Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी

0
17
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी
Jijaa sali ki shayari in hindi
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी : नमस्कार दोस्तों हमारे वेबसाइट पर आपका स्वागत है। हर रिश्ते को बयान करने के लिए शायरी बड़ा ही महत्वपूर्ण होता है। हर आदमी अपने रिश्ते को निभाने में शायरी का कहीं ना कहीं इस्तेमाल जरूर करता है। लोग जब भी किसी से प्रेम करते हैं तो भी वह शायरी का इस्तेमाल करते हैं। यहां तक की माता-पिता से संबंधों को उजागर करने के लिए भी लोग शायरी का इस्तेमाल करते हैं । अगर बात देश की याद आती है तो भी लोग शायरी की बात करते हैं और देश प्रेम की शायरी करते हैं । ठीक ऐसा ही एक रिश्ता है जीजा और साली का जिसमें शायरी का प्रयोग बहुत ज्यादा होता है Jijaa sali ki shayari in hindi। शादी के मौके पर तो जीजा और साली दोनों एक दूसरे के लिए शायरी का प्रयोग करते हैं। यहां तक कि फोन पर जब जीजा और साली की बात होती है तब भी शायरी के साथ ही होती है । तो ऐसे लोगों के लिए जो लोग जीजा और साली का शायरी Jijaa sali ki shayari in hindi पसंद करते हैं उनके लिए यह लेख बहुत ही महत्वपूर्ण है । क्योंकि यहां पर हम लेकर आए हैं खूबसूरत खूबसूरत बहुत सारी जीजा और साली की शायरी Jijaa sali ki shayari in hindi। तो अगर आपको भी जीजा और साली की शायरी Jijaa sali ki shayari in hindi पसंद है तो इस लेख को पूरा पढ़िए। आपको यहां पर बहुत ही अच्छी अच्छी शायरी पढ़ने को मिलेगी जो जीजा और साली के बारे में है । तो चलिए सिलसिला शुरु करते हैं ।
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी

(1 )

जीजा जी को मालूम मेरी दीदी का क्या हाल है
सिर्फ चिट्ठी ही दोगे या मेरा भी कुछ ख्याल है ।
(2 )
इतनी जल्दी क्या है तेरे पास हमें जाने का
क्या काम है तेरा क्यों पत्र दिया बुलाने का ।
 ( 3 )
 दीदी में क्या रखा है ख्याल करो साली का
 कितना खाना खाओगे हर रोज एक थाली का ।
(4)
  अब भी तुम्हारी दीदी लगती है सोल्ह साल की
अभी तक रस चूस रहा हूं उसके गुलाबी गाल की।
(5)
चुटक गया है गाल जरा देखना तुम ध्यान से
रह गया है खाली तलवार निकल गया मायान से।
(6)
जवानी के जोश में तो दीवानी हो गई हूँ
अंदर अंदर लगता  सयानी हो गई हूँ।
(7)
सोलह साल उमर है मेरी बच्ची ना समझना
पक गई हूं मैं कच्ची कली न समझना।
(8)
भूल से भी अब हम तुझे बच्ची ना समझूंगा
जब जाओगी दीदी के घर कच्ची ना समझूंगा।
(9)
तो देर नहीं करना चले आना पहली गाड़ी से
इंतजार करूंगी जरूर इसमें कोई शक नहीं।
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी
(10)
आऊंगा जरूर इसमें कोई शक नहीं
मेरे सिवा तुम  पे किसी का हक नहीं।
( 11 )
दीदी तो है पत्नी हमे साली ही कहिएगा
चाह कर भी आप हमें घरवाली ना कहिएगा।
 (12)
रख लूंगा तुम्हें भी दिल में साली मानकर
खुद हो जाऊंगा मैं दोनों बहनों को जानकर।
(13)
जीजा जी हमारी दीदी को तुम रखना अपने साथ में
