाजुक दिल है हमारा इसे तोड़ ना जाना।
 ( 18 )
आंखों में दर्द आज भी है मगर आंसू सूख गए हैं ,
जख्मों को देखता कौन है आंखों को देखता सारा जमाना है ।
( 19 ) 
भले मुश्किल हो जिंदगी के सफर का दामन छोड़ेंगे ना साथ हम ,
पांव में पड़ गए छाले तो क्या कभी चलना छोड़ेंगे ना हम।
 ( 20 ) hindi shayari Collection
तेरा साथ हो ना हो चलना मुझे आता है जीवन के डगर पर ,
अगर राह कांटों भरा भी होगा तो चलकर दिखलाऊंगा मैं।
( 21 )
फलक पर तारे तो बेशुमार हैं ,
मगर मुझको तो बस चांद से प्यार है
( 22 )
प्यार में दीवानगी में कुछ तो ऐसी बात है,
दिन तो कट जाता है गुजरती नहीं रात है ।
( 23 ) 
जब से बनाया हूं दिलरुबा जब से हुआ है किसी से प्यार,
जागती रहती है आंखें नींद क्यों नहीं आती है यार ।
 ( 24 )
दिल में लगी आग और धुआं अभी निकला नहीं,
सब जलकर राख हो गया उसने उफ तक किया नहीं।
 ( 25 )
उस बिछड़े दोस्त से मुझको मिला दिया,
मैं किस कदर अदा करूं खुदा का शुक्रिया ।
( 26 )
सोचता हूं खड़ा होकर छत पर कभी-कभी,
अगर वह साथ होती तो क्या जिंदगी होती ।
( 27 )  
यह सोच कर आज भी तड़पता है मेरा दिल,
अगर तुम साथ होती तो क्या समा होता ।
( 28 )
लाख बार तुझे देखने को दिल चाहा ,
मैंने बस तुझे चाहा और गजब चाहा ।
( 29 )
बहुत बार तुझे देखने की तलब जागी ,
तेरे लिए दिल में चाहत भी गजब जागी ।
( 30 ) hindi shayari Collection
उसकी नजरों से जाम पीकर बच गया ,
न जाने में किस तरीके से बच गया ।
( 31 )
सांस निकलने के बाद लोग फरियाद करते हैं,
जब जिस्म खाक बन जाती है तो याद करते हैं ।
( 32 )
वह पराया हो गया है मिली है खबर ताजा अभी,
मैं जा रहा हूं उठने वाली है मेरी जनाजा अभी ।
( 33 )
आसान ना हुआ सफर तुम्हारी तो फिर कहना,
कुछ दूर मेरे साथ चल कर तो देखो जरा ।
( 34 ) 
मोहब्बत की जाल में फसना था तो दिल तुझ पर आ गया,
वरना तो हम इस खुदगर्ज दुनिया में अकेले ही जी लेते।
 ( 35 )
मेरा दिल खराब था जो तुझ पर आ गया ,
वरना दुनिया में अकेले रहने का हौसला था।
 ( 36 )
बात क्या कहिए उनके अदाओं हुस्न का,
अब तो जाएका बदल गया है शराब का ।
( 37 )
कसम पर कसम और कसम खुदा की खाते हो,
मानते नहीं हो बड़ा कसम खुदा की खाते हो।
( 38 ) 
मुझसे कह रहा था आज तेरा दीवाना,
आज फिर शमा से चलेगा कोई परवाना
( 39 )
अरे हकीम अब जा दवा क्या करेगा तू ,
सिर्फ नब्ज़ चालू है जान कहां है मुझ में।
 ( 40 )
मेरी जान जान ले तू जान मेरी है,
कुर्बान मेरी जान तुझ पर जान मेरी है।
 ( 41 )
मेरे शीशे के घर पर अक्सर उछलते हैं,
मैं फूल फेकता हूं वह पत्थर उछलते हैं ।
( 42 ) 
जुदाई की रात में उन्हें सोच कर काटता रहा,
मैं खुशी बांटता रहा वह गम बांटता रहा ।
( 43 )
हमने उनको हंसाया जो रोते रहे हैं सदा,
इससे बढ़िया कोई इबादत तो नहीं होता है ।
( 44 ) 
सभी खामोश रहते हैं कोई आवाज नहीं करना चाहता है,
बोलकर सच कोई नाराज किसी को नहीं करना चाहता है।
