क्या मरते समय सच में यमदूत लेने के लिए आते हैं

1
91
क्या मरते समय सच में यमदूत लेने के लिए आते हैं
 
 
 
 
क्या मरते समय सच में यमदूत लेने के लिए आते हैं
 
 
 
 

क्या मरते समय सच में यमदूत लेने के लिए आते हैं :-   हां बिल्कुल ऐसा माना जाता है कि मनुष्य को मृत्यु से कुछ दिनों पहले कोई ना कोई उसकी आत्मा को अपने साथ ले जाने के लिए जरूर आता है और उस व्यक्ति को मरने से पहले खुद के मृत परिजन भूत प्रेत और यमदूत दिखाई देने लगते हैं।

  गरुड़ पुराण के अनुसार जब साधारण मनुष्य की मौत होने वाली रहती है तब उसे ले जाने के लिए दो यमदूत उसके पास आते हैं। यमदूत को मनुष्य के द्वारा किए गए कर्म के अनुसार ही भेजा जाता है। यदि मनुष्य बहुत पापी है तो यमदूत की आकृति बहुत भयानक होती है। यह यमदूत मौत से कुछ दिनों पहले ही मनुष्य के सामने मंडराने लगते हैं। इन भयानक यमदूतों को देखकर मनुष्य व्यग्र हो जाता है और मल मूत्र त्याग करने लगता है।
मृत्यु के समय यमदूत व्यक्ति के आत्मा को काल पास में बांधकर खींच लेते हैं और घसीटते हुए संयमनीपूरी ले जाते हैं । इसी लोग में यमराज कालित्रि नामक राजमहल में निवास करते हैं।
 रास्ते में जीवात्मा और  दोनों यमदूत एक ही स्थान पर आराम करने के लिए रुकते हैं। वहां जीवात्मा अपने प्रिय जनों को याद करके हाहाकार करके रोता है । तब यमदूत उसे दांटकर चुप कराते हैं।
 तो मित्रो हमने आप सबको यहां पर यह बताया कि क्या मरते समय सच में यमदूत लेने के लिए आते हैं। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा तथा अपने दोस्तों के साथ इस लेख को शेयर जरूर कीजिएगा धन्यवाद मित्रों।

1 COMMENT

Comments are closed.