नया सा वक्त सिखाना रोज बैठकर अपने क्लास में ।
(14)
मेरी भोली साली दीदी तुम्हारी नादान है
तुम ही आकर सिखा देती तू भी तो जवान है।
( 15)
 दीदी को ना ले जाते तो मैं जाती आपके साथ में
दीदी को जब ले गए मैं क्या करूंगी साथ में।
( 16 )
तुम भी रह सकती हो एक घर खाली है मेरा
 कोई पूछे तो कह दूंगा यह साली है मेरा ।
(17  )
मेरी दीदी ऐसी चालाक है तुम्हें परेशान कर देगी
तुम प्यार से काम लेना पूरे अरमान कर देगी ।
( 18 )
तुम ही से शादी कर लेता तेरी दीदी को छोड़कर
तुम ही हां कह दो अभी चला आता हूं मैं नाता तोड़कर ।
( 18 )
जीजा जी अभी सब्र कर नई नई है दुल्हन
 दो चार मिल जाए हल हो जाएगी सब उलझन ।
( 19 )
अगर मैं जानता पहले तुम्हें घरवाली बनाता
तुझे बनाता दुल्हन उसे साली बनाता ।
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी
( 20 )
अब तो साली बन गई घरवाली बन सकती नहीं
मेरी दीदी को पाकर आपका मन कभी भरता नहीं।
 ( 21 )
ससुराल का मजा है साली हो दिलदार
 बीबी अगर नाराज हो तो साली रहे तैयार।
( 22 )
साली में हक होता है हर जीजा का आधा
साली से भी प्यार करो दीदी से भी ज्यादा।
 ( 23 )
घरवाली बनाता मगर तुम साली बन गई
शराब बन गई दीदी तेरी और तू प्याली बन गई ।
( 24 )
साली हूं  तो क्या घरवाली से कोई कम नहीं
मुझ में जितना दम है घरवाली में इतना दम नहीं ।
( 25 )
साली तो तुम हो मगर घरवाली बनना छोड़ दो
 घरवाली बनोगी तुम तो साली बनना छोड़ दो ।
( 26 )
साली बना चुके हो घरवाली बनाओगे कैसे
एक म्यान में दो तलवार रख पाओगे कैसे।
 ( 27)
 एक प्यार घर में रहेगी और दूसरी बाजार में
रहेंगे मस्ती में दोनों अपने जीजा के प्यार में ।
( 28)
 हमें साली ही रहने दो साली का मजा कुछ और है
घरवाली मजा कैसा भी दे साली का मजा कुछ और है ।
( 29 )
साली ही जब तक इश्क रचाया जीजा से
रह ना सके अकेली तो मौज उड़ाए जीजा से।
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी
 ( 30)
 साली के फेरे में जीजा ससुराल आता है
घरवाली को छोड़कर होली में हर साल आता है।
( 31)
 बुलाती जीजा को करके होली का बहाना
 लिपट जाती है गले से आंख मिचोली का बहाना।
 (32 )
बुलाने से पहले तुम आने को तैयार रहते हो
मिलने के लिए साली से बेकरार रहते हो ।
(33 )
तुम भी तो रहती हो जीजा के आने के इंतजार में
जरूर जाऊंगा मैं उसे खाने के इंतजार में ।
(34 )
जो मिठाई लाओगे उसे कई बार खाई हूं
इसलिए तो जीजा तुमसे दिल लगाई हूं ।
(35 )
ससुराल दे भगवान सबको सबका बेड़ा पार हो
घरवाली तो ले जाए पर साली जी तैयार हो ।
(36 )
जीजा उदास क्यों जब साली जिंदाबाद है
दादी से झगड़ा हुआ था इधर-उधर का याद है।
( 37 )
दादी से ना झगड़ा हुआ ना मन मेरा उदास है
साली को देख कर दिल को लगी प्यास है।
( 38 )
प्यास लगी तो ठंडा पानी पी लो छानकर
 सुराही से पानी टपक रहा है प्यासे हो तुम जानकर ।
(39 )
टपक रहा टपकने दो पानी सुराही से ज्यादा है
जो बचेगा पी लूंगा पिलाना तुम्हारा इरादा है।
Jijaa sali ki shayari in hindi जीजा साली की शायरी
( 40 )
प्यासे हो तुम और पानी है मेरे पास में