 ( 45 )
हमें इस दुनिया की फिक्र रही उम्र भर,
मैं अपने बारे में कभी भूल कर भी नहीं सोचा ।
( 46 )
मीठा झूठ बोलने का हुनर सीखा नहीं,
कड़वा सच बोलता हूं लोग रूठ जाते हैं हमसे।
 ( 47 )
बेकार की जिंदगी जीने का हुनर हो गया खत्म,
यह दुनिया जैसी है वैसे ही हो गए हैं हम ।
( 48 )
तकदीर का सबसे अजीब खिलौना हूं मैं,
वह जोड़ती है रोज मुझे फिर से तोड़ने के लिए।
 ( 49 )
अगर जख्म से खून ना निकले तो समझ जाना,
इस तरह का जख्म कोई अपना ही दिया होगा।
 ( 50 )
दोस्तों की नजरों में भी वह खराब हो जाते हैं,
जो लोग अपने जिंदगी में कामयाब हो जाते हैं।

 ( 51 )  

हिंदी शायरी hindi shayari Collection
एडियो  को उठाने से कभी कद नहीं बड़ा करते हैं
जो सर झुकाते हैं वह बुलंदियों को छुआ करते हैं ।
( 52 ) 
सबके नजर में बेगुनाह नहीं रहा जा सकता है
इसलिए कोशिश रहे अपनी नजर में बेदाग रहने का ।
( 53 ) 
शब्द भी नहीं मिलते हैं सुकून के इस शहर में
यहां लोग दिल में भी दिमाग लेकर घूमते हैं ।
( 54 ) 
दुनिया ख्वाहिशों की बहुत बड़ी होती है
आओ हम जरूरतों की गली में चलते हैं।
 ( 55 )  
सियासत को लहू पीने की आदत है
वरना इस मुल्क में सब सलामत हैं ।
( 56 ) 
सियासत को लहू पीने की आदत है लगी
वरना इस मुल्क में सलामत है सभी ।
( 57 ) 
खामोशी हजार जवाबों से अच्छी होती है
यह बहुत ही सवालों के आबरू रखती है ।
( 58 ) 
मेरा दिल मचलता है तुझे अपना बनाने के लिए
मेरे सूने से दिल के ख्वाबों को सजाने के लिए
तुझे चाहता हूं पूछता हूं तुम्हारी तस्वीर है दिल में
हम तो सिर्फ तुम्हारे लिए है तू है जमाने के लिए ।
( 59 )
मेरी निगाहें इंतजार करती है इस जमाने से
सनम तुम सामने आओ फिर किसी बहाने से
सिर्फ तुम ही तो रहती हो दूसरा नहीं है कोई
फिर क्यों झिझकते हो मुझे अपना बनाने से ।
( 60 ) 
हिंदी शायरी hindi shayari Collection
गैरों की महफिल में कैसे तुझे सदा देते हैं
पा भी जाते तो आकर तुझे गवा देते हैं
हमें अपना गम तुम ही ने ना सुनाया वरना
हम ऐसे दुआ करते कि आसमां हिला देते ।
( 61 ) 
जी कर भी नहीं चैन आया मर कर भी नहीं चैन आया
आया अभी तो बस तेरे दर पर ही मुझे चैन आया ।
( 62 )
चाहत अपनी ऐसे नाकाम ना होने दूंगा
ऐसे मोहब्बत को बदनाम ना होने दूंगा
इतनी जल्दी कब्र ना खोदो मेरे दुश्मनों
यू नाम अपना मैं गुमनाम ना होने दूंगा।
( 63 )
उसे देखते ही मेरा दिल गया
जिसकी चाहत थी वह साथी मिल गया
दुआएं अब तक की नाकाम रही मगर
इस बार की दुआ से आसमान हिल गया ।
( 64 )
एक और गजल इस नए दौर में लिख बैठा
किसी पत्थर को खिलता कमल लिख बैठा
एक शेर में मेरे कलम से मुमताज निकला
दूसरे में लिखा तो ताजमहल लिख बैठा ।
 ( 65 ) 
दिल का कसूर है या तेरी निगाह का
नींद भी चैन भी सब गवा दिया मैंने ।
( 66 )
बाजार में लूट जाते तो बात ही कुछ और थी
अफसोस बस इतना है कि तनहाई में लूट गए हैं
( 67 )
