भगवान के सामने दीपक कैसे जलाना चाहिए दीपक के लिए जलाने के नियम क्या होते हैं

0
106
भगवान के सामने दीपक कैसे जलाना चाहिए दीपक के लिए जलाने के नियम क्या होते हैं आइए जानते हैं
भगवान के सामने दीपक कैसे जलाना चाहिए दीपक के लिए जलाने के नियम क्या होते हैं आइए जानते हैं
भगवान के सामने दीपक कैसे जलाना चाहिए दीपक के लिए जलाने के नियम क्या होते हैं आइए जानते हैं :-   हर चीज को करने के कुछ नियम होते हैं। जब इंसान कोई भी कार्य नियम पूर्वक करता है तभी उसको अच्छा परिणाम प्राप्त होता है । तो मित्रों इसी प्रकार भगवान के सामने दीपक जलाने के भी कुछ खास नियम होते हैं । अगर आप भी जानना चाहते हैं कि भगवान के सामने दीपक कैसे जलाना चाहिए और दीपक जलाने के लिए क्या नियम होते हैं तो यह लेख आप ही के लिए है। तो चलिए बिना किसी देरी के हम सब जान लेते हैं कि भगवान के सामने दीपक कैसे जलना चाहिए ?
( 1 ) सबसे पहले तो भगवान की प्रतिमा के ठीक सामने दीपक रखना चाहिए। कई बार ऐसा होता है कि लोग भूल से अथवा दीपक जलाने का सही ज्ञान ना होने के कारण दीपक को सही जगह पर नहीं रखते हैं तथा प्रतिमा के अगल-बगल दाएं बाएं रख देते हैं । लेकिन नियम यही कहता है कि जब भी भगवान के सामने दीपक जलाए तो प्रतिमा के ठीक सामने दीपक को रखिए ।
( 2 ) भगवान की प्रतिमा के अगल-बगल अथवा पीछे की ओर कभी भी भूल से दीपक नहीं रखना चाहिए इससे नकारात्मक फल मिलते हैं।
 ( 3 ) जब भी घी का दीपक भगवान के सामने जलाइए तो रुई का रंग सफेद होना चाहिए । कहने का मतलब यह है कि घी का दीपक जलाते समय उसका बत्ती सफेद रूई से बना हुआ होना चाहिए । अगर आप भगवान के सामने तेल का दीपक जला रहे हैं तो आप लाल धागे से बने बत्ती का उपयोग कर सकते हैं। नियम के अनुसार यही सही होता है ।
( 4 ) भगवान के सामने कभी भी खंडित दीपक को नहीं जलाना चाहिए कई बार ऐसा होता है कि मिट्टी के बने हुए दीपक हल्के फुल्के टूट जाते हैं ऐसी परिस्थिति में भक्त दीए को फेकता नहीं है और उसी में दीपक जलाता है । लेकिन टूटे हुए दीपक का प्रयोग भगवान के पूजा में बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। यह नियम विरुद्ध भी होता है तथा नुकसानदायक भी होता है।
 तो मित्रों यहां पर हमने आप सब को दीपक जलाने के नियम के बारे में बताया। आशा करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा और आपको पता चल गया होगा कि दीपक जलाते समय कौन-कौन से नियमों का पालन करना चाहिए।