 पिलाने को बैठी हूं कब से तुम्हारे आस में।
( 41 )
 भूखे की पानी से पेट नहीं भरता
खाना खाने की लायक हो उसे देर नहीं करता।
(42 )
खाना बनाने में देर है पानी पीकर रह जाओ
अब भी बनाने में देर है पानी पीकर रह जाओ।
(43 )
जो खाना चाहता हूं तुम खिला ना सकोगे
पानी भी तेरे पास है पिला ना सकोगे।
(44 )
सिर्फ पानी पीकर क्या होगा खाने के साथ पीना
खाना बनाने के कारण मेरा छूट रहा है पसीना ।
(45 )
खाना बनाती हो किसके लिए खाएगा कौन आकर
साली हो तुम मेरी दूसरा चला जाएगा खाकर ।
(46 )
तकदीर में होगा तो पहला खाना तुम ही खाओगे
 खुद के मैदान जीत लो तुम्हें मजा पाओगे ।
(47 )
साली हो तुम मगर काम करती हो घरवाली को
कहां से सब सीखी हो बात मतवाली को ।
(48 )
आप ने सिखाया और सिखाएगा कौन
 आपके सिवा सीने से लगाएगा हमको कौन ।
(49 )
सीने से लगाकर रखूं पर तुम तो पराई हो
क्यों अपने जीजा पर उम्र भर की आस लगाई हो।
( 50 )
उम्र भर की आस लगाई है पर हिम्मत नहीं है आपको
 कच्ची गुलाब पाने की किस्मत नहीं है आपको।
Behtarin  Jijaa sali ki shayari
( 51 )

कच्ची गुलाब की कली एक दिन तुम्हारी दीदी थी
छलकती हुई शराब का नशा एक दिन तुम्हारी दीदी थी।
( 52 )
दीदी का पीछा छोड़ कर साली का इंतजार करो
कमशीन है साली आप तो उसे भी प्यार करो ।
( 53 )
मुझे क्या पता पत्नी से साली मजेदार है
घरवाली की तरह साली में जीजा का अधिकार है ।
( 54 )
जीजा जी साली के बिना ससुराल खाली लगती है
जैसे पेड़ पक्षी के बिना हर डाल खाली लगती हैं ।
( 55 )
साली तेरी याद सताती है मुझको
 सपने में मेरे जैसे कोई बुलाती है मुझको ।
( 56 )
बुलाती हूं आपको आप आते क्यों नहीं
दीदी की तरह हमें भी सताते क्यों नहीं।
( 57 )
सताने के लिए आऊंगा तुम रहना तैयार
जो अरमान दिल में है पूरा कर दूंगा इस बार ।
( 58 )
आप कहते हैं हर बार आते नहीं एक बार भी
मस्ती भरी जवानी से किया करो कुछ प्यार भी ।
( 59 )
मस्ती मेरी जवानी ये किसके लिए सवारी हो
संभल के रहना तुम अभी कुंवारी हो ।
( 60 )
जीजा जी  जब है तो रखवाली किस काम का
साली जब तैयार है तो घरवाली किस काम का ।
( 61 )
घरवाली हो तो साली बोल नहीं सकती
 जहां घरवाली हो वहां मुंह खोल नहीं सकती ।
(62)
साली को देखें बिना जी जरा रह नहीं सकता
साली के दिल की बात घरवाली को कह नहीं सकता ।
(63)
 तुम जैसे साली को जीजा कैसे छोड़ दे
दिल जोड़ने के बाद दिल कैसे तोड़ दे।
( 64 )
पत्र दे रही हूं जीजा जो दीदी को ना दिखाना
फुर्सत मिले तो एक बार यहां भी आना।
( 65 )
जाने नहीं देती तुम्हारी दीदी तेरे पास
दीदी की प्यास देखकर लगी है तुझे प्यास।
( 66 )
दीदी को पानी पिला चुके अब मुझे भी पिलाओ
जो आग तुमने मुझ पर लगाई थी जल्दी पिलाओ।
( 67 )
कुछ दिन ठहर जाओ मैं जल्दी आऊंगा
 खाना बना कर रखना मैं आ कर खा लूंगा।
(68 )
बनाने की जरूरत नहीं है खाना तैयार है
जीजा बिना साली की जिंदगी बेकार है।
(69 )
तुम बहुत चालाक तेरी दीदी तो नादान है
अपनी दीदी से पहले तू बनकर तैयार है।
( 70 )
बनी नहीं मैं अभी तक तुम बनाओगे जिस दिन