मत पूछो मेरे मुस्कुराने की वजह मुझसे
अपने घर को फूंक कर सदमा लगा है मुझे ।
( 68 ) 
हर मुसीबत में महफूज रखे खुदा तुझको
मैंने सर झुका कर यही दुआ मांगा है ।
( 69 ) 
खुदा तेरा कानून अच्छा है मगर
गम के मारो का भी कुछ इंतजाम कर ।
( 70 ) 
हिंदी शायरी hindi shayari Collection
अब तो हर हाल में गांव जाना ही पड़ेगा
वादा मिलने का कर लिया है मैंने सावन में ।
( 71 ) 
मैं तो तड़प कर रोता रहा अक्सर
उनका पता नहीं हंसते होंगे शायद ।
( 72 ) 
खुदा सजदा करूंगा अब तेरे कदमों में
बड़े बेताब से आए हैं वह मेरे आंगन में ।
( 73 )
हवा के रुख का क्या यकीन किया जाए
आज पूरब से चले कल चले पश्चिम से ।
( 74 )  
तुम्हें देखकर फूल खिल गए दिल की गुलशन में
कैसे इजहार करूं इश्क का , हूं बड़ी उलझन में।
 ( 75 )
क्या कहूं मैं खुद ही समझ जाओ मेरे दोस्त
मुझे यही कहना है कि मैं कुछ नहीं कहता ।
( 76 )
जानेमन बदगुमानिया दिल से निकाल दो
मैं बेवफा हूं हरगिज़ ना ऐसी मिसाल दो
( 77 )
मैंने तो देखा मोहब्बत से उसकी तरफ
उसने खंजर चला दिया मुस्कुरा कर के ।
( 78 )
हम भी वफादार थे तुम भी वफादार थे
फिर बेवफाई होना किस्मत का खेल था।
 ( 79 ) 
तुम भी दीवानी थी हम भी दीवाने थे
फिर बिछड़ जाना अपने किस्मत का खेल था ।
( 80 )
हिंदी शायरी hindi shayari Collection
जिंदगी पर इतना नाज़ ना किया करो
चार दिन साथ देगी फिर बेवफा बन जाएगी ।
( 81 ) 
जिंदगी पर इतना भी गुरुर मत करो
जिंदगी दगा देगी तो मौत काम आएगी ।
( 82 )
जिंदगी चार दिन के सफर का नाम है
बस आखिरी और पक्की दोस्ती का वादा मौत से है।
 ( 83 ) 
मौत तो यूं ही बदनाम है दुनिया में
वरना कौन है इतना सच्चा हबीब दुनिया में ।
( 84 )
मझदार में साथ छोड़ देते हैं किसी बहाने से
अपने ही वादा करके मुकर जाते हैं साथ निभाने से ।
( 85 )
चलो मिलकर एक नया रास्ता ढूंढते हैं
दुश्मनी खत्म करके एक नया रिश्ता ढूंढते हैं
जो लोग अमन और चैन से रहते हैं दुनिया में
फलक पर उन्हें देखने के लिए फरिश्ता ढूंढते हैं ।
( 86 ) 
जिंदगी में खुद को तो संभाला ना गया
वह कह रहा है आकर संभालो मुझको ।
( 87 ) 
महफिल से मुझे इस कदर उठाया गया है
जिस कदर दुनिया से इंसान उठाए जाते हैं ।
( 88 )
बहुत कोशिश किया मैंने आसमा को छूने की
मगर जमीन से उठकर कदम लड़खड़ा गए ।
( 89 )
मोहब्बत का इस शहर में यही हाल रहा तो
इस दुनिया में अब भला वफा कौन करेगा ।
( 90 ) हिंदी शायरी hindi shayari
मुझे जब मेरे ख्वाबों की मुमताज ना मिली
फिर भला रिश्ता कैसा मेरा ताजमहल से ।
( 91 ) hindi shayari Collection
तेरी गली से गुजरा तो यह जान पाया
मेरे बाद तेरा भी कोई वजूद नहीं है ।
( 92 )
ऐसे ही नहीं शहर में खाक छानता हूं मैं
तुम्हारी कसम तुम्हारा हाल जानता हूं मैं।
 ( 93 )
जिसे दिल से चाहा उससे सहारा छिन गया मेरा
थी मजेदार में कश्ती किनारा छीन गया मेरा।
 ( 94 ) 
इस कदर शहर में पैगाम अमन का दिया जाता है
