जब शनिदेव नाराज हो जाए तो क्या करना चाहिए जान लेते हैं इस बारे में 

0
10
जब शनिदेव नाराज हो जाए तो क्या करना चाहिए जान लेते हैं इस बारे में 
जब शनिदेव नाराज हो जाए तो क्या करना चाहिए

जब शनिदेव नाराज हो जाए तो क्या करना चाहिए जान लेते हैं इस बारे में :- नमस्कार साथियों शनि देव को न्याय प्रिय ग्रह तो माना ही जाता है लेकिन साथ साथ क्रूर ग्रह भी माना जाता है। ऐसे में यह माना जाता है कि जिन लोगों पर शनि की कृपा होती है वे लोग बड़े ही आगे निकलते हैं लेकिन अगर इनकी कोप दृष्टि जिन लोगों पर पड़ जाती है उनका सर्वनाश हो जाता है। लोग करोड़पति से खाक पति हो जाते हैं। ऐसे में हम यहां पर आप सब को यह बताएंगे कि ऐसे कौन से लोग हैं जिस पर शनि की कोप दृष्टि नहीं पड़ती है तो आइए चलिए जान लेते हैं इस बारे में विस्तार से ।

( 1 )  जो लोग रोजाना सुंदरकांड और रामचरितमानस का पाठ करते हैं उन लोगों पर शनि देव की कोप दृष्टि नहीं पड़ती है। अतः जो लोग भी शनि के कोप दृष्टि से बचना चाहते हैं उन्हें सुंदरकांड और राम चरित्र मानस का पाठ करना चाहिए ।
( 2 ) जो लोग मजदूरों से सम्मान पूर्वक बात करते हैं तथा उनकी मजदूरी पूरी देते हैं उनसे शनिदेव प्रसन्न रहते हैं। क्योंकि शनिदेव एक न्याय प्रिय देव होते हैं ऐसे में जो लोग न्याय पूर्वक जीवन व्यतीत करते हैं तथा मजदूरों का हक नहीं छिनते हैं उन पर शनिदेव की कृपा बनी रहती है।
 ( 3 ) अगर कोई व्यक्ति हनुमान जी को सिंदूर और पान चढ़ाता है तो उससे शनिदेव दूर रहते हैं। ऐसा करने से शनिदेव की कोप दृष्टि व्यक्ति पर नहीं पड़ती है।
 ( 4 ) जो लोग  अपाहिजो की सहायता करते हैं उनसे भी शनिदेव प्रसन्न रहते हैं तथा कृपा दृष्टि रखते हैं ।
( 5 ) काले कुत्ते को रोटी खिलाने पर भी शनिदेव की कृपा बरसती है। आप शनिदेव की कृपा प्राप्ति के लिए काले कुत्ते को रोटी खिला सकते हैं।
 ( 6 ) जो लोग गरीबों का सम्मान करते हैं उनसे भी शनिदेव कभी नाराज नहीं होते हैं।
 ( 7 ) न्याय प्रिय, स्पष्ट वादी तथा हमेशा सच बोलने वाले पर भी शनि देव की बुरी दृष्टि नहीं पड़ती है। अतः हमेशा न्याय प्रिय बने रहिए स्पष्ट वादी रहिए तथा सच बोलते रहिए अगर आपको शनि देव की खूब दृष्टि से बचना है तो।
 ( 8 ) गलती से भी अपाहिज, गरीब मजदूर, हाड़ तोड़ मेहनत करने वाले, सफाई कर्मी, रिक्शेवाले, भाग्यहीन व्यक्ति का मजाक नहीं उड़ाना चाहिए। ना ही ऐसे लोगों के साथ अन्याय करना चाहिए। वरना शनिदेव नाराज हो जाते हैं और दोषी को चलने के लिए कोई रास्ता नहीं छोड़ते हैं । अतः ऐसी गलती कभी ना करें वरना शनिदेव का प्रकोप आप को विनाश की तरफ ले जा सकता है।
 ( 9 ) आप शराब नहीं पीते हैं, ब्याज का धंधा नहीं करते हैं, झूठी गवाही नहीं देते हैं और पराई स्त्री पर नजर नहीं रखते हैं तो शनि आप से  रुष्ट नहीं हो सकते।
Previous articleगरुड़ पुराण में सबसे महत्वपूर्ण संदेश क्या है आइए जानते हैं
Next articleयह होते हैं चाणक्य नीति के अनुसार जीवन में कंगाली आने के 5 संकेत
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here