 अपनी बांहों में ले के मनओगे जिस दिन।
( 71 )
बाहों में घरवाली रहेगी साली नहीं
क्योंकि फूल का रस भंवरा पीता माली नहीं।
( 72 )
भंवरे तो हर फूल पर बैठते हैं बारी बारी
 तुम एक ही फूल के पीछे क्या बनते अनारी।
( 73 )
दीदी तुम्हारी ऐसी है जैसे फूल है गुलाब का
देखने से ही नशा हो जाता है  शराब का।
( 74 )
शराब के नशे में आना शराब पी लाऊंगी
अपनी आंखों से तुम्हें बे हिसाब पिलाऊंगी।
( 75 )
शराब रखो बचाकर ससुराल लेते जाना
डोली में बैठकर शराब का टक्कसाल लेते जाना।
( 76 )
टकसाल में हमारा शराब बेहिसाब है
 कीचड़ में खिला हुआ देखा गुलाब है।
( 77 )
क्यों मेरे लिए तुम खाना खराब करती हो
क्यों उल्टी सीधी हमसे जबाब करती हो।
( 78 )
हम आपकी बात का जवाब न देते
अगर मेरी जिंदगी खराब न  करते।
( 79 )
जीजा जी अपनी साली को चिट्ठी तो दीजिए
 साली के पास आने को छुट्टी तो लीजिए।
( 80)
 छुट्टी नहीं देती है घरवाली नादान है
कहती है साली आपकी अभी हुई जवान है।
( 81 )
दीदी से बहाना बोलकर आ जाना मेरे पास
जीजा पर साली को रहती हरदम आस।
( 82 )
कैसे चला जाऊं बिना बोल के घरवाली से
घर की बीवी को छोड़कर इश्क रचाओ साली से ।
(83 )
इश्क होता है सबसे जवानी जब तक रहती है
ये सोलह साल उमर का पानी जब तक रहती है ।
( 84 )
साली जी इस तरह कहना ना चाहिए
जीजा के पास में तुमको रहना ना चाहिए ।
( 85 )
जीजा जी आपको मालूम है ससुराल में साली होती है
जिसे साली समझते हैं आधी वही घरवाली होती है।
( 86 )
साली को शौक हो गया घरवाली बनाने का
फूलों को शौक हो गया माली बनाने का।
( 87 )
हर फूल खिलना चाहता है माली के सामने
जीजा जी आपको रहना है साली के सामने।
( 88 )
साली जी आप इस तरह बहाना ना कीजिए
 कच्ची कली है आप अभी बहका न कीजिए ।
( 89 )
फूलों में खुशबू होती है महकने के लिए
जवानी आती है हुस्न को वहकने के लिए ।
( 90 )
बहकोगी इस तरह दुनिया बड़ी खराब है
देख के तुझे कहते कच्ची कली गुलाब है ।
( 91 )
फूलों से भी नाजुक हूं गुलाब की मैं कली हूं
सोलह साल की उम्र है बड़ी मजा में पाती हूं ।
( 92 )
मजाक आप करते हैं पास रहते भी दूर
सिर्फ चिट्ठी से बात करते हैं आने में है मजबूर ।
( 93 )
दीदी को लेकर जीजा कहां जाते हैं रोज रोज
दीदी क्या पकाती आप क्या खाते हैं रोज-रोज ।
( 94 )
दीदी को जहां ले जाता हूं क्या तुम भी चलोगे
दीदी को जो खिलाता हूं क्या तुम भी खाओगे ।
( 95 )
भूख नहीं है पर इरादा है खाने का
कब से तैयार हूं मैं आपके पास आने का ।
( 96 )
भूखे को भूखा कभी भी रहना ना चाहिए
 दिल का दर्द भूल से कभी सहना ना चाहिये।
( 97 )
आपके खाने में किसी और का अधिकार है
उसे खाने के इंतजार में रहना बेकार है।
( 98 )
घबराओ नहीं खिलाऊंगा तुम्हें भी खाना
 किस बात पर नाराज हो हमने ना जाना ।
( 99 )
जीजा जी आपको मालूम नहीं भूख कितना ज्यादा है
क्या आप का भूखा ही रखने का इरादा है ।
(100 )
क्या करूं फुर्सत नहीं तुम परेशान हो
 क्यों अभी से मुझ पर इस तरह कुर्बान हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here