किया जाता है दंगा और नाम अमन का लिया जाता है।
 ( 95 )
मेरे झुलसे जिस्म को देखकर नफरत ना कीजिए
मैं तो दूसरे की आग बुझाने में जल गया हूं ।
( 96 )
कोई कातिल कोई वहसी कोई पागल दीवाना है
जमाना है जमाना है दीवानों का जमाना है ।
( 97 )
उसकी नाजुक सी बदन ने हम को लूट ही डाला
जिसे मोम समझा मैंने वही दिल का पत्थर निकला ।
( 98 )
जब से आई है वह मेरे जिंदगी में
जिंदगी एक खूबसूरत गजल बन गई है ।
( 99 )
मैंने कलम उठाया था उसका नाम लिखने के लिए
कागज पर देखा तो एक शायरी बन गई थी ।
( 100 ) हिंदी शायरी hindi shayari Collection
मैं जब भी उसका नाम कागज पर लिखता हूं
जाने कैसे एक खूबसूरत ग़ज़ल बन जाती है।

( 101 ) 

तुम अगर मेरे ख्वाबों की मुमताज महल बन जाए
तो मेरी कलम से एक और ग़ज़ल बन जाए
भले ही कोई कलम कर दे मेरी हाथों को
बस एक बार इनसे दूसरा ताजमहल बन जाए ।
( 102 )
दामन को छुड़ा रहे हो नजर को मोड़ रहे हो
जिस दिल से प्यार था उसी को तोड़ रहे हो
चलो एक बार अपना समझ कर मुझे देख लो
आखिर तुम मुझे सदा के लिए छोड़ रहे हो ।
( 103 ) 
घर लौटा शहर से तो सादगी अच्छी लगी
मुझे मिट्टी के दीए की रोशनी अच्छी लगी
सेंककर बासी रोटी जब दीया मां ने नाश्ते में
तो सारे अमीरी से यह गरीबी अच्छी लगी ।
( 103 )
तेरी महफिल को रोशन किए कहां कहां के लोग
पतझड़ में लुटते रहे सिर्फ गुलिस्ता के लोग ।
( 104 ) 
लोग रोशनी का लुत्फ ले रहे थे
और एक तरफ मेरा घर जल रहा था ।
( 105 ) 
जमी तो जमी है सारा आसमां जलता है
चिराग ए मोहब्बत से सारा जहां जलता है ।
( 106 ) 
दामन को छुड़ाते हुए नजर को मोड़ते हो
नाज था जिस दिल पर उसी को तोड़ते हो ।
( 107 ) 
मुझे एक बार देख लो अपना दोस्त समझकर
जब हमें सदा के लिए छोड़कर जाना है तो ।
( 108 )
जब घर लौटा तो गांव की सादगी अच्छी लगी
शाम को मिट्टी के दीए की रोशनी अच्छी लगी ।
( 109 )
जब मैंने सुबह बासी रोटी सेक कर नाश्ते में लिया
मुझे हर अमीरी से यह गरीबी प्यारी लगी ।
( 110 ) हिंदी शायरी hindi shayari Collection
इस जहां में एक हम ही तुझे बेगाने नजर आते हैं
बाकी तो तेरी महफ़िल में आए हैं कहां कहां के लोग ।
( 111 )
तुम्हारी तरह तुमसे मोहब्बत मुझे भी है
प्यार की तेरे जरूरत मुझे भी है
( 112 )
डरता हूं करने में तुझसे इजहार ए मोहब्बत
मगर दिल में तुझसे मोहब्बत मुझे भी है
( 113 ) 
ऐसा ना सोच कि शिकवा गिला करने आया हूं
बस देखने एक नजर महफ़िल में तेरी आया हूं ।
( 114 ) 
कोई महलों में खुशनुमा है कोई आशियाने में खुश
जा तुझे गुलशन मुबारक हो मैं हूं वीराने में खुश ।
 ( 115 ) 
मैंने तोड़ डाला आज अपनी सारी कसम
तू घर के पास खुश है मैं तो मयखाने में खुश ।
( 116 )
निगाह ऐसी की तीर हो जैसे
जुबान ऐसे की शमशीर हो जैसे ।
( 117 ) 
बहुत होंगे रांझा इस शहर में मगर
मिलने वाली नहीं कोई यहां हीर की तरह।
 ( 118 ) 
वादा किया है उसने आज फिर आने के लिए
