ओम नमः शिवाय मंत्र के बारे में आप भी जानिए

0
42
ओम नमः शिवाय मंत्र के बारे में आप भी जानिए
ओम नमः शिवाय मंत्र
ओम नमः शिवाय मंत्र के बारे में आप भी जानिए —–  यह मंत्र एक बीज मंत्र है । पृथ्वी पर सबसे लोकप्रिय तथा सबसे शक्तिशाली मंत्र ओम नमः शिवाय है । यह मंत्र पंचाक्षरी मंत्र के रूप में भी लोकप्रिय है । क्योंकि इसमें  मौलिक ध्वनि ओम शब्द के साथ 5 अक्षरी मंत्र नमः शिवाय शामिल है। इस एक शब्द में बहुत ही शक्ति निहित है और यह हमें सभी वेदों का एक साथ पाठ करने के समान लाभ प्रदान करता है। तो आइए मित्रो जानते हैं कि ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करने के क्या फायदे होते हैं तथा किस कारण से इसे जाप करना चाहिए।
  दरअसल ओम नमः शिवाय मंत्र का शाब्दिक अर्थ है मैं भगवान शिव को नमन करता हूं। शिव हर चीज का परम ईश्वर है और कहा जाता है कि सभी मंत्रों प्रार्थना और पूजा का लक्ष्य स्थल भी है। इसलिए यह मंत्र सभी छंदों वेदों मंत्रों और प्रार्थना का सार बन गया है। इस मंत्र का जाप बिना किसी प्रतिबंध के बहुत ही आसानी से किया जा सकता है तथा इस मंत्र का जाप कोई भी कर सकता है। यह मंत्र सार्वभौमिक मंत्र है ।
इस मंत्र का जाप करने से पहले भक्तों को यह ध्यान देना चाहिए कि इस मंत्र का जाप संपूर्ण शारीरिक और मानसिक शुद्धता और भक्ति के साथ किया जाना चाहिए। भगवान शिव की तस्वीर या शिवलिंग के सामने बैठकर और रुद्राक्ष का माला उपयोग करके इस मंत्र का जाप करना बेहद प्रभावशाली होता है । बहुत सारी दूसरे मंत्रों की तरह ही इस मंत्र का जाप भी 108 बार जपना चाहिए ।
 भक्तों के लिए इस मंत्र को जपना भगवान शिव के आशीर्वाद को प्राप्त करने का अच्छा तरीका है। अगर आप भी भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं तो इस मंत्र का नियमित रूप से 108 बार जाप कीजिए । यह मंत्र व्यक्ति के मन से मृत्यु के भय को भी दूर  कर देता है तथा मन में विश्वास और आशा पैदा करता है। यह मंत्र कमजोरियों तथा बीमारियों से उबरने में मदद करता है तथा अनेक रोगों को ठीक कर देता है। इस मंत्र को पढ़ने से व्यक्ति सही निर्णय लेने में सक्षम हो जाता है तथा बुद्धि में भी वृद्धि होती है। यह मंत्र व्यक्ति को शांति प्रदान करता है तथा सभी प्रकार के शारीरिक परेशानियों और चिंताओं को दूर करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here