भगवान शिव के इन मंत्रों से आप पूरा कर सकते हैं अपने परिवार की हर जरूरत

1
22
भगवान शिव के इन मंत्रों से आप पूरा कर सकते हैं अपने परिवार की हर जरूरत
भगवान शिव के इन मंत्रों से आप पूरा कर सकते हैं अपने परिवार की हर जरूरत
भगवान शिव के इन मंत्रों से आप पूरा कर सकते हैं अपने परिवार की हर जरूरत :-  अगर आप मंत्र की सिद्धि और साधना करना चाहते हैं तो आपके पास  दृढ़ संकल्प होना बेहद ही आवश्यक है । बिना दृढ़ संकल्प के मनोकामना पूरी नहीं हो सकती है। इसके अलावा एक ही मंत्र को अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल करके भी आदमी अलग अलग फल को प्राप्त कर सकता है। यह  साधक पर निर्भर करता है कि उसे कौन सा फल चाहिए और उसी आधार पर वह मंत्र को अलग तरीके से इस्तेमाल कर सकता है।
  भगवान शिव के मंत्रों का प्रयोग महाशिवरात्रि, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण, दीपोत्सव, संक्रांति, अक्षय तृतीया, रवि पुष्प नक्षत्र, गुरु पुष्य नक्षत्र, अमृत सिद्धि योग, अमावस्या और नवरात्र आदि त्योहारों के मौके पर करना अति उत्तम रहता है। इन मंत्रों से सिद्धि लाभ तो मिलता ही है मगर साथ साथ शीघ्रता से मनोकामना भी पूरी हो जाती है। तो आइए मित्रो जान लेते हैं कि भगवान के किन किन मंत्रों का प्रयोग करके क्या-क्या लाभ प्राप्त किया जा सकता है तथा अपने परिवार की आवश्यकताओं को पूरा किया जा सकता है ।
 ( 1 ) आयु बढ़ाने के लिए 
 अगर आप अपने आयु में वृद्धि करना चाहते हैं तो आपको रोजाना “ओम नमः शिवाय” मंत्र का जाप करना चाहिए । खासकर शिवलिंग का पूजन करते समय इस मंत्र का जाप करना उत्तम रहता है। मान्यता है कि इस मंत्र के साथ शिवलिंग पर दूर्वा और जल चढ़ाने से व्यक्ति की आयु में वृद्धि होती है।
( 2 ) पुत्र मनोकामना के लिए
नियमित तौर पर काले धतूरे का फूल जिसमें धतूरे के पौधे का डंठल लाल रंग का होता है उसे शिवलिंग पर अर्पित करना चाहिए। इस कार्य को करते समय ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करना चाहिए। मंत्र बोलते हुए शिवलिंग पर चढ़ा कर शिव सहस्त्रनाम स्त्रोत का पाठ अथवा शिव चालीसा के 11 पाठ भी रोजाना करने से व्यक्ति को संतान की प्राप्ति होती है।
 ( 3 ) इस प्रकार से लक्ष्मी जी को करें प्रसन्न 
प्रतिदिन कमल का फूल लेकर “ॐ महादेवाय नमः” मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर चढ़ाने से भगवान शंकर जी प्रसन्न तो होते ही हैं लेकिन साथ-साथ माता लक्ष्मी जी प्रसन्न हो जाती हैं । जिसके कारण घर के वैभव में वृद्धि होती है तथा साधक आने वाले समय में धनवान हो जाता है ।
( 4 ) मकान तथा वाहन के सुख के लिए 
चमेली के फूलों को लेकर “ॐ महादेवाय नमः” का जाप करते हुए शिवलिंग पर चढ़ाने से व्यक्ति को मकान और वाहन सुख प्राप्त होता है । अतः आप भी वाहन और मकान सुख का आनंद लेना चाहते हैं तो  ऐसा करें।
 ( 5 ) मान सम्मान में वृद्धि के लिए 
प्रतिदिन अगत्स्य के फूलों को “ओम नमो भगवते रुद्राय”  मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर चढ़ाने से मान सम्मान यश और ऐश्वर्य ने वृद्धि होती है ।
( 6 ) मनपसंद प्रेमिका और पत्नी की प्राप्ति के लिए
प्रतिदिन ‘ऊँ भगवत्यै उमा देव्यै शंकर प्रियायै नम:’ मंत्र का जाप करते हुए बेला के पुष्पों को शिव तथा पार्वती को अर्पित करके प्रार्थना करना चाहिए । इससे मनपसंद प्रेमिका या पत्नी मिल जाती है ।
( 7 ) इस तरह से दूर भगाएं भय क्लेश और गरीबी
 रोजाना तिल के फूलों को शिवलिंग पर चढ़ाएं और “ॐ शंकराय नमः” मंत्र का जाप करें ऐसा करने से गरीबी क्लेश भय बंधन आदि से छुटकारा प्राप्त होता है।
 ( 8 ) ऐसे होते हैं रोग दूर 
कनेर के फूलों को लेकर नियमित रूप से ‘ऊँ ह्रौं जूँ सः मम पालय पालय स: जूँ ह्रौं ऊँ’ मंत्र का उच्चारण करना चाहिए । इससे कई प्रकार के रोग शरीर से अपने आप दूर हो जाते हैं तथा मनुष्य का शरीर स्वस्थ बना रहता है।
 तो मित्रो यहां पर हमने आप सब को बताया कि भगवान शिव के इन मंत्रों से आप पूरा कर सकते हैं अपने परिवार की हर जरूरत । तो मित्रो आशा करते हैं कि यह लेख आप सबको पसंद आया होगा । आप सब को यह आलेख कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा तथा अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर कीजिएगा धन्यवाद।
Previous articleबसंत पंचमी पर मां सरस्वती की पूजा क्यों की जाती है आइए जानते हैं
Next articleक्या मरते समय सच में यमदूत लेने के लिए आते हैं
मेरा नाम "संजय कुमार मौर्य " है और मैं देवरिया ( यूपी ) का रहने वाला हूं । मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर, लेखक, कवि और कथाकार हूं । मैं हिंदी साहित्य में रुचि रखता हूं और हमेशा कविताओं और कहानियों का सृजन करता रहता हूं। इसके अलावा भी हमारे पास बहुत सारी चीजों की जानकारियां है जिसे मैं इस ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। दोस्तों हमें अपने ज्ञान को दूसरों के साथ साझा करना बहुत ही अच्छा लगता है अतः इसी उद्देश्य से हमने सन 2018 जनवरी में www.sitehindi.com को शुरू किया, जो कि आज एक सफल वेबसाइट बन चुका है और निरंतर वेब की दुनिया में उचाईयों की ओर बढ़ रहा है । इसके अलावा मेरा उद्देश्य अपने राष्ट्रभाषा हिंदी की सेवा करना है और इसे जन-जन तक पहुंचाना भी है । अगर मैं अपने इस उद्देश्य में सफल होता हूं तो मैं स्वयं को भाग्यशाली समझूंगा। आप भी हमारे इस ब्लॉग को पढ़े और हमारे इस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करें । धन्यवाद !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here