ए खुदा उससे बात करने का मौका दे दे ।
( 119 )
सबके सामने वह अनजान बने बैठे हैं
वही तो मेरे दिल का मेहमान बने बैठे हैं ।
( 120 ) हिंदी शायरी hindi shayari Collection
कौन है जो नजरों से तेरे कत्ल हो नहीं सकता
तेरे बिना तो किसी शायर से गजल हो नहीं सकता ।
( 121 ) 
यूं ही लोग कहते हैं ताजमहल तुझको
ताजमहल तुमसे हसीन हो ही नहीं सकता ।
( 122 )
जाने क्यों लड़कियां हाथों पर दिल का खून लगाती है
कोई पाबंदी तो नहीं हाथों पर मेहंदी लगाने पर ।
( 123 ) 
मुझसे अब खुदा की इबादत मुमकिन नहीं रहा
एक शख्स मेरे दिल का भगवान बना बैठा है ।
( 124 )
चांद सूरज सितारे सबसे सजदा करवाता
मुमकिन होता तो आसमान को भी झुका देता
ए सनम मुझे प्यार है इतना तुमसे की
कदमों में तेरी सारी दुनिया को झुका देता।
 ( 125 ) 
कब्र के भीतर सोए हुए मुर्दे तड़प गए
मेरे दिल का जख्म देखकर खंजर तड़प गए
मेरे दिल की जहां का गम देखा ही ना गया
मैं इस तरह रोया की सातों समंदर तड़प गए ।
( 126 )
आज हुई है तुमसे इस तरह मिलने की तमन्ना
जिस तरह शाम को होती है सितारों की तमन्ना ।
( 127 )
तू ही बचा सकता है मेरी कश्ती और मुझे
खुदा तूफान में भी है किनारे की तमन्ना मुझे ।
( 128 ) 
मैं वाकिफ हुआ तब उसके जुनून से
जब कत्ल कर गया वह बड़े सुकून से ।
( 129 )
देखो बदले की अदा उसकी कितनी संगीन है
उसने मुझे ही नहला दिया है मेरे खून से ।
( 130 ) हिंदी शायरी hindi shayari Collection
मौत जरा ठहर जा उससे मैं बात कर लूं
मरने से पहले उनसे एक मुलाकात कर लूं।
 ( 131 ) 
हम तो जिंदगी में बड़ा सब्र से काम लेते हैं
तुम्हारी याद आती है तो दिल को थाम लेते हैं ।
( 132 )
ए दोस्त मेरा यादगार बना लेना इस शहर में
इसलिए हम तुझको अपना मकान देते हैं ।
( 133 ) 
शक जिस बात का था वही बात हो गई
मेरे मिट्टी के घर पर बरसात हो गई।
 ( 134 )
मुझे मेरी औकात पता चल गया
जब फलक से मैं जमीन पर गिर गया।
 ( 135 )
अपने बंदों के लिए एक काम तो कर दो
खुदा जिंदगी का हुनर आम तो कर दो ।
( 136 )
मेरे देश में क्या हो गया है सुकून का
लोग संभाल नहीं पाते आंधी अपने जुनून का।
 ( 137 )
खुदा तू सबका दाता है सब तेरे हाथ में है
तू अगर चाहे तो सुबह को शाम कर दे ।
( 138 )
निर्भया के दरिंदे गए लेकिन सौ तैयार बैठे हैं
इन दरिंदों को फंदा लगाओ यह इसके हकदार बैठे हैं।
 ( 139 ) 
इसमें कुछ कंस है तो कुछ रावण के अवतार हैं
अपहरण लूट हत्या इनके यही व्यापार है ।
( 140 ) हिंदी शायरी hindi shayari Collection
जफा का जवाब वफा से दिया करते हैं
प्यार करने वालों की यह आदत नहीं जाती ।
( 141 )
मोहब्बत में इस तरह से मजबूर हो गए
कि हम गमो की दुनिया से बहुत दूर हो गए
हमसे यह सजा अब सहा ही नहीं जाता
दिल में जितने जख्म थे नासूर हो गए ।
( 142 )
बहाने बहुत करते हैं लेकिन चूक जाते हैं
खंजर चलाते हैं लेकिन निशाने चूक जाते हैं।
 ( 143 )
उजाले के लिए नया अफताब लाएंगे
वतन के लिए खुशबू ए गुलाब लाएंगे
हम मिलकर कुछ करते हैं आओ नौजवानों
आखिर हम ही तो इस देश में इंकलाब लाएंगे ।
( 144 ) 
अपने सारे घोटालों का हिसाब देना है
अपने बुरे कर्मों का बनाकर किताब देना है
हम देश के युवा तुम को सुधार कर छोड़ेंगे
लाल किले पर आकर तुम्हें अब जवाब देना है।
( 145 )
चांद का दुनिया में लेगा कौन नाम
हर मकान में हो अगर उजाला चिराग से
मुझे ऐसा आदमी अब तक नहीं मिला
जो बचा सका हो अपने दामन को दाग से ।
 
( 146 )
नदियों को समुंदर में समाते देखा मैंने
तेरी आगोश में बहुतों को जाते देखा मैंने ।
( 147 )
नदिया रुक नहीं सकती पहाड़ चल नहीं सकते
आप भूल सकते हैं मगर हम भुला नहीं सकते ।
( 148 )
वादा निभाना है हर हाल में वादा पूरा करेंगे
हम तुम्हें दिल में बिठा कर तुम्हारी पूजा करेंगे ।
( 149 )
लोग कहते हैं हर चीज मिलती है दुआ से
फिर तो एक बार तुम्हें मांग कर देखेंगे खुदा से ।
( 150 ) हिंदी शायरी hindi shayari Collection
हर धड़कन मेरी देती है दुआ तुमको
सारी उम्र मेरी दे दे खुदा तुमको।
( 151 ) 

कभी इंकार करते हो कभी इकरार करते हो
कैसे करूं यकीन कि तुम मुझसे प्यार करते हो ।
( 152 )
तुम सामने होती हो तो झुक जाती है निगाहें
तुम दूर रहती हो तो तुम्हें ढूंढती है निगाहें ।
( 153 )
मेरे सामने रहती हो तो निगाहें झुक जाती है
जब तुम दूर रहती हो तो निगाहें ढूंढती है तुमको।
 ( 154 ) 
बस यही सोच सोच कर खुश हो जाते हैं हम
तू नहीं तो क्या हुआ तेरी याद तो अपनी है सनम ।
( 155 ) 
यही बस सोच कर खुश होते हैं हम
तू नहीं तो तेरी याद अपनी है सनम ।
( 156 ) 
बन के सनम प्यार की राह में कभी ना जुदा होना
सारी दुनिया खफा हो जाए पर तुम ना खफा होना ।
( 157 ) 
तुम खुदगर्ज हो फिर भी तुमसे बहुत प्यार है
बेकरारी है दिल में मेरी आंखों में इंतजार है ।
( 158 )
कभी होते नहीं दूर जो दिल में रहा करते हैं
वह दोस्त है हम जो किस्मत से मिला करते हैं ।
( 159 ) 
खिलना फूलों को सिखाया नहीं जाता
चमकना किरणों को सिखाया नहीं जाता
अपने आप कोई बन जाता है अपना
अपना किसी को बनाया नहीं जाता ।
( 160 ) 
इतनी बड़ी दुनिया में भला कौन अपना होता है
अक्सर वही धोखा देता है जिस पर भरोसा होता है।
 ( 161 ) 
इस दुनिया में भला कौन अपना होता है
धोखा वही देता है जिस पर भरोसा होता है ।
( 162 ) 
तुम अपना प्यार मेरे लिए कम नहीं करना
मैं अगर नहीं रहा तो आंखें नम नहीं करना ।
( 163 ) 
काली घटा छाती है तो बादल बरस जाते हैं
जब आप की याद आती है तो हम तरस जाते हैं।
( 164 )
याद में तेरे दिल को लुटाते जाएंगे
खाकर जख्म भी खुद को मिटाते जाएंगे ।
( 165 )
मेरे दिल में जो रहते हैं साए की तरह
वह बात करते हैं मुझसे पराए की तरह ।
( 166 )  
तुम्हें गैरों से कब फुर्सत हम अपनों से कहां खाली
चलो हो गया मिलना अब ना हम खाली न तुम खाली।
 ( 167 ) 
होठों से हंसी जाने के बाद हंसा सकता है
कौन आंखों से नींद जाने के बाद सुला सकता है कौन
जब आग लगती है तो पानी से बुझा लेते हैं
आग दिल में लग जाए तो बुझा सकता है कौन।
( 168 ) 
हम चले हैं लेकर नजरों में तेरे हसीन नजारे
अब काट ही लेंगे जिंदगी तेरी याद के सहारे।
( 169 )
सब कुछ लुटाने तेरी राहों में निकले
चाहता हूं मेरा दम तेरी बाहों में निकले ।
( 170 ) 
उदास क्यों हो गया दिल क्या बात हो गई
लगता है फिर बेवफा से मुलाकात हो गई ।
( 171 ) 
कुछ इस तरह के दिन थे जब हम मिले थे
फूल चमन में नहीं दिल में खिले थे ।
( 172 )
जख्म तो भूल ही गए पर दाग अभी बाकी है
हम तो मर ही गए नामोनिशान अभी बाकी है ।
( 173 )
भर गए जख्म लेकिन दाग अभी बाकी है
मर गए आशिक लेकिन नाम अभी बाकी है।
 ( 174 )
बस इतनी सी फरियाद है तुमसे की
सारी जिंदगी मेरा नाम याद रखना ।
 ( 175 ) 
बस इतना चाहता हूं आपसे कि
जिंदगी भर मेरा नाम याद रखना।
( 176 )
चांद के साथ में कई गम पुराने निकले
कई गम थे जो तेरे गम के बहाने निकले।
 ( 177 )
उनकी यादों को जलाकर कैसे खाक कर दूँ
जिस खत को मैंने अपने लहू से लिखा था।
( 178 )
हम किसे सुनाएं किसे बताएं क्या मन में है पीर भरी
बीती यादों की आंखों में अश्कों की एक झील भरी ।
( 179 )
किसे चाहूं किसे देखूं किसे अपना समझूं
दुनिया की भीड़ में कोई अपना नहीं मिलता।
( 180 )
इस मतलबी दुनिया में किसे अपना समझूं
चिराग लेकर ढूंढने पर कोई अपना नहीं मिलता ।
( 181 ) 
इस दिल ए नादान की खबर लिया करो
जवाब मेरे खत का जल्दी दिया करो ।
( 182 )
जिसको निगाह तरसती है वह चेहरा नहीं मिलता
मिलते बहुत है मगर कोई तुम सा नहीं मिलता ।
( 183 )
मुझे भूल जाने की हिम्मत नहीं
तुझे याद करने की आदत नहीं
मुबारक हो तुमको तुम्हारी आदत
मुझे तुमसे कोई शिकायत नहीं ।
( 184 )
कोई यह ना कहे कि मुलाकात नहीं होती
वह दिखता तो रोज है मगर बात नहीं होती ।
( 185 )
अच्छा है कि कोई मरता नहीं किसी से जुदा होकर
मगर खुदा किसी को किसी से जुदा ना करें ।
( 186 )
नगमे वह काश हम को सुनाएं ना होते
आज उन्हें सुनकर आंसू आए ना होते
भूल ही जाना था अगर इस तरह से तो
इस तरह से दिल में समाए ना होते।
( 187 )
फूल शबनम में डूब गए
घाव मरहम में डूब गए
मिला नहीं जब कोई सहारा
हम उनकी यादों में डूब गए।
 ( 188 )
इश्क का जाने क्या दस्तूर होता है
जिन्हें दिल से चाहते हैं वही हमसे दूर होता है।
 ( 189 ) 
कश्ती तूफानों में डूब गई
घाव मरहम में डूब गए
जब भी सताई याद तेरी
हम तुम्हारी याद में डूब गए
( 190 )
कोई हसरत नहीं है कोई अरमान नहीं है
दोस्ती के सिवा कुछ मेरे पास नहीं है ।
( 191 )
इस दुनिया में भला कौन किसका होता है
साथ साया भी नहीं देता जब अंधेरा होता है ।
Previous articleसपने में रेगिस्तान की यात्रा करते समय आंधी का अनुभव करना
Next articleसपने में शैल्य चिकित्सक शैल्य चिकित्सा कर